health

Breaking News

जौनपुर तिलक तराजू और तलावर इनको मारो जूते चार इस पर क्या बोला रवि किशन गोरखपुर 24UPNEWS.COM पर

दूरदर्शी व्यक्तित्व के धनी थे पंडित कमलापति पाण्डेय ।


 दूरदर्शी व्यक्तित्व के धनी  थे पंडित कमलापति पाण्डेय । 

अखण्ड मानस पाठ के बाद 23 वीं पुण्यतिथि मनाई गई 

महापुरूषों की श्रेणी में आते हैं कमलापति पाण्डेय

जफराबाद। पंडित कमलापति पाण्डेय सहजता और सरलता के प्रतिमूर्ति थे, वे विद्यालय संचालन में आने वाली दिक्कतों को पहले ही भांप लेते थे और ससमय उसका हल भी निकाल लेते थे। इसीलिये उन्हे दुरदर्शी व्यक्तित्व का धनी कहा जाता रहा है। उक्त बातें  श्री कमलापति पाण्डेय इंटर कालेज के प्रबन्धक संजीव कुमार पाण्डेय ने कही। वे कालेज परिसर में आयोजित पंडित जी की 23 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। प्रधानाचार्य डा. शंकराचार्य तिवारी ने पंडित जी को महान आत्मा से सम्बोधित करते हुए कहा कि ऐसे महापुरूषों की आत्मायें उनके कर्मस्थल में ही विलीन हो जाती हैं। हमें उन्हे पदचिन्हों का अनुसरण करते हुए विद्यालय रूपी बगिया को अध्ययन अध्यापन से सींचना चाहिये। इसके पूर्व कालेज परिसर में स्थित हनुमान मंदिर पर आयोजित अखण्ड मानस पाठ के समापन के पश्चात पंडित जी की प्रतिमा माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। वक्ताओं की अगली श्रेणी में डा. संदीप पाण्डेय,डा. राम जी चौरसिया, डा. शिवकुमार सेठ, रहमुल्ला अंसारी आदि ने पंडित की जीवनी पर प्रकाश डाला।  कार्यक्रम का संचालन प्रवक्ता शिवशंकर निर्मल ने किया । इस अवसर पर जितेंद्र कुमार , मंगलेश, रितेश,सनाउल्लाह अंसारी,गौरीशंकर यादव,श्रीभवन तिवारी,,मुस्तकीम अहमद अंसारी,पी राम यादव,पन्नालाल,ज्ञान कुंवर मिश्रा, चंद्र प्रकाश तिवारी,अरुण पाण्डेय,विनय कुमार,चंदन मिश्रा, रीता मौर्य,श्वेता पाण्डेय,सुल्तान फातमा,राजेंद्र प्रसाद,कोमल आदि लोग उपस्थित रहे। अन्त में प्रबन्धक संजीव पाण्डेय ने सभी आगन्तुकों के प्रति आभार प्रकट किया।

*हरी झंडी दिखाकर जिलाधिकारी ने रवाना की टोली*

 


जौनपुर ---विकासखंड जलालपुर  क्षेत्र के छातीडीह (पराऊगंज) गांव में स्थित एक स्कूल के प्रांगण में शनिवार को "आजादी का अमृत महोत्सव " एवं "भारतीय झंडा संहिता जागरूकता अभियान" के तहत नुक्कड़ नाटक एवं प्रिंटेड पेपर के माध्यम से जागरूकता फैलाने के लिए कुल 10 टोलियो को जिलाधिकारी  मनीष कुमार वर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 



      यह टोली गांव-गांव में जाकर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों में जागरूकता फैलाएगी। 


      जिलाधिकारी ने विद्यालय के इस पहल की सराहना की। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि खंड विकास अधिकारी जलालपुर रामकृपाल द्विवेदी एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी तूलिका शर्मा रही।



      विद्यालय के चेयरमैन ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया। 


 

तिरंगे की शान बनाएं रखें - कुलपति विश्वविद्यालय में निकली तिरंगा यात्रा देशभक्ति नारों से गूंज उठा परिसर पुरे उत्साह के साथ शामिल हुए विद्यार्थी

 


जौनपुर---
वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में  आज़ादी का अमृत महोत्सव के हर घर तिरंगा कार्यक्रम के अंतर्गत गुरुवार को विश्वविद्यालय में तिरंगा यात्रा निकली. तिरंगा यात्रा में बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के अधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी और विद्यार्थी शामिल हुए. तिरंगा यात्रा की शुरुआत विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार से हुई. यात्रा का नेतृत्व कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य ने किया.

विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार से शुरू होकर एकलव्य स्टेडियम से होते हुए वापस लौटी. मुक्तांगन में तिरंगा यात्रा के प्रतिभागियों  को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि देश के तिरंगे को हाथों में लेने पर एक अलग तरह की अनुभूति होती है. हमारा तिरंगा भारत की एकता ,अखंडता और विविधता का प्रतीक है. हमारे सेनानियों ने तिरंगे में देश के भविष्य को देखा, सपनो को देखा और इसे कभी झुकने नहीं दिया.  आज़ादी के ७५ वें वर्ष को पुरे जोश से मनाएं. कुलसचिव महेंद्र कुमार ने उत्साहवर्धन किया. नोडल अधिकारी डॉ. मनोज मिश्र ने झंडा ऊँचा रहे हमारा,विजयी विश्व तिरंगा प्यारा का गान किया. तिरंगा यात्रा के दौरान देशभक्ति  नारों से पूरा विश्वविद्यालय गूंजता रहा.


इस अवसर पर प्रो. बीबी तिवारी, प्रो. मानस पांडेय, प्रो ए. के. श्रीवास्तव, प्रो अजय द्विवेदी,प्रो रामनारायण, प्रो  संदीप सिंह,प्रो  प्रो रजनीश भास्कर, डॉ. गिरधर मिश्र, डॉ. सुनील कुमार, डॉ. दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ मनोज पाण्डेय, डॉ जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ.संजीव गंगवार, डॉ धीरेन्द्र,ए आर अजीत सिंह, अमृत लाल, बबिता सिंह ,दीपक सिंह, राम जी सिंह, पी के कौशिक, श्री नाथ यादव, स्वतंत्र कुमार समेत विभिन्न विभागों के शिक्षक, कर्मचारी और विद्यार्थी शामिल हुए.

अब जौनपुर जिले में भी अपने सपनो को साकार कराने के लिए The Lucknow Construction के पास आए और अपना घर बनवाएं।


जौनपुर
--अब जौनपुर जिले में भी अपने सपनो को साकार कराने के लिए The Lucknow Construction के पास आए और अपना घर बनवाएं।


राज्यमंत्री गिरीश चंद्र यादव एवम जिलाध्यक्ष पुष्पराज सिंह ने किया पॉलिटेक्नक स्थित प्रतिष्ठान का फीता काटकर  किया शुभारंभ*

संपर्क सूत्र 8960203029




सीएम योगी के निर्देश पर 20 हजार की आबादी वाले गांव बनेंगे नगर निकाय और पुराने निकायों का होगा सीमा विस्तार, शासन ने सभी जिलाधिकारियों से मांगे प्रस्ताव

 


लखनऊ -सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद अब 20 हजार की आबादी वाले गांवों को नगर पंचायत का दर्जा देकर वहां पर शहरी सुविधाए मुहैया कराई जाएंगी। इसके लिए शासन स्तर पर कार्ययोजना तैयार की जा रही है। प्रदेश शासन के नगर विकास विभाग ने इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों से प्रस्ताव मांगा है। 

सूत्र के मुताबिक नगर विकास विभाग की ओर से सभी डीएम को भेजे गए निर्देश में 20 हजार से अधिक आबादी वाली ग्राम पंचायतों का स्थलीय परीक्षण कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने और नगर पंचायत बनाने का प्रस्ताव भेजने को कहा है। नगर विकास विभाग ने नगर निकायों के सीमा विस्तार के भी प्रस्ताव मांगे हैं।


 

मौजूदा समय नगर निकायों में 22 फीसदी आबादी रहती है और इस आबादी को बढ़ाकर 30 फीसदी तक करने की तैयारी है, जिससे वहां रहने वालों को स्थानीय स्तर पर बेहतर सुविधाओं के साथ रोजगार के संसाधन उपलब्ध हो सकें। इसी के आधार पर ही नई नगर पंचायतें बनाई जा रही हैं। प्रदेश की योगी सरकार की इस पहल से गांवों से पलायन रुकेगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। नगर पंचायत का दर्जा मिलने पर ग्रामीणों को पेयजलापूर्ति, सड़क, जल निकासी, सफाई व्यवस्था, कूड़ा निस्तारण, मार्ग प्रकाश और पार्क जैसी सुविधाएं मिलेंगी। साथ ही अमृत योजना के तहत भी काम कराए जा सकेंगे। प्रदेश सरकार के इस फैसले से 20,हजार की आबादी वाले गावों में खुशी की लहर दौड़ गई है

13 वर्ष बाद फिर से शुरू हुआ एएनएम प्रशिक्षण केन्द्र* *मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल तरीके से किया उद्घाटन*

 


जौनपुर-  लंबे समय से बंद पड़े एएनएम प्रशिक्षण केन्द्र का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल तरीके से उद्घाटन किया। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा सहित अन्य अधिकारियों ने मौके पर उपस्थित रहकर प्रशिक्षुओं से उनकी समस्याओं को जाना और उनके निराकरण का आश्वासन दिया।

               करंजाकला स्थित एएनएम प्रशिक्षण केन्द्र की स्थापना 33 वर्ष पूर्व हुई थी। 2008 तक यहां पर एएनएम के लिए प्रशिक्षण भी मिलता रहा। प्रशिक्षण के लिए राज्य स्तर से प्रतिभागियों के नाम का चयन होता था और प्रतिवर्ष 50 लोगों को दो वर्ष तक के लिए प्रशिक्षण मिलता था। 2008 के बाद से प्रशिक्षुओं का चयन होना बंद हो गया और तब से इस केन्द्र पर प्रशिक्षण नहीं हो रहा था। उसका भवन भी जर्जर हो गया था। शासन ने उस भवन की मरम्मत कराई। वहां पर बिजली और इंटरनेट की सुविधा तथा एलसीडी स्क्रीन के माध्यम से पढ़ाई की व्यवस्था कराई। 13 वर्षों बाद यहां पर फिर से प्रशिक्षण शुरू हो गया है। शासन की तरफ से 50 प्रशिक्षुओं का चयन कर उसकी सूची प्रशिक्षण केन्द्र को भेज दी गई है जिसमें से 46 ने अपना एडमिशन करा लिया है। प्रशिक्षुओं का चयन राज्य निदेशालय से होता है। प्रशिक्षण की अवधि दो वर्ष होती है और उन्हें यह प्रशिक्षण निःशुल्क मिलेगा। 


           प्रशिक्षण केन्द्र का उद्घाटन वर्चुअल तरीके से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। प्रशिक्षण केन्द्र पर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कार्यक्रम हुआ। उन्होंने नव प्रशिक्षुओं को अपनी शुभकामनाएं दीं और अच्छे से प्रशिक्षण लेकर आमजन की सेवा के लिए मार्गदर्शन दिया। 


           उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) डा लक्ष्मी सिंह, करंजाकला के ब्लाक प्रमुख, एसीएमओ डॉ0 राजीव कुमार, डा संतोष जायसवाल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सत्यव्रत त्रिपाठी उपस्थित रहे।

सीएम योगी के कड़े तेवर, अब मिठाई के साथ डिब्बा तौलने पर मिष्ठान विक्रेता को देना होगें 05 हजार जुर्माना*




लखनऊ-- प्रदेश शासन के निर्देश पर घटतौली यो  के विरुद्ध छेड़े गए अभियान के तहत मिठाई के साथ डिब्बा तौलने पर अब दुकानदार को 05 हजार रुपया तक जुर्माना देना पड़ सकता है। अगर दुकानदार आपको गत्ते के डिब्बे के साथ मिठाई तौलकर देता है तो तत्काल  इसकी शिकायत करें, संबंधित दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सामानों की घटतौली की शिकायत को लेकर प्रदेश की योगी सरकार काफी गंभीर है। घटतौली करने वालों के खिलाफ सरकार के निर्देश पर बाट माप विभाग ने कार्रवाई की रणनीति बनाई है। बाजार में सामान खासकर मिठाई लेते समय काफी दुकानों पर देखा जाता है कि जितनी महंगी मिठाई होती है, उतना ही डिब्बे का मूल्य लगता है।

यह खेल काफी समय से चल रहा है। खासकर त्योहारों के समय तो मिठाई की मांग बढ़ने पर मिठाई के साथ डिब्बे का वजन तौलने की संभावना बढ़ जाती है। जैसे डिब्बे का वजन अगर 50 से 100 ग्राम है तो ग्राहक को इतनी मिठाई लगभग दो या तीन पीस मिठाई कम मिलती है सरकार द्वारा अभियान चलाकर घटतौली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिया है। दुकानदार गत्ते के डिब्बे में या कम सामान देता है तो ग्राहक टोल फ्री नंबर अथवा कार्यालय में सीधे शिकायत कर सकते हैं घरेलू गैस की आपूर्ति से संबंधित शिकायत उपभोक्ता खाद्य एवं रसद विभाग के टोल फ्री नंबर 18001800150 और उपभोक्ता संरक्षण बाट-माप विभाग के टोल फ्री नंबर 18001805512 पर दर्ज करा सकते हैं। पहचान गोपनीय रखते हुए कार्रवाई की जाएगी