health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

स्वाइन फ्लू एक संक्रमित रोग है

लायन्स क्लब जौनपुर द्वारा स्वाइन फ्लू से बचाव व जागरुकता हेतु संगोष्ठी का आयोजन स्थान आशादीप हास्पिटल यहियापुर पर किया गया। इस अवसर पर मास्क लोगों को वितरित किया गया। संस्था अध्यक्ष सै0 मो0 मुस्तफा ने आये हुए लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि स्वाइन फ्लू वायरल है इसलिए आप स्वयं व अपने परिवार को स्वाइन फ्लू से सुरक्षित रखें। थोड़ी सी जानकारी व सावधानी से इस बीमारी से बचा जा सकता है। 
वरिष्ठ चिकित्सक डा0 वी0एस0 उपाध्याय ने स्वाइन फ्लू के लक्षण को विस्तार से बताते हुए कहा कि बुखार एवं खांसी, गले में खराश, बहती या बन्द नाक, सांस लेने में तकलीफ, सिर दर्द-बदन दर्द, थकान, ठिठुरन, अतिसार, उल्टी, बलगम में खून आना आदि इसके लक्षण हैं। स्वाइन फ्लू से बचाव हेतु खूब पानी पीए एवं पौष्टिक आहार लें, नाक, आंख या मुंह को न छुए, छींकते और खांसते वक्त अपनें मुह और नाक को रुमाल या कपड़े से ढ़के, भीड़भाड़ वाली जगह से बचें, फ्लू से संक्रमित लोगों से दूरी बना कर रहें। यदि बुखार, खांसी, एवं गले में ख़राश हो तो सार्वजनिक स्थानों से दूर रहें। नींद पूरी ले एवं प्रायः अपने हाथ साबुन और पानी से धोते रहें। तीन स्तरीय मास्क लगायें एव इंफ्लून्जा वैक्सीन लगवाये विशेषकर, भ्ण्प्ण्च्ण्, कैंसर रोगी, डायबिटीज रोगी व जिनका गुर्दा फेल है एवं हेल्थ केयर वर्कर्स वैक्सीन अवश्य लगवायें। 
डा0 क्षितिज शर्मा ने कहा कि एच-1 एन-1 की जांच करायें। एच-1 एन-1 सबसे ज्यादा हवा के जरिये फैलता है जब आप खांसते या छींकते है तो हवा में, ज़मीन या किसी भी सतह पर मुंह और नाक से निकले द्रव कण गिरते है, जो वायरस की चपेट में आ जाते हैं यह कण हवा के जरिये या किसी के छूने से दूसरे व्यक्ति के शरीर में मुंह या नाक के जरिये प्रवेश कर जाते हैं, इसलिए संक्रमित व्यक्ति से दूर रहें। अस्पतालों व मेडिकल स्टोरो पर दवा उपलब्ध है चिकित्सक की सलाह से दवा का सेवन करें।
संचालन शकील अहमद ने किया इस अवसर पर डा0 एम0एम0 वर्मा, डा0 एन0के0 सिन्हा, डा0 अजीत कपूर, अनिल बैंकर, मोहम्मद अब्बास, राजन बैंकर, सचिव राधेरमण जायसवाल, मदन गोपाल गुप्ता, मनोज चतुर्वेदी, सुरेश चन्द्र गुप्ता, अरुण त्रिपाठी, शत्रुधन मौर्य, सोमेश्वर केसरवानी, राकेश श्रीवास्वत, राकेश जायसवाल, रवि श्रीवास्तव, अजय आनन्द, महेन्द्रनाथ सेठ आदि लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment