health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

मानसिक विक्षिप्त युवक पर दरिंदगी की सारी हदें पार करने का आरोप लगने के बाद पुलिस आलाधिकारी दोषी पुलिस कर्मीयों को बचाने का कर रही प्रयास

आलम अली 
कानपूर देहात - कानपुर देहात के मूसानगर थाना क्षेत्र की पुलिस ने एक आंशिक तौर पर मानसिक विक्षिप्त युवक पर दरिंदगी की सारी हदें पार करने का आरोप लगने के बाद पुलिस आलाधिकारी दोषी पुलिस कर्मीयों को बचाने और पीडि़त की फरियाद पर कार्यवाही न करने की कवायद करने लगे। जिसके बाद पीडि़त परिवार के साथ ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और पुलिस कार्यशैली का विरोध करने के साथ पीडि़त को न्याय दिलाने के लिए सड़क पर उतर आये और सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन करने लगे। जिसकी सूचना पर आलाधिकारियों को हाथ पांव फूल गये और आनन-फानन में पुलिस के आलाधिकारी के साथ प्रशासनिक अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुचे। जिसके बाद ग्रामीणों और पुलिस के बीच जमकर नोंकझोंक हुई। आलाधिकारियों द्वारा दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने और पीडि़त का उपचार कराने के आश्वासन के बाद जाम खुल सका। ग्रामीणों ने पुलिस अधिकारियों पर दोषी पुलिस कर्मियों को बचाने और पीडि़त युवक का उपचार न कराने का आरोप लगाया हैं। वहीं पुलिस आलाधिकारियों ने पीडि़त परिवार की तहरीर पर एफआईआर दर्जकर जांच कराकर दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही हैं। जाम से सड़क के दोनो ओर वाहनो की लम्बी-लम्बी कतारें लग गई। करीब 4 घण्टे बाद जाम खुल पाया।  
 कानपुर देहात के मूसानगर थाना पुलिस द्वारा एक वक्षिप्त युवक की पिटाई करने का आरोप थाना क्षेत्र के फत्तेपुर निवासी पत्तर के परिजनों ने लगाते हुए पुलिस आलाधिकारियों से आज न्याय की गुहार लगाई थी। साथ ही पत्तर का उपकार कराने की मांग भी पुलिस आलाधिकारियों से की थी। लेकिन पुलिस के आतंक से पीडि़त पत्तर और उसके परिजनों को न्याय मिलना तो दूर उसकी सुनी ही नहीं गई। पीडि़त परिवार पुलिस कार्यालय से लेकर जिला अस्पताल के चक्कर काटते रहे लेकिन किसी को उस मानषिक रूप से विक्षिप्त पत्तर पर तरस तक न आई और वह दर्द से कराहता रहा। जिससे उसके परिजनों और ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होने सड़क जाम कर पुलिस का विरोध करने के साथ दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए मुगल रोड़ जाम कर दिया। जिससे दोनो ओर वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारें लग गई। दरअसल पत्तर को मूसानगर थाना पुलिस ने कस्बा मूसानगर में आये दिन हो रही चोरी और लूट की घटनाओं  के खुलासे  के लिए उठा ले गई थी और जमकर पत्तर की पीटाई की। जिससे वह गम्भीर रूप से घायल हो गया। लेकिन पुलिस का घटनाओं के खुलासें का यह गुडवर्क उस समय उसी के गले की फांस बन गया। जब पुलिस को यह बता चला की पत्तर मानषिक रूप से विक्षिप्त हैं। जिसके चलते उसे पुलिस ने छोड़ दिया। जिसके बाद पत्तर ने अपने साथ हुई पुलिस बरबरता की कहानी अपने परिजनों को बताई। जिसके चलते पीडि़त परिवार न्याय के लिए आलाधिकारियों के दर पर पहुचा लेकिन उसको न्याय मिलना तो दूर किसी ने उनकी सुनी तक नहीं। उपचार के नाम पर उसको जिला अस्पताल के चक्कर कटवाती रही। जिससे गुस्साएं ग्रामीणों  और परिजनों ने मुगल रोड़ जाम कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। वहीं ग्रामीणो द्वारा जाम लगाये जाने की सूचना पर पुलिस आलाधिकारियों के हाथ पांव फूल गये और आनन-फानन में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुच लोगो को कार्यवाही का आश्वासन देकर जाम खुलवाया।

No comments:

Post a Comment