health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

सौहार्द एवं कानून व्यवस्था बिगाडने वाले के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी-डीएम जौनपुर

जौनपुर- जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में आगामी त्यौहारों एवं राम मंन्दिर से सम्बन्धित आने वाले अदालत के निर्णय को देखते हुए जनपद में शांति एवं सौहार्दपुर्ण वातावरण बनाये रखने के लिए धर्मगुरुओं के साथ कलेक्टेªट सभागार में बैठक सम्पन्न हुई। 
            बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि धनतेरस, दीपावली, भाई-दूज के त्यौहार भाईचारा एवं सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाये। उन्होंने कहा कि जनपद जौनपुर गंगा जमुनी तहजीब का उत्कृष्ट उदाहरण रहा है। यह सभी धर्मो के लोग त्यौहारों मिल-जुल कर मनाते है। सभी लोग से अपेक्षा है कि आगे आने वाले त्यौहारों को भी आपसी सौहार्द के साथ मनायेंगे। इस अवसर पर कोई अप्रिय घटना न हो, इसका ध्यान रखना हमसब की जिम्मेदारी है। जिलाधिकारी ने कहा कि राम मन्दिर से सम्बन्धित अदालत में सुनवाई पूर्ण हो गयी है तथा इसका फैसला कभी भी आ सकता है। अदालत का फैसला जो भी हो हमे अपने जनपद में सौहार्द बनाये रखना है। उन्होंने सभी धर्मगुरुओं से अपील की कि किसी भी प्रकार पर दुष्प्रचार पर ध्यान न दे। सौहार्द एवं कानून व्यवस्था बिगाडने वाले के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।
           पुलिस अधीक्षक रविशंकर छवि ने कहा कि सोशल मीडिया पर विशेष निगरानी रखी जा रही है, सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध भी सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि किसी भी अप्रिय घटना के लिए पुलिस प्रशासन पूर्ण रुप से सतर्क रहेगा। उन्होंने बताया कि डायल 100 अब 26 अक्टूबर 2019 से डायल 112 हो जायेगा। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर अगर कोई झूठी, भड़काऊ समग्री सोशल मीडिया पर प्रचारित करता है तो उसकी सूचना सोशल मीडिया सेल के 9454457684 पर सूचित कर सकते है। सभी धर्म गुरुओ ने जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को आश्वस्त करते हुए कहा कि आने वाले त्यौहारों को सौहार्दपूर्ण एवं भाईचारा के साथ मनायेंगे तथा राम मन्दिर से सम्बन्धित अदालत का जो भी फैसला होगा उसे हम सहर्ष स्वीकार करेंगे। जनपद का माहौल किसी भी दशा में बिगड़ने नही दिया जायेगा।   
           इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि/रा0 आर पी मिश्र, नगर मजिस्टेªट सुरेन्द्र नाथ, अपर पुलिस अधीक्षक देहात संजय राय, सीओ सिटी नृपेन्द्र, पूर्व विधायक हाजी अफजाल, रजनी कान्त द्विवेदी, मौलाना नहफुजूल हसन, अली मंजर डेजी, जगदम्बा पाण्डेय सहित विभिन्न धर्मगुरु उपस्थित रहे। 

डीएम जौनपुर ने जियो टैंगिग पूर्ण होने तक सभी पशु चिकित्साधिकारियों का रोका वेतन,

जौनपुर-जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यो की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। 

          बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी शासन की योजना का लाभ आम जनता तक पहुंचाएं। शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं में प्रगति लाएं। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने विभागों के लक्ष्य को समय से पूर्ण करें एवं कार्य में लापरवाही किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिलाधिकारी ने बैठक में गौशालाओं की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि जो भी निराश्रित गोवंश छुट्टा घूम रहे हैं उन्हें अस्थाई गौशाला में शिफ्ट करें। निर्माणाधीन अस्थाई गौशाला का कार्य शीघ्र पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि गोवंश संरक्षण माननीय मुख्यमंत्री की प्राथमिकता में है इसलिए किसी प्रकार की लापरवाही पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। गोवंश के जियो टैगिंग का कार्य पूर्ण होने, सभी पशु चिकित्सा अधिकारियों को वेतन जियो टैगिंग पूर्ण होने तक रोकने का निर्देश मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को दिया। 
            बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत 116266 लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड बनाया जा चुका है जिसे वितरित कराया जा रहा है। जनपद में 19 सरकारी एवं 07 प्राइवेट हॉस्पिटल पैनेल्ड है। जिसमें अब 1200 से ज्यादा लाभार्थियों का इलाज किया जा चुका है। जिलाधिकारी ने योजना का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार एवं गरीबों को लाभ पहुंचाने का निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया। 
  उन्होंने कहा कि अस्पतालों में डाक्टरों की उपस्थिति एवं दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। जननी सुरक्षा योजना के लाभार्थियों तथा आशाओं का शत-प्रतिशत भुगतान कराने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। 
  जिलाधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी का विस्तार से समीक्षा की गयी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पात्र व्यक्ति को आवास मिलना चाहिए। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की कार्य प्रगति धीमी होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये। अधि0अभियन्ता पीडब्ल्यूडी ने बताया कि 26 सड़कों का नवीनीकरण करना था जिसमें 16 का कार्य पूर्ण हो गया है। सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत तहसील स्तर पर शादियां कराने का निर्देश समाज कल्याण अधिकारी विपिन कुमार यादव को दिया। पेंशन, विकलांग पेंशन, छात्रवृत्ति की विस्तार से समीक्षा की। अधिशासी अभियन्ता विद्युत को निर्देश दिया कि दिवाली पर विद्युत आपूर्ति हेतु अपनी तैयारी कर ले, दिवाली के अवसर पर विद्युत बाधित न हो, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न होने पाए।
             इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी गौरव वर्मा, अपर जिलाधिकारी वि/रा0 आर पी मिश्रा, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 रामजी पाण्डेय, नगर मजिस्टेªट सुरेन्द्रनाथ, जिला विकास अधिकारी दयाराम, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी रामदरश यादव सहित जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

महिला सशक्तिकरण को सफल बनाने के लिए हर बालिकाओं को शिक्षित होना जरूरी-ऋतु सुहास

जौनपुर- मोहम्मद हसन पीजी कॉलेज के सौदागर हाल में महिला सशक्तिकरण के एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमें कार्यक्रम की मुख्य अतिथि महिला नोडल अधिकारी ऋतु सुहास एलवाई रही इस कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ अब्दुल कादिर खान में किया सबसे पहले मुख्य अतिथि का स्वागत बुके देकर प्राचार्य डॉ अब्दुल कादिर खान ने किया इसके बाद उन्होंने अपने स्वागत भाषण में कहा कि समाज में अगर बच्चियाँ  शिक्षित होती है तो समाज की एक नई दिशा और बदलने का अवसर प्राप्त होता है अगर कोई बच्ची शिक्षा से वंचित रह जाती है तो उसका परिवार ही नहीं बल्कि वह दो परिवार को नष्ट कर देती है आज के समय में शिक्षा की अहम भूमिका महिलाओं के सशक्तिकरण के साथ साथ शिक्षित होने की भी मुहिम चलाई जा रही है आए हुए सभी अतिथियों का उन्होंने एक बार पुनः स्वागत किया  अंत में नोडल अधिकारी  ऋतु सुहास एलवाई मिसेज इंडिया का खिताब मिलने की बधाई भी दी मुख्य अतिथि  ऋतु सुहास एलवाई ने अपने संबोधन  में कहा की महिला ऐसा कोई कार्य नहीं है जो न कर सके लेकिन हर कार्य करने के लिए उसको निडर और अनुशासित और शिक्षा का भी सहयोग लेने की आवश्यकता है किसी भी मुकाम पर पहुंचने के लिए उस कार्य को करने के साथ साथ इमानदारी का होना भी आवश्यक है महिला सशक्तिकरण का सबसे बड़ा उद्देश्य है कि समाज में किसी भी बच्चियों को अशिक्षित ना रखा जाए आज के समय में शिराज ए हिंद में डॉ अब्दुल कादिर खान ने बच्चियों को शिक्षित करने की जो मुहिम चलाई है शायद या जौनपुर ही नहीं बल्कि प्रदेश के हर कोने तक या आवास पहुंच चुकी है मैं पिछले वर्षों में यहां पर कार्यरत उपजिलाधिकारी पद पर रही लेकिन आज जो इसने और प्यार जौनपुर जनपद और मोहम्मद हसन पीजी कॉलेज के प्राचार्य और सभी जनता ने दिया है शायद वह पुरानी यादों को ताजा करता नजर आ रहा है आये हुए अतिथि का प्राचार्य ने  अंगवस्त्रम, स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया इस मौके पर प्रधानाचार्य मोहम्मद नासिर खान, डाँ कमरूद्दीन शेख, डॉ के के सिंह, डॉ जीवन यादव ,डॉ निलेश कुमार सिंह डॉ अब्दुल हलीम हाशमी डाँ राकेश कुमार बिंद ,डाँ ज्योत्सना सिंह आकांक्षा सिंह डॉ अर्चना सिंह डाँ  ममता सिंह डाँ अजय विक्रम सिंह ,डाँ संतोष सिंह डॉ डीएन उपाध्याय ,प्रवीण यादव, डिम्पल सिंह  इत्यादि सभी बीटीसी,बीएड और अन्य विभाग के सभी छात्र छात्राएं मौजूद रहे कार्यक्रम का संचालन अहमद अब्बास खान ने किया

डीएम जौनपुर के तल्ख तेवर,ड्यूटी से नदारद डॉक्टरों को 15 दिन का मिला अल्टीमेटम,सभी लापरवाह कर्मचारियों में हड़कम्प

जौनपुर- आज जिला अधिकारी  दिनेश कुमार सिंह ने जिले का कार्यभार ग्रहण करते ही लेते ही अपने तल्ख तेवर दिखाना शुरू कर दिया है डीएम का पहला शिकार बना स्वास्थ्य महकमा। विभिन्न अस्पतालो में तैनात लापता डाक्टरो के खिलाफ कठोर कदम उठाया है। वे सभी लापता चिकित्सको को नोटिस भेजने का आदेश सीएमओ को दिया है। डीए के सख्त तेवर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग समेत सभी विभाग में हड़कंप मच गया है। 
बता दें नवागत जिला अधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने कल चार्ज लिया और आज फूल एक्शन मूड में नजर आए,डीएम ने  सीएमओ डा. रामजी पांडेय के साथ हुई बैठक में डीएम ने चिकित्सकों की ड्यूटी और उनकी उपस्थिति के बारे में पूछताछ की तो ऐसे ही चौकाने वाले तथ्य उभर कर सामने आए। जिले के 13 अस्पतालों में तैनात 14 डाक्टर पिछले कई महीनों से लापता चल रहे हैं। डीएम ने बेहद गंभीरता से लेते हुए सीएमओ को निर्देशित किया कि सभी डाक्टरों को नोटिस भेज कर कार्रवाई करें। 
जिले के जिन सरकारी अस्पताल के डाक्टरों को नोटिस दी गई है उनमें सीएचसी सतहरिया के चिकित्सा अधिकारी डा. नीरज सिन्हा व डा. प्रमोद कुमार, अतिरिक्त स्वास्थ्य प्राथमिक केन्द्र कुद्दूपुर के डा. अनुप्रास राय,  अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गुतवन के डा. प्रिंस मोदी, अतिरिक्त पीएचसी अमहित में तैनात डा. संजय सिंह, पीएचसी जलालपुर में तैनात डा. कमलेश राम, सीएचसी सिरकोनी में डा. संध्या सिंह , सीएचसी रामनगर में तैनात डा. शिवराम मिश्र, सीएचसी रामपुर में तैनात डा. राकेश कन्नौजिया, सीएचसी बदलापुर में तैनात डा. अतुल विश्वकर्मा, 
शाहंगज ब्लाक में स्थित अतिरिक्त पीएचसी नोनारी में तैनात डा. अरुण  त्रिपाठी, व  लीलावती देवी जिला महिला चिकित्सालय जौनपुर में तैनात डा.  पल्लवी बसंत लटपटे  को चिंहित किया गया है। नोटिस में कहा कि अगर 15 दिनों में वह ज्वाईन नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जायेगी। 

राम केवट संवाद सुन भाव विभोर हुये दर्शक,मांगी नाव केवट आना कहहू तुम्हार मर्म हम जाना

जौनपुर- सुजानगंज थाना क्षेत्र के मोहरियाव ग्राम सभा में चल रहे आदर्श रामलीला धर्म मंडल समिति के तत्वाधान में गुरुवार को रात्रि राम केवट संवाद एवं सीता हरण का मंचन हुआ रामलीला का शुभारंभ गिरीश दुबे ने राम लक्ष्मण सीता जी की आरती उतार कर किया उन्होंने कहा कि राम के आदर्शों को हर व्यक्ति को अपने अंदर समाहित करना चाहिए और सदैव सत्य के मार्ग पर चलना चाहिए रामलीला मंच में राम केवट संवाद में मांगी नाव  केवट आना कहहू तुम्हारा मर्म हम जाना संवाद सुनकर पंडाल में श्रोता भावुक हो उठे राजा दशरथ ने कैकई के चारों वचनों को पूरा करने के लिए राम को वन भेजने के लिए विवश हो जाते हैं तब राम खुद वन गमन के प्रस्ताव मान लेते हैं महाराज दशरथ को समझाते हैं कि सीता व लक्ष्मण के साथ स्वयं मंत्री सुमंत के साथ बन की तरह प्रस्थान कर देते हैं अयोध्या की सीमा से सुमंत को वापस बुलाया केवट प्रभु राम को पहचान जाता है और नदी पार करने से मना कर देता है प्रभु राम कारण पूछते हैं तो केवट कहता है कि आपको बैठाने से मेरी नौका औरत बन जाएगी तो मैं क्या करूंगा प्रभु इसलिए आपके पांव पखारने के बाद ही नौका पर बैठा सकता हूं फिर प्रभु राम की सहमति से वह उनके पांव को धोकर नौका में बैठाकर नदी को पार कर आया यह मंचन देख दर्शक उत्साहित हुए और भावुक हो गए मित्रता का निर्वहन किस प्रकार से केवट ने किया. जिसमे राम का रोल कार्तिकेय विश्वकर्मा, लक्ष्मण ईश्वर चंद्र दुबे, सीता आदित्य चौबे, केवट ओम प्रकाश तिवारी बबलू, राजा दशरथ जनार्दन प्रसाद दुबे, कैकयी अवकाश तिवारी साजन, मंथरा मुकेश तिवारी मोनू, सेवरी रवीन्द्र तिवारी हनुमान,भरत प्रशांत तिवारी, आदि ने निभाई भूमिका.

टीडी कालेज के चुनाव की तारीख के ऐलान से छात्रों में खुशी की लहर,छात्र नेताओं ने कसी कमर

जौनपुर-आज तिलकधारी कालेज का छात्र संघ चुनाव की रणभेरी बज गया है,चुनाव का नामांकन 5 नवम्बर को होगा और ओटिंग और काउंटिंग 15 नवम्बर को होना सुनिश्चित किया गया। चुनाव की तारीख घोषित होते ही छात्र नेताओ में ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी है । चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों ने पूरी ताकत झोक दिया है । 

अखण्ड सौभाग्य के लिये महिलाओं ने रखा करवा चौथ का निराजल व्रत

चन्द्रोदय के पश्चात् पति व चन्द्र दर्शन-पूजन के बाद किया व्रत का पारण
जौनपुर। अखण्ड सौभाग्य के लिये महिलाओं ने गुरूवार को करवा चौथ का व्रत रखा जो पूरे दिन निराजल होकर शाम को चन्द्र दर्शन किया। तत्पश्चात् पति के हाथ से जल ग्रहण करके व्रत का पारण किया। इसके पहले बुधवार-गुरूवार की मध्य रात दही का सेवन करके महिलाओं ने निराजल व्रत रखा। गुरूवार की सुबह से लेकर शाम तक व्रत रहने वाली महिलाओं ने शाम को स्नान के बाद नये वस्त्र धारण किये। साथ ही सोलह श्रृंगार करते हुये पूजन सामग्री लेकर घर की छत या जलाशयों के किनारे या सार्वजनिक स्थल पर स्थित मन्दिर प्रांगण में जाकर चन्द्र दर्शन कीं। इसके बाद भगवान शिव, माता पार्वती एवं भगवान गणेश व कार्तिकेय का विधि-विधान से पूजन करके चलनी में से पति का दर्शन कीं जहां पति ने मिष्ठान खिलाकर पानी पिलाया जिसके साथ ही इस निराजल व्रत का पारण हुआ। मान्यता है कि करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाएं पति के दीर्घायु की कामना से निराजल रखती हैं। शाम को चन्द्र दर्शन से होने वाली पूजा के पहले घर के आंगन या छत पर गाय के गोबर से लीप करके आटा से चौक बनता है जिसमें मिट्टी का करवा रखा जाताहै। करवा पर पूस की लकड़ी रखी जाती है जिसके बाद शिव, पार्वती, गणेश व कार्तिकेय की तस्वीर रखकर पूजा की जाती है। चन्द्रोदय होते ही महिलाएं चलनी से चांद का दीदार करती हैं जिसके बाद पति का दर्शन कर उनकी भी पूजा करती हैं। उपरोक्त मान्यता के अनुसार सुहागिन महिलाओं व रिश्ता तय होने वाली लकड़ियों ने करवा चौथ का निराजल व्रत रखा और पूजा-पाठ के साथ शाम को व्रत का पारण किया। मान्यता है कि सूर्योदय से चन्द्रोदय तक रहने वाला यह व्रत केवल जल ग्रहण करके रखा जाता है जिसका पारण पति द्वारा पानी पिलाने के बाद ही होता है। इसके बाद घर में बने पकवान को ग्रहण किया जाता है।

राकेश श्रीवास्तव को अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने दी बड़ी जिम्मेदारी,बनाये गए प्रदेश महा सचिव

