health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

प्रधानाचार्य परिषद ने 22 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन प्रभारी मंत्री को सौंपा।

प्रधानाचार्यगणों के मान, सम्मान, स्वाभिमान के लिए तत्पर है सरकार - उपेन्द्र तिवारी 
जौनपुर। उत्तर प्रदेश प्रधानाचार्य परिषद के जिलाध्यक्ष डा0 सुभाषचन्द्र सिंह  की अध्यक्षता में एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया । जिसमें प्रधानाचार्यगणों के सामने आ रही समस्याओं व उसके निस्तारण हेतु 22 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक के माध्यम से शासन को भेजा गया।   तदोपरान्त प्रधानाचार्य सुभाष सिंह के नेतृत्व में जिले में पहुंचे प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी से वार्ता कर 22 सूत्रीय मांग पत्रों को सौंपकर समस्याओं से अवगत कराते हुए,  समस्याओं के निस्तारण की मां की गयी।  इस पर प्रभारी मंत्री द्वारा प्रधानाचार्यगणों को आश्वस्त किया गया कि सरकार उनकी मांगो पर गम्भीरता से विचार कर उचित कदम उठायेगी।  सरकार प्रधानाचार्यगणों के मान, सम्मान और स्वाभिमान के लिए सदैव तत्पर है।  प्रधानाचार्य परिषद के अध्यक्ष डा0 सुभाष चन्द्र सिंह द्वारा शासन को सौंपे गये 22 सूत्रीय मांगों में कक्षा 9 एवं कक्षा 11 के पंजीकरण शुल्क का 50 प्रतिशत धनराशि विद्यालय को दी जाय,  सन 1993 के बाद तदर्थरुप से अद्यतन कार्यरत प्रधानाचार्यों की सेवा विनियमित की जाय,  स्ववित्त पोषित विद्यालयों को अनुदान सूची में लाने हेतु नियम बनाये जायें तथा कार्यरत शिक्षकों प्रधानाचार्यों एवं कर्मचारियों को वित्तपोषित की भांति वेतन दिया जाये,  कक्षा 1 से कक्षा 8 तक निःशुल्क शिक्षा के कारण अध्ययनरत छात्रों का सम्पूर्ण विकास अवरुद्ध हो गया है, इस हेतु शुल्क क्षतिपूर्ति की जाय,प्रधानाचार्यों को ग्रीष्मावकाश में कार्य करने के बदले नियमानुसार अर्जित अवकाश दिया जाय तथा इस अवधि में प्रधानाचार्यों  को प्रतिदिन उपस्थित रहने हेतु बाध्य न किया जाय।  आकश्मिक व्यय,  चाक,  रजिस्टर एवं यात्रा भत्ता हेतु विद्यालय के विटास निधि में नौवां मद सृजित कर राजाज्ञा निर्गत की जाय, केन्द्र की भांति प्रदेश में कार्यरत शिक्षकों, प्रधानाचार्यों को चिकित्सा भत्ता दिया जाय, तथा अवकाश प्राप्त शिक्षकों को एवं प्रधानाचार्यों  को निःशुल्क चिकित्सा की व्यवस्था की जाय, माध्यमिक शिक्षा में कार्यरत, अन्य संवर्गो की भांति प्रधानाचार्यों को त्रिस्तरीय अनुमन्य करते हुए हाई स्कूल के प्रधानाचार्यों का प्रारम्भिक ग्रेड पे रुपये 6600 सौ (सातवें  वेतन के लेबल द्वितीय )  किया जाय, प्रधानाचार्यों की सेवा निवृति की आयु 65 वर्ष की जाय,  छात्र संख्या के अनुपात में विद्यालयों में पद सृजन किया जाय, प्रधानाचार्यों का पुनरबोधात्मक प्रशिक्षण कराया जाय, आदि रही इस अवसर पर  प्रधानाचार्य  डा0 जय प्रकाश सिंह ( मंण्डलीय मंत्री)  डा0  जंग बहादुर सिंह वरिष्ठ अध्यक्ष , डा0 अखिलेश पाण्डेय मंत्री  , डा0 सुभाष चन्द्र सिंह अध्यक्ष,  डा0 ओपी शाही आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment