health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

तरसावां परिषदीय विद्यालय अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है

जौनपुर। शिक्षा विभाग की अदूरदर्शिता एवं लापरवाही के चलते आज अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है परिषदीय विद्यालय तरसावां। क्षेत्रीय लोगों ने जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया है। यह विद्यालय जनपद के खेतासराय क्षेत्र के गुरैनी ग्रामसभा में स्थित है। प्रधानाध्यापक जहां खामियों के लिये शासन-प्रशासन को जिम्मेदार बता रहे हैं, वहीं अपनी कई खामियां छिपाते भी नजर आ रहे हैं। फिलहाल विद्यालय की साफ-सफाई, पेयजल, बच्चों के बैठने, शिक्षा के मामले में संतोषजनक टिप्पणी करने हेतु अपना टाल-मटोल रवैया ज्यादा उचित समझा। चंद बच्चों की उपस्थिति में मिड-डे-मील मिलने के बारे में बच्चों से पूछने पर पता चला कि यहां उन्हें दोपहर भोजन के रूप में कुछ नहीं मिलता, इसलिये वह नहीं आते। इस संदर्भ में प्रधानाध्यापक का कहना है कि सरकार की तरफ से इस मद में काफी दिनों से कुछ पैसा नहीं आया है। लगभग 2 माह तक किसी तरह ग्राम प्रधान के सहयोग से बच्चों को भोजन दिया गया परन्तु सरकारी चुप्पी के चलते यह कार्य ज्यादा दिन नहीं चल सका। देखा जा सकता है कि विद्यालय का रसोइयां काफी जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है जहां दरवाजे, खिड़की आदि तक नहीं हैं। चूल्हा जिस पर भोजन बनता है, वह भी क्षतिग्रस्त दिखता है। गन्दगी की ऐसी भरमार जैसे अर्से से विद्यालय में झाड़ू लगा हो। छात्र, शिक्षक, रसोइया, चपरासी, सफाईकर्मी, हैण्डपम्प, टाट-पट्टी आदि कुछ भी यहां सुचारू अवस्था में देखने को नहीं मिलता है। कुल मिलाकर इस विद्यालय का ईश्वर पालनहार है।

No comments:

Post a Comment