health

Breaking News

पूविवि में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह आयोजित ,बने चरित्रवान तब होगा देश महानः स्वामी रामदेव 24UPNEWS.COM पर

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में इन दिनों किसी बड़ी घटना की आशंका को लेकर है,लोग परेशान

वाराणसी - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है ।चर्चा कोई राजनीतिक नहीं बल्कि किसी बड़ी घटना की आशंका को लेकर है ।दो दिनों में ये दूसरी घटना है जब वाराणसी की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन के हाथ पाँव फुले हुए हैं।कल 100 नंबर पर संकतमोचन मंदिर उड़ाने की धमकी की  घटना हो या फिर आज गाँव के एक खेत में मिले एंटी रेडिएशन पैक मिलने की। मामला वाराणसी के चोलापुर थाना अंतर्गत मरुई गाँव का है जहाँ  ताल ,खुला मैदानी खेत द्धमे बुधवार को देर शाम मिलेट्री के कलर के बैग मे बेलन के आकार का एक अजीब सा इलेक्ट्रानिक सामान मिला । जिससे पुरे गाँव मे दहशत फैल गया।  देखते ही देखते यह खबर जंगल मे आग की तरह फैल गयी ग्रामीणो ने इसकी सुचना तत्काल सौ नम्बर पर देकर पुलिस को घटना से अवगत कराया। मामला आज देर शाम मीडिया में आने से अधिकारीयों में भी हड़कम्प मच गया । कई इंटेलीजेंस की टीमें थाने और गांव में पहुँच गयी ।पुलिस का कहना है कि बेलनाकार वस्तु एन्टी रेडिएसन पैक है । पुलिस और दूसरे अधिकारी इसका इस्तेमाल कहा होता है एइस बात को बताने से इंकार कर रहे है । बताया जा रहा है ये विस्फोटक के रूप में इस्तेमाल होता है । 
सूत्रों की माने तो एक सप्ताह पहले गाँव के भुतपर्व प्रधान भैयालाल से घर पर स्कार्पियो से चार लोग आये थे । जिनके पास दो बैग भी था । इन चारो लोगो ने भैयालाल के घर पर तीन दिनो तक प्रवास भी किया।  इसके उपरान्त वे एक बैग वही छोड़ और एक बैग अपने साथ लेकर चले गये एवे यह कहकर गये कि इसे यही रहने दिजियेगा शाम को आकर ले जायेगे। पुलिस पूछताछ में बाद में पता चला चारो लोग भैयालाल के न तो परचित थे एऔर ना ही सगे सम्बन्धि थे । लेकिन भैयालाल ने उन्हे अपने घर मे पनाह क्यो दिया एपुलिस इसका पता लगाने मे जुटी हुई है ।
बताते चले कि शाम को आने की बात कहकर गये चारो व्यक्तियो का दो दिनो बाद भी कोई आना जाना नही हुआ तो भैयालाल को शक हुआ कि आखिर इस बैग मे क्या है।जब उन्होने बैग खोला तो उनके होश उड गये । तथा किसी को सुचना दिए बगैर गाँव के समीप ताल मे ग्रामीण रामरत्ती के पंम्पिगसेट के बगल स्थित सभाजीत यादव के खेत मे रखकर चले गये । वही प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र होने की वजह से प्रसाशन के हाथ पैर फूल गए है इसीलिए कोई भी आलाधिकारी मिडिया से कुछ भी कहने को तैयार नहीं है जब तक कोई नतीजा न आ जाय।