health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

कांस्टेबल की बहादुरी से दबोचे गए पुलिस की वर्दी पहनकर ठगी के लिए सर्राफा बाजार पहुंचे दो ठग

मेरठ। देहली गेट थाने में तैनात एक कांस्टेबल की सजगता और बहादुरी के चलते जहां आज सर्राफा बाजार में होने वाली ठगी की वारदात टल गई। वहीं, पुलिस और व्यापारियों ने पुलिस की वर्दी पहनकर ठगी के लिए पहुंचे दो आरोपियों को रंगे हाथ धर दबोचा। सर्राफा बाजार में कारोबारियों के साथ लगातार हो रही ठगी की वारदातों से गुस्साए व्यापारियों ने दोनों आरोपियों की जमकर पिटाई की। फिलहाल पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ में जुटी है। वहीं, एसएसपी अजय साहनी ने आरोपियों को दबोचने वाले कांस्टेबल को पांच हजार का इनाम देते हुए उसे शाबाशी दी और डीजीपी से उसे प्रशस्ति पत्र दिए जाने की संस्तुति की है।
बताते चलें कि शहर सर्राफा बाजार में पिछले काफी समय से ठगों का गैंग सक्रिय है। पुलिस की वर्दी पहनने वाला यह गिरोह बाहर से आने वाले व्यापारियों को निशाना बनाता है। गैंग के सदस्य तलाशी लेने के नाम पर अब तक दर्जनों व्यापारियों से लाखों के सोने और नकदी की ठगी कर चुके हैं। वहीं, कुछ समय पहले पुलिस गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है। मगर इसके बावजूद आए दिन होने वाली घटनाओं में कोई कमी नहीं आई। जिसके चलते व्यापारी भी पिछले कई दिनों से पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे थे। एसएसपी अजय साहनी ने बताया की इन घटनाओं को रोकने के लिए सर्राफा बाजार में पुलिस पिकेट तैनात की गई थी। इसी के साथ व्यापारियों को भी सचेत रहने की हिदायत दी गई थी। आज पिकेट पर तैनात आशु दिवाकर नाम के कांस्टेबल ने बाजार खुलने के समय खाकी वर्दीधारी बाइक सवार दो संदिग्ध लोगों को बाजार में घूमते देखा। जिस पर आशू मोबाइल से कॉल करके अगली पिकेट पर संदिग्धों के विषय में जानकारी देने लगा। इसी दौरान बाइक सवारों ने आशु पर हमले का प्रयास किया। जिस पर आशू ने हिम्मत दिखाते हुए राइफल की बट मारकर बदमाशों को रोकना चाहा। जिसके बाद हड़बड़ाहट में फरार होते बदमाशों की बाइक स्लिप हो गई और वह भागकर एक मंदिर में घुस गए। आशु का शोर सुनकर क्षेत्र के व्यापारियों ने पुलिस की मदद से दोनों बदमाशों को धर दबोचा। गुस्साए व्यापारियों ने दोनों बदमाशों की जमकर पिटाई की। जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस जैसे-तैसे बदमाशों को व्यापारियों के आक्रोश से बचाकर थाने लेकर पहुंची। एसएसपी ने बताया कि पकड़े गए दोनों बदमाश खुद को फर्रुखाबाद का निवासी बता रहे हैं जो चश्मे और नग का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि बदमाशों को दबोचने वाले कांस्टेबल आशु दिवाकर को पांच हजार रुपए के नकद इनाम से सम्मानित किया गया है। इसी के साथ डीजीपी से भी उसे सम्मानित किए जाने की संस्तुति की गई है।

No comments:

Post a Comment