health

Breaking News

पूविवि में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह आयोजित ,बने चरित्रवान तब होगा देश महानः स्वामी रामदेव 24UPNEWS.COM पर

कासगंज हिंसा: हत्या के आरोप में 32 लोगो को भेजा गया जेल ,इलाके में सभी इंटरनेट सेवाएं बंद

  
नई दिल्ली-उत्तर प्रदेश के कासगंज में शुक्रवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर विश्व हिंदू परिषद और एबीवीपी की मोटर साइकिल रैली पर हुई पत्थरबाजी के बाद झड़प में 16 वर्षीय एक युवक की मौत हो गई थी।रैली के दौरान शुरू हुई हिंसा आज भी देखने को मिली। उप्रदवियों के कल दो बसों और कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। वहीं कल जैसा मंजर आज भी दोहराया गया।

मृतक चंदन का मुख्य आरोपी शकील अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। शकील की तलाशी में पुलिस ने आज आरोपी के घर की तलाशी ली। उसके घर से देसी बम और पिस्टल पुलिस ने बरामद किये है।इस दौरान पुलिस ने शकील के घर की तलाशी ली, जहां देसी बम और पिस्टल मिले। पुलिस ने आस-पास के लोगों से भी शकील के बारे में पूछताछ की।आईजी संजीव कुमार ने कहा, 'अब तक हत्या के आरोप में 32 लोगों को जेल भेजा गया है। इसके अलावा 51 लोगों को हिरासत में लिया गया है। स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। आज कोई घटना नहीं हुई, स्थिति पर नजर रखने के लिए पुलिस बलों को तैनात किया गया है।'दूसरी तरफ उप्रदवियों ने एक दुकान में आग लगा दी। कासगंज हिंसा मामले में पुलिस ने अबतक 49 लोगों को गिरफ्तार किया है। अभी भी वहां धारा 144 लागू है और दूसरे जिलों से सटे सीमा को सील कर दिया गया है।यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, 'फ़िलहाल कासगंज में स्थिति काबू में है। पिछले कुछ घंटों में ऐसी कोई घटना सामने नहीं आई है।
पट्रोलिंग की जा रही है और काफी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया गया है।'पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तनावपूर्ण इलाकों में  आज शाम 10 बजे तक इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है, ताकि सोशल मीडिया पर  किसी भी तरह की कोई अफवाह न फैल सके।प्रधान सचिव अरविंद कुमार ने कहा, 'दो मामले कल दर्ज किए गए थे। दो मामलों में नौ गिरफ्तारियां हुई है , 40 अतिरिक्त निवारक गिरफ्तार किए गए हैं।'उन्होंने कहा, 'पीएसी और 1 आरएएफ की पांच कंपनियां शुक्रवार को अतिरिक्त सिविल पुलिस अधिकारियों / पुलिसकर्मियों के साथ वहां पहुंच गईं थी। आरएएफ की एक और कंपनी आज वहां पहुंच गई है।गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर समुदाय विशेष के लोगों ने एबीवीपी-विश्व हिंदू परिषद की तिरंगा यात्रा पर पथराव कर दिया था जिससे पूरे शहर में बवाल हो गया था। यात्रा पर जमकर फायरिंग और पथराव के साथ आगजनी की कोशिश की गई।इस दौरान गोली लगने से एक युवक चंदन गुप्ता की मौत हो गई जबकि दो घायल हो गए। चंदन की मौत के बाद कासगंज में हिंसा भड़क उठी थी। पथराव में आधा दर्जन चोटिल हैं, जिसमें कुछ पुलिस कर्मी भी शामिल हैं।कासगंज में तनाव वाले इलाके में जिला प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया है। आगजनी, फायरिंग और पत्थरबाजी के दौरान एक युवक की मौत हो गई। मृतक की पहचान 16 वर्षीय चंदन के रूप में हुई है। दो लोगों को चोटें आई है। शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है।