health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

आजाद हिंदुस्तान के बाशिंदे है हम ,खुली हवा में साँस लेने का सौभाग्य मिला -

इलाहाबाद [सुनील सोमवंशी]
आजाद देश भारत के 70 वे स्वतन्त्रता दिवस के शुभ अवसर पर गुरुकुल मान्टेसरी  स्कूल में आये बतौर मुख्य अतिथि  पूर्व डी आई जी श्री कृपा शंकर सिंह ने हजारो छात्रों और अभिवावको के बीच स्वंतन्त्रता दिवस पर अपने विचारो से छात्रों और मौजूद अभिभावकों का जहाँ मन मोह लिया वही छात्रों ने भी नेक इन्सान बनने का संकल्प लिया। पूर्व डी आई जी श्री कृपा शंकर सिंह ने कहा कि आजाद हिंदुस्तान के बाशिंदे है हम ,खुली हवा में साँस लेने का सौभाग्य मिला है हमें। जो सोचते है ,वह करते है ,जो चाहते है ,वह बोलते है ,इस लिए अगर मैं किसी को परेशान नहीं करता और कोई दूसरा भी मुझे परेशान नहीं करता तो मैं आजाद हूँ।मेरा मानना है कि खुद जियो और दुसरो को भी जीने दो।लोग कई सामाजिक मुद्दों पर बात करते है।इनका खुलकर विरोध करना आजादी हो सकती है पर माहौल ख़राब करना आजादी नहीं हो सकती।
वफ़ा निभानी होगी हमे अपने देश से - हमें आजादी और सारे अधिकार मिले है तो इसे सौभाग्य समझना चाहिए। हमें जिम्मेदार होना होगा। देश से वफ़ादारी निभानी होगी।  अपने अन्दर की मजबूती से खुद पर नियंत्रण रखना होगा। हम अपनी आजादी से दुसरो की आजादी में खलल तो नहीं दाल सकते। 
शत प्रतिशत मेहनत कर गौरव बढ़ाये देश का -सपनो को पूरा करने के लिए जब हम आगे बढ़ते है और कोई रुकावट महसूस नहीं होती तो हम आजाद महसूस करते है। भारत में हमें सपनो को जीने की पूरी स्वतन्त्रता हासिल है। देश ने हमें सब कुछ दिया है। और हमारा कर्तव्य है कि  एक बेहतर और जिम्मेदार नागरिक के रूप में हम देश के लिए गौरव अर्जित करे। दुसरो की आजादी की कीमत पर अपनी आजादी का मजा उठाने को कदापि उचित नहीं कहा जा सकता। कानून की तो एक सीमा है। लेकिन अगर हम स्व अनुशाशित होंगे तो सभी समस्याओ का समाधान स्वतः हो जायेगा। 

फैसला आपके हाथ में -स्कूल के प्रबंधक वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि माचिस की तीली से चूल्हा जला सकते है या किसी का घर यह आपके हाथ में है। परमाणु ऊर्जा से बिजली बनाकर देश का कोना कोना रोशन कर सकते है या फिर परमाणु बेम गिराकर देश के देश बर्बाद कर सकते है। आजादी आपके हाथ में है तो आप उसका रचनात्मक तरीके से फ़ायदा उठाते है या विध्वंस और विनाश की सोचते है यह आपके ही हाथो में है। 

जियो और जीने दो --- स्वन्त्रता दिवस के अवसर पर स्कूल में आये  हुए छात्रों ने जियो और जीने दो की तर्ज पर रंगारंग कार्यक्रम भी प्रसतुत किये इस दौरान वहाँ पर उपस्थित लोगो ने तालियां बजाकर छात्रों को उत्साहित भी किया। 

No comments:

Post a Comment