health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

ठाकुर उमानाथ सिंह के बिना जौनपुर परिभाषित नहीं होता- प्रो टी एन सिंह कुलपति*


जौनपुर। उमानाथ सिंह स्मृति सेवा संस्थान के तत्वावधान में आज पूर्व मंत्री ठाकुर उमानाथ सिंह की 26 पूण्य तिथि टीडी पीजी कालेज के बलरामपुर हाल में मनाया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो टी एन सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि ठाकुर उमानाथ सिंह जी विराट व्यक्तित्व के व्यक्ति रहे हैं समाज में उनकी अलग पहचान रही है उनके पुण्य तिथि पर कार्यक्रम में उपस्थिति ऐसा संकेत करती है। 

प्रो सिंह ने कहा कि स्व