health

Breaking News

जौनपुर - बीजेपी के लिए जौनपुर से चुनाव का आगाज करना शुभ है-सतीश कुमार सिंह 24UPNEWS.COM पर

भारत रत्न स्वर-कोकिला लता मंगेशकर का आज जन्मदिन

नई दिल्ली। भारत रत्न स्वर-कोकिला लता मंगेशकर का आज जन्मदिन है। सुबह से ही इस मौके पर सभी लोग उनको जन्मदिन की शुभकामनाएं दे रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत रत्न सचिन तेंदुलकर, मेगा स्टार अमिताभ बच्चन सहित कई जानी-मानी हस्तियों ने ट्विट कर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है।
आपको बता दें कि भारत की स्वर-कोकिला के नाम से मशहूर 'लता मंगेशकर' के गीत ही नहीं बल्कि उनका पूरा जीवन लोगों को काफी आकर्षित करता है। संघर्ष भरे जीवन में पली बढ़ी लता जी आज 1000 से भी ज्यादा फिल्मों के लिए गाना गा चुकी हैं। पैसे की कमी के कारण स्कूली शिक्षा से भी वंचित रही लता के नाम आज कई अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय की मानक उपाधियाँ हैं।
आज इसी महान गायिका का जन्मदिन है। आज संगीत की दुनिया में राज करने वाली लता मंगेशकर को एक वक्त उन्हें गाने के लिए रिजेक्ट कर दिया गया था। फिल्म 'शहीद' के निर्माता 'सशधर मुखर्जी' यह कहते हुए लता मंगेशकर को रिजेक्ट कर दिया था कि उनकी आवाज पतली है।
लता मंगेशकर ने 1942 से अब तक लगभग 1000 से भी ज्यादा हिंदी फिल्मों और 36 से भी ज्यादा भाषाओं में गीत गाये हैं। उन्होंने मराठी फिल्म 'पहली मंगला गौर' से एक्टिंग की शुरुआत की थी।
एक वक्त ऐसा भी था, जब संगीत के दो बड़े सितारे लता मंगेशकर और किशोर कुमार एक दूसरे को पहचानते भी नहीं थे।
लता का बचपन बहुत ही संघर्ष में बीता था। आर्थिक अभाव के कारण लता स्कूल भी नहीं जा सकी। एक किस्से को याद करते हुए लता बताती हैं कि एक बार जब वह अपनी छोटी बहन आशा भोसले को लेकर स्कूल गई तो उनके टीचर ने कहा कि आशा को भी फ़ीस देना पड़ेगा और उन्हें स्कूल से निकाल दिया। इसके बाद लता ने यह तय किया कि वह कभी भी स्कूल नहीं जाएँगी। लेकिन कहते हैं ना किस्मत को कौन रोक सकता है। जिस लता मंगेशकर ने स्कूल की शक्ल तक नहीं देखी थी आज उसी लता मंगेशकर के नाम न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी सहित छह विश्वविद्यालयों की मानक उपाधि है।
स्वर कोकिला  को अब तक कई बड़े पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है । 1969 में पद्म भूषण, 1989 में दादा साहब फाल्के अवार्ड, 1999 में पद्म विभूषण और साल 2001 में 'भारत रत्न' से नवाजा गया था। इसके अलावा भी उन्हें कई पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है।
लता मंगेशकर के पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर एक क्लासिकल सिंगर और थिएटर आर्टिस्ट थे। लता जब 13 साल की थी उसी समय उनके पिता की मृत्यु हो गई। सभी भाई बहनों में सबसे बड़ी लता के कन्धों पर पूरे घर की जिम्मेदारी आ गई। इसके बाद उनके जीवन का संघर्ष शुरू हुआ। अपने सभी भाई बहनों की देख-रेख की वजह से लता ने शादी भी नहीं की।
आज लता मंगेशकर के नाम से मशहूर लता का नाम कभी 'हेमा' हुआ करता था। उनके पिता ने उनके जन्म के समय उनका नाम हेमा रखा था। मगर बाद में अपने थिएटर के एक पात्र 'लतिका' के नाम पर उन्होंने अपनी बेटी का नाम 'लता' रख दिया।

No comments:

Post a Comment