कायस्थ समाज ने दी जोरदार बधाई
जौनपुर। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविनन्दन सहाय की सहमति से प्रदेश अध्यक्ष हृदय नारायण श्रीवास्तव ने महासभा के जिलाध्यक्ष राकेश श्रीवास्तव को प्रदेश महासचिव मनोनीत कर दिया। प्रदेश अध्यक्ष श्री श्रीवास्तव ने बताया कि महासभा के प्रति निष्ठा निरन्तर सक्रियता व कार्य कुशलता को देखते हुये यह मनोनयन किया गया है। उनके मनोनयन से महासभा पूरे प्रदेश में और प्रगति करेगा और समाज को एकजुट करने में राकेश श्रीवास्तव का महत्वपूर्ण योगदान होगा। उन्होंने बताया कि महासभा के 132 वर्ष के कार्यकाल में जनपद से पहली बार कोई प्रदेश महासचिव जैसे महत्वपूर्ण पद पर चयनित हुआ है। इधर समाजसेवी राकेश श्रीवास्तव के चयन की जानकारी मिलने पर कायस्थ समाज में काफी उत्साह है। कायस्थ समाज के तमाम लोगों ने राकेश श्रीवास्तव के मियांपुर के न्यू कालोनी स्थित आवास पर पहुंचकर उन्हें माल्यार्पण किया। साथ ही बुकें देकर उन्हें बधाई देते हुये उज्ज्वल भविष्य की कामना कया। इसी क्रम में उपस्थित लोगों ने एक स्वर में कहा कि राकेश जी के मनोनयन से जनपद के कायस्थों का सम्मान बढ़ा है। श्री श्रीवास्तव सामाजिक समसरता के धनी व्यक्तित्व के स्वामी हैं तथा उनका एक लम्बा सामाजिक अनुभव है। इसका लाभ महासभा को अवश्य मिलेगा। बताते चलें कि राकेश श्रीवास्तव की पत्नी भाजपा नेत्री किरन श्रीवास्तव प्रदेश महिला शाखा की उपाध्यक्ष हैं। यह निश्चित रूप से कायस्थ हित में किये गये कार्यों का प्रतिफल है। राकेश श्रीवास्तव को बधाई देने वालों में संजय अस्थाना, श्याम रतन श्रीवास्तव, सुरेश अस्थाना, जय आनन्द, अजय आनन्द, अमित निगम, सुधीर अस्थाना, सरोज श्रीवास्तव, शशि श्रीवास्तव, राकेश श्रीवास्तव पूर्व प्रशासनिक अधिकारी, प्रमोद दादा, राजू दादा, डा. अशोक अस्थाना, गौरव श्रीवास्तव, प्रदीप श्रीवास्तव डीओ, अखिलेश श्रीवास्तव, दयाशंकर निगम, सुभाष अग्रहरि, एससी लाल सहित तमाम स्वजातीय बन्धु उपस्थित रहे।

जौनपुर प्रेस क्लब के बदलापुर इकाई गठित,अध्यक्ष केदार नाथ,महामंत्री एच0एल0पुष्कर, उपा0अनिल सर्वसम्मति से चुने गए

जौनपुर प्रेस क्लब की तहसील इकाई बदलापुर का का गठन नगर पंचायत स्थित निरीक्षण भवन बदलापुर में जौनपुर प्रेस क्लब के जिला अध्यक्ष कपिल देव मौर्य व महामंत्री वीरेंद्र मिश्रा उर्फ विराट के निर्देशन में गुरुवार को आयोजित पत्रकारों की एक बैठक में किया गया।  जिसमे उपस्थित पत्रकारों ने सर्व सम्मति से अध्यक्ष पद हेतु केदार नाथ सिंह , व महामंत्री पद के लिए एच 0 एल 0बी0पुष्कर के नाम का समर्थन किया।जिसका सभी एक स्वर में अनुमोदन किया,उसके बाद कार्यकारिणी के अन्य  पदाधिकारियो जिसमे   उपाध्यक्ष अनिल कुमार शर्मा,  मंत्री सुशील श्रीवास्तव, कोषाध्यक्ष अनिल श्रीवास्तव, मीडिया प्रभारी अजय कुमार सिंह, संगठन मंत्री पवन कुमार उपाध्याय,  आडिटर अरुण कुमार दुबे, जिला प्रतिनिधि चन्द्रशेन शुक्ल, मानिक चन्द्र यादव ,नरेंद्र शर्मा व कार्यकारिणी सदस्य राम सागर गिरी, सुनील मिश्र, सन्तोष कुमार मिश्र, सूबेदार अली, , राजेश माली, सहित कार्यकारिणी के सदस्य बनाये गए। कार्यक्रम के अंत मे उपस्थित सभी पत्रकारों ने अध्यक्ष केदार नाथ सिंह,महामंत्री एच 0 एल0 बी0 पुष्कर सहित सभी को माल्यार्पण कर भव्य स्वागत किया गया।

फैसल हसन तबरेज जौनपुर कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष नियुक्त किये गए,समर्थको में खुशी की लहर

जौनपुर-आल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने आज यूपी कांग्रेस कमेटी की टीम ने आज प्रदेश के  करीब 22 जनपदों में जिला अध्यक्ष की नियुक्ति की गई है जिसमे जौनपुर  जिला अध्यक्ष फैसल हसन तबरेज को बनाया गया है,फैसल करीब 10 सालों से राजनीति में उनकी अहम भूमिका रही है,कांग्रेस में सभी कार्यक्रमो में उनकी भूमिका अहम रही है,इस कि सूचना जब जिले में पहुची तो उनके समर्थकों में खुशी की लहर छा गयी।

एएसआई प्रमोद पहलवान ने मोहित दिल्ली को दिखाया आसमान

जौनपुर के गया एवं मंगला पहलवान ने प्रतिद्वंद्वी पहलवानों को दिखाया आसमान
* बशारतपुर गाँव में दर्जनों पहलवानों ने की जोर आजमाइश

जौनपुर- बक्शा विकास खण्ड के बशारतपुर गाँव में सोमवार की शाम आयोजित दंगल प्रतियोगिता में एसएसआई प्रमोद पहलवान ने दिल्ली के मोहित पहलवान को आसमान दिखा प्रतियोगिता में चांदी के गदा जीत लिया। जौनपुर के गया एवं एवं मंगला पहलवान ने अपने अपने-अपने प्रतिद्वंद्वी पहलवानों को आसमान दिखाया। इस दौरान दर्जनों पुरुष एवं महिला पहलवानों ने जोर आजमाइश की। आयोजित दंगल प्रतियोगिता में मंगला पहलवान जौनपुर एवं चन्दन पहलवान वाराणसी के बीच कुश्ती हुई जिसमें मंगला विजयी रहे। गया पहलवान जौनपुर एवं अशोक पहलवान हरियाणा के बीच हुआ जिसमें गया पहलवान ने अशोक को आसमान दिखाया। अंकित पहलवान बलिया एवं उमा जौनपुर के बीच उमा मात्र दो मिनट में प्रतिद्वंद्वी को चित्त कर दिया। वाराणसी डीएलडब्लू के लल्ला पहलवान ने मिर्जापुर के रामबली को पराजित किया। दंगल में मुकेश आजमगढ़ को धर्मेन्द्र पहलवान शीतला चौकियां ने चित्त कर दिया। राहूल पहलवान सुजानगंज को केराकत के काजू पहलवान तो राजू वाराणसी को विशुनपुर धीरज ने चित्त किया।  प्रतियोगिता के आयोजक भाजपा नेता सतीश कुमार सिंह ने आये हुए लोगो के प्रति आभार जताया। कमेंट्री अजिताब सिंह एवं रेफरी संतलाल पहलवान कौलिया एवं सुभाष पहलवान रहे। इस दौरान भाजपा नेता संदीप सिंह, शिवबहादुर सिंह, देवेन्द्र सिंह, वेदप्रकाश शुक्ल सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

ऑटो लॉकिंग तकनीकी राहगीरों के लिए बड़ा संकट, दिन में कई बार घंटो तक बंद रहता है रेलवे फाटक।

जौनपुर- यहां दिन भर में दो सौ से अधिक ट्रेनें गुजरती हैं।ऑटो लॉकिंग तकनीक व्यवस्था के अंतर्गत रेलवे गेटमैन के पास फाटक खोलने की अथारिटी नहीं होती, स्टेशन मास्टर के पास होती है। स्टेशन मास्टर जब अपने पैनल कक्ष से गेटमैन को ऑनलाइन चाभी उपलब्ध कराता है, उसके बाद ही गेटमैन फाटक को खोल पाता है। पूर्व स्टेशन से ट्रेन आने की सूचना पर गेटमैन फाटक बंद कर देता है, उसके बाद यह व्यवस्था प्लेटफॉर्म पर स्थित स्टेशन मास्टर के पैनल कक्ष के हाथों में हो जाती है। ट्रेन रेलवे फाटक से गुजरने के बाद जब तक आउटर का सिग्नल क्रास नहीं कर जाता तब तक यह ऑटो लॉकिंग तकनीकी व्यवस्था फाटक को नहीं खुलने देता। एक के बाद एक करके एक साथ पांच-छह ट्रेनें गुजरती हैं। फाटक घंटों बंद रह जाता है। अन्य रेलवे फाटकों पर ट्रेनें एक के बाद एक गुजरती तो है, लेकिन गेटमैन ट्रेन का आखिरी डब्बा गुजरते ही फाटक को खोल देता है। यदि जफराबाद रेलवे फाटक पर भी ऐसी व्यवस्था हो जाए तो राहगीरों को रोज का घंटों इंतजार करने का संकट खत्म हो जाए

.....और फिर बंद मिला जानलेवा फाटक जफराबाद , दो नौजवानों की मौत से परिवार पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा।

●यहां दर्द से तड़प कर मर जाते हैं मरीज। 
● बन्द फाटक पर खड़ी रह जाती है घंटो एंबुलेंस सेवा, छटपटाते रहते हैं रोगी, कई की जा चुकी है जान।
● आग बुझाने के लिए जा रही फायर ब्रिगेड भी हो जाती है लाचार
रिपोर्ट-अखिलेश सिंह।
जौनपुर- "जानलेवा फाटक" जिला मुख्यालय से जफराबाद मार्ग पर स्थित जफराबाद जंक्शन का रेलवे फाटक जानलेवा बन चुका है। यहां पर राहगीर क्रॉसिंग पार करने में तिल मिला जाते हैं। मरीजो की क्या हालत होती है, पूछिये मत। घंटो तक रेलवे फाटक बंद रहता है। एंबुलेंस सेवा से अस्पताल ले जा रहे मरीज को आपातकालीन स्थिति में इस रेलवे फाटक पर घंटों तक दर्द से तड़पते रहते है। कई मरीज तड़प कर मर चुके है। ऐसा ही हुआ शनिवार को शाम,अहमदपुर गांव निवासी नौजवान अभय सिंह तथा सुनगुलपुर गांव निवासी रजनीश उर्फ शुभम सिंह के साथ हुआ। दोनों एक साथ घर जा रहे थे। शाम करीब 8:00 बजे सड़क दुर्घटना के बाद उपचार के लिए आनन-फानन में परिजन तथा गांव के लोग एंबुलेंस से लेकर जिला अस्पताल के जारहे थे। गंभीर स्थिति में एंबुलेंस जफराबाद रेल फाटक बंद होने की वजह से खड़ी हो गई। काफी देर इंतजार के बाद रेल फाटक नही खुला। दूसरे छोर पर खड़े प्राइवेट वाहन की मदद से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डाक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। दोनों नौजवान के ऊपर परिवार की पूरी जिम्मेदारी है थी, चर्चा है कि यदि रेलवे फाटक जानलेवा बन चुका है, आपातकालीन स्थिति में यहां से गुजरना जान से हाथ धोना पड़ता है। इसी प्रकार जून 2017 रात को करीब 11:00 बज रहे थे। जफराबाद कस्बा के मोहल्ला नासही निवासी मनोज कुमार गुप्ता की पत्नी राधा गुप्ता(30) गर्भवती थी। उनको डिलीवरी पेन हुआ। जिलाअस्पताल में भर्ती कराने के लिए एंबुलेंस बुलाया गया। एंबुलेंस के आते-आते उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। रेलवे फाटक पर आते वक्त एंबुलेंस को फाटक खुलने का इंतजार में रुकना पड़ा। राधा को दर्द बढ़ता ही चला गया। एंबुलेंस आई राधा को लेकर अस्पताल जाने लगी। वापसी में पुनः जफराबाद रेलवे फाटक बन्द मिला। दर्द से राधा एंबुलेंस में चिल्ला रही थी। लेकिन इस रेलवे फाटक पर एक के बाद एक करके ट्रेनें गुजरती रही और क्रॉसिंग पर लगभग एक घण्टे तक फाटक नहीं खुला।  एंबुलेंस में ही जच्चा और बच्चा की तड़पकर मौत हो गई। इसी प्रकार जफराबाद कस्बे के जमाल अहमद तथा जवाहरलाल सेठ को हार्ट अटैक का दौरा पड़ा था। रात का समय था और इन लोगों को भी काफी देर तक जफराबाद रेलवे फाटक बंद होने की वजह से रुकना पड़ा था। फाटक खुलने के बाद हॉस्पिटल पहुंचे तो डॉक्टरों ने देर हो जाने की बात कहकर मृत घोषित कर दिया। अन्य कई लोगों की, इस रेलवे फाटक के बंद होने की वजह से आपातकालीन स्थिति में मौत हो चुकी है। इस रेलवे फाटक से सरकारी एंबुलेंस सेवा के चालक भी घबराते हैं। आपातकालीन स्थिति में जब उनको जफराबाद नगर पंचायत की तरफ बुलाया जाता है तो फोन पर ही फाटक बंद हो सकता है की चेतावनी, व धैर्य बनाकर इंतजार करने की सलाह देते हैं। कई बार तो ऐसा हुआ की एंबुलेंस के आने में काफी देर होने की स्थिति में एक्सीडेंट आदि मामले में लोग प्राइवेट वाहन से लेकर निजी चिकित्सालय में चले जाते हैं। एंबुलेंस आने के बाद खाली हाथ वापस लौट जाती है।
जफराबाद-बेलावघाट बहुत चलता मार्ग नहीं है। इस रेलवे फाटक पर घंटों फाटक बंद होने के बावजूद भी कभी जाम की समस्या नहीं होती। बहुत ही कम और निश्चित अनुपात में वाहनों की कतार लगती है। ऐसे शांत और सन्नाटे दार रेलवे फाटक पर इतनी जटिल तकनीकी व्यवस्था क्यों ?

जौनपुर पुलिस ने अन्तर्राज्यीय एटीएम हैकर गैंग का किया खुलासा,300 लोगों से करोड़ो रूपये का लगा चुके है चूना

जौनपुर- बैंक खाते व आधार से लिंक करके खाते से करीब 300 लोगों के खातों में से  करोड़ो रूपये की ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह को जौनपुर पुलिस के हत्थे चढ़े,ये गांव में जाकर युवाओं को खाते खुलावने के नाम पर 2-3 हजार रुपये देते थे और खाते खुलने के बाद ये लोग उस खाते के पासबुक ,चेकबुक, एटीएम कार्ड और ये उन खाते धारकों को अपना नया सिम भी देते थे जिससे ओटीपी उनके खाते में जाये,इन खातों को दाऊद जामताड़ा राजस्थान में प्रति खाते 10 हजार रुपये में बेच देता था गिरोह का सरगना मो0 दाऊद आजमगढ़ जिले का रहने वाला है,ये पूरे गैंग को आज़मगढ़ में बैठ कर ऑपरेट करता था,पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिनका सरगना दाऊद है , इनके पास से आठ मोबाइल,13मोबाइल सिम,8 एटीएम कार्ड,एक जरुरी डायरी सैकड़ो खाताधारकों की डिटेल इस डायरी में मौजूद है,एक मोहर,पासबुक,एक देशी कट्टा,जिंदा कारतूस,एक चोरी की मोटरसाइकिल सहित करीब 7 हजार रुपया नगद पुलिस नर बरामद किया है।
वीओ- जिले के लाइनबाजार पुलिस को लगातार शिकायतें मिल रही थी एटीम पिन हैकर, खातों से पैसे निकालने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ किया जिसके तार  देश के विभिन्न हिस्सों जैसे मुंबई,दिल्ली झारखंड के जामताड़ा में बैठे इनके आका अलीमुद्दीन अंसारी व शाहबाज अंसारी उर्फ बादशाह जैसे बड़े सरगनाओं को ये खाता 10 हजार रुपये में बेच देते थे,आरोपी दाऊद ने बताया कि पिछले दिनों दिल्ली पुलिस व साइबर क्राइम सेल द्वारा अजमेर राजस्थान से गिरफ्तार किया गया था,ये लोग एक टारगेट बनाकर लोगों को फोन करते थे और उनके ओटीपी सीबीबी नम्बर पूछ कर इन खातों से जो खाते ये खुलवाते थे उसमे पैसे ट्रांसफर करवाते थे,पुलिस ने आरोपी सरगना दाऊद के पास से एक जरूरी डायरी मिली है जो करीब 300 खाते इन लोगों ने खुलवाए है उनको जामताड़ा राजस्थान में प्रति खाते 10 हजार में बेच दिया था,उनकी पूरी डिटेल इस डायरी में है।सीओ सिटी सुशील कुमार सिंह ने एसओ लाइनबाजार के इस खुलासे लर तारीफ की और एसपी से बात करके इनाम की बात कही,एसओ लाइन संजीव मिश्रा अपने सहयोगी उ0नि0 कौशलेंद्र प्रताप सिंह,शैलेन्द्र पांडेय उ0नि0,का0 अभय शंकर, हे0का0रमाशंकर, साइबर सेल का0 ओ0पी0जायसवाल,का0 सत्य प्रकाश सिंह,का0पंकज पूरी,का0कमलेश,दिलीप सिंह,नरेंद्र सिंह,का0 धनन्जय पाठक की भूमिका रही ।

ट्रैक्टर चढाई के दौरान पलटने से हुआ बड़ा हादसा दो लोगो की मौत से परिवार में मातम,पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा

जौनपुर-खेत की जुताई करते समय ट्रैक्टर सीखते समय ट्रैक्टर चढाई चढाते समय हुआ बड़ा हादसा,दो मित्रो की हुई दर्दनाक मौत, परिजनों ने आनन फानन में घायलो को इलाज के लिए ले गए जिला अस्पताल जहां डॉक्टरों ने दोनों को किया मृत घोषित, जफराबाद थाना क्षेत्र के सुंगुलपुर गांव का मामला*
     बता दें आज शाम जिले के जफराबाद थाना क्षेत्र के सुंगुलपुर गांव में जहां दो मित्र जिनका अविनाश कुमार सिंह पुत्र अनिल कुमार सिंह सुंगुलपुर थाना जफराबाद व अभय सिंह पुत्र अनिल कुमार सिंह,अहमदपुर जफराबाद ,दोनों खेत की जुताई के बाद खेत से निकल रहे थे एक मित्र ने ट्रैक्टर चलाने की बात कही जो पूरी तरफ ट्रेन्ड ड्राइवर नही था जो चढाई चढ़ा रहा था कि ट्रैक्टर अनियंत्रित हो गया जिसमें दोनों घायल हो गया,ग्रामीणों ने दोनों घायलों को जिला अस्पताल जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

जमीनी विवाद के चलते और पुलिसिया कार्यवाही से आजिज आकर पीड़ित महिला अपने पति व मासूम बच्ची के साथ किया आत्मदाह का प्रयास

जौनपुर- आज जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र के डंमरूवा मचकाही गांव के पीड़ित परिवार ने डीएम कार्यालय के सामने महिला उसकी दूध मुहि बच्ची व पति के साथ मिट्टी का तेल छिड़ककर जान देने का प्रयास किया,पीड़ित महिला ने पुलिस की कार्यवाही से आजिज आकर ये कदम उठाने को मजबूर था परिवार।
पीड़ित महिला का कहना हैंकि जमीनी विवाद को लेकर पट्टीदार उसके परिवार को प्रताड़ित करते है और पुलिस की उदासीनता से अजीज आकर दम्पत्ति ने अपने दूध मुहे बच्चे के साथ डीएम कार्यालय के सामने आत्मदाह का प्रयास किया मौके पर मौजूद डीएम के सुरक्षा कर्मियों ने तीनो को बचा लिया , यह नजारा देखकर पूरे कलेक्ट्रेट परिसर में हड़कम्प मच गया ।
बता दें कि सिकरारा थाना क्षेत्र के डमरुआ (मचकाही ) गांव भानु प्रताप सिंह , पत्नी सोनी और अपने दूधमुहे बच्चे आरव के साथ करीब साढ़े 10 बजे डीएम कार्यालय के सामने पहुंच गए , मिटिंग हाल में डीएम जन सुनवाई कर रहे थे इसी बीच पति, पत्नी अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर माचिस जलाने का प्रयास कर रहे थे , इसी बीच वहाँ पर तैनात सुरक्षा कर्मचारियों ने धर दबोचा , दम्पत्ति द्वारा आत्मदाह का प्रयास करने की खबर मिलते ही पूरे परिसर में हड़कम्प मच गया । डीएम जन सुनवाई छोड़कर बाहर आकर तीनो को अपने साथ लेकर चेंबर में ले गए।
पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि पट्टीदारों द्वारा गाँव मे मकान के निर्माण में बाधा व रास्ते को रोका जा रहा ।जब की परिवार में बंटवारे के उपरांत भी पट्टीदारों द्वारा परेशान किया जा रहा है ।
थाने पर भी सुनवाई नही हो रही व  तीन माह पूर्व मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत के बाद भी करवाई नही हुई ।जिससे क्षुब्ध होकर आज यहाँ आत्म दाह का प्रयास किया गया । घटनाक्रम जानने के बाद जिलाधिकारी ने  उपजिलाधिकारी सदर को मौके पर जाकर जांच करने का निर्देश दिया ।पीड़ित परिवार को पुलिस अधीक्षक के पास भेजकर उचित करवाई का आश्वासन दिया ।

उत्तर प्रदेश चिकित्सा परिषद के पूर्व अध्यक्ष व पूर्व विधायक की मनाई गई 11 वीं पुण्यतिथि

जौनपुर : उत्तर प्रदेश चिकित्सा परिषद के पूर्व अध्यक्ष व पूर्व विधायक डा.रामकृष्ण उपाध्याय व पत्नी सरस्वती उपाध्याय की 11 वीं पुण्यतिथि बुधवार को प्राथमिक विद्यालय मेंहदीगंज पर मनाई गई। इस दौरान
छात्रों में स्कूल बैग, पेंसिल बाक्स, कलर व फल का वितरण किया गया।पूर्व विधायक के पौत्र विकेश उपाध्याय ने कहा कि डा.रामकृष्ण उपाध्याय ने
चिकित्सकीय क्षेत्र में एक मिसाल कायम किया। उनके द्वारा गरीब-मजलूमों का मुफ्त आंख का आपरेशन किया जाता था। हमेशा जनता की सेवा में लगे रहे।
जिसका ही परिणाम है कि जनता ने उन्हें कई बार ब्लाक प्रमुख व विधायक
चुना। आज भी क्षेत्र में उनका नाम लोग बड़े ही सम्मान से लेते हैं। ज़िला व्यायाम शिक्षक रवि यादव ने कहा कि डा.रामकृष्ण ने जनप्रतिनिधि रहते हुए क्षेत्र का चहुंमुखी विकास कराया। जिसका परिणाम यह है कि आज भी जनता उनको याद करती है। उन्होंने
कठिन परिश्रम कर चिकित्सकीय व राजनीति क्षेत्र में एक मुकाम हासिल किया।
वे आज के युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत है। इस मौके पर जूनियर हाईस्कूल मेंहदीगंज प्रधानाध्यापक रमेशचंद्र यादव, प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक सत्यप्रकाश मौर्य, नरेंद्र बहादुर यादव, सहायक अध्यापक विजय भाष्कर, विष्णु गुप्ता, दीपक उपाध्याय, हिमांचल उपाध्याय, प्रमोद कुमार सिंह, रणजीत पटेल, श्यामबाबू हलवाई, शरद चंद्र यादव आदि मौजूद रहे।

आज़मगढ़ पुलिस और बदमाशों में हुई मुठभेड़,डेढ़ लाख का इनामिया ढेर,,एक सिपाही भी हुआ घायल

आजमगढ़ ज़िले के महाराजगंज थाना क्षेत्र में चेकिंग के दौरान पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। इस दौरान डेढ़ लाख का इनामी कुख्यात बदमाश लक्ष्मण यादव ढेर हो गया। वहीं मुठभेड़ में शामिल उसके साथियों की तलाश की जा रही है।
लक्ष्मण यादव पर 44 से ज्यादा लूट, हत्या की संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज थे। पुलिस और बदमाशो के बीच हुई मुठभेड़ में सिपाही सुरेन्द्र यादव भी घायल हो गया है। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं।
पुलिस मुठभेड़ में मारा गया लक्ष्मण यादव काफी शातिर किस्म का अपराधी था। उसके खिलाफ आजमगढ़ के साथ ही आसपास के अन्य जिलों में दर्जनों केस दर्ज हैं. एसपी डीआईजी मनोज तिवारी ने बताया कि शातिर बदमाश लक्ष्मण यादव ने हाल ही में पूर्व डीआईजी जेपी सिंह के भाई रवि प्रकाश सिंह की हत्या में शामिल था। इसके ऊपर करीब 44 मुकदमे पंजीकृत थे। इस पर आजमगढ़ में 50 हजार और अंबेडकर नगर में एक लाख का इनाम घोषित था।

लेखपाल राजेश कुमार समेत तीन आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज

जौनपुर। शाहगंज तहसील में दूसरे को बैनामा की हुई जमीन धोखाधड़ी व जालसाजी कर वादी भीम यादव को बैनामा करने के मामले में तत्कालीन
 लेखपाल राजेश कुमार समेत तीन आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी व जालसाजी का मुकदमा कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुआ। कोर्ट ने प्रथम ²ष्टया गंभीर मामला पाते हुए प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया। आरोपितों के खिलाफ थाना शाहगंज में मुकदमा दर्ज हुआ।

यह है पूरा मामला
भीम यादव ने कोर्ट में धारा 156 (3) के तहत दरखास्त दिया विनोद यादव उसके पट्टीदार हैं। रामउजागिर की मृत्यु के बाद आराजी में उनके पुत्र विनोद, प्रमोद व केवला का नाम दर्ज हुआ। गत दो मार्च 2017 को प्रमोद व केवला ने वादी की पत्नी दुर्गावती के नाम अपने हिस्से की जमीन बैनामा किया। विनोद ने अपने हिस्से की जमीन भी वादी से खरीदने का आग्रह किया। वादी विनोद के साथ तत्कालीन लेखपाल राजेश के पास गया और खतौनी की मांग किया।राजेश ने दो मई 2018 की खतौनी दिया जिसमें विनोद के हिस्से की जमीन अंकित थी। उसने जमीन को पाक-साफ बताया। उनके कहने पर वह खतौनी पर विश्वास कर वादी ने पांच जून 2018 को तहसील शाहगंज में विनोद के नाम की जमीन रजिस्टर्ड बैनामा से अपने नाम कराया। बाद में पता चला विनोद ने इसके पूर्व अपने हिस्से की जमीन अपनी पत्नी मीला देवी के नाम कर दिया था और उसका इंद्राज खतौनी में हो चुका था। विनोद, मीला व लेखपाल ने षड्यंत्र कर वादी को गुमराह किया। कूटरचित खतौनी बनवा कर वादी से 1.40 लाख लेकर रजिस्टर्ड बैनामा करा दिया। वादी के रुपए हड़पने के लिए मीला ने 156(3)का प्रार्थना पत्र वादी के खिलाफ कोर्ट में दिया। वादी द्वारा आरोपितों के खिलाफ थाना, पुलिस अधीक्षक को दरखास्त देने के बावजूद कोई सुनवाई नहीं हुई। कोर्ट ने प्रथम ²ष्टया गंभीर मामला पाते हुए प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया। कोर्ट के आदेश पर एफआईआर दर्ज कर कापी कोर्ट में दाखिल की गई।

शक्ति कुण्ड टूटा, दर्जनों प्रतिमाएं गोमती नदी में बहीं

जौनपुर। शारदीय नवरात्रि के बाद विजयदशमी के दिन शुरू प्रतिमाओं का विसर्जन बुधवार की सुबह तक सकुशल ढंग से सम्पन्न हो रहा था कि अचानक अफरा-तफरी मच गयी जिसको लेकर देर शाम तक आयोजन समिति सहित जिला व पुलिस प्रशासन परेशान रहा। बता दें कि गोमती नदी बढ़ने के चलते नगर के नखास के विसर्जन घाट पर नया शक्ति कुण्ड बना जो प्रतिमाओं की अपेक्षा छोटा था। न्यायालय के आदेशों का पालन करते हुये जिला व पुलिस प्रशासन द्वारा उसी कुण्ड में प्रतिमाओं का विसर्जन शुरू करा दिया जहां कुण्ड के छोटा होने एवं पानी कम होने के चलते प्रतिमाओं को एक-दूसरे पर लादना शुरू कर दिया गया। बुधवार की सुबह लगभग 10 बजे स्थिति यह हो गयी कि कुण्ड एक छोर से खुल गया जिसके चलते कुण्ड की अधिकांश प्रतिमाएं बहकर गोमती नदी में चली गयीं। जब तक लोग कुछ करते तब तक काफी प्रतिमाएं आदि गंगा गोमती की अविरल धारा की ओर बह गयीं। इसको लेकर नगर पालिका सहित जिला व पुलिस प्रशासन का हाथ-पांव फूलने लगा जो पुलिस की मदद से वहां मौजूद लोगों को भगाने के साथ फटे कुण्ड को रोकने में जुट गया। इसी को लेकर दर्जन भर से अधिक प्रतिमाएं देर शाम तक रोकी गयीं जो कुण्ड के सही होने पर विसर्जित की गयीं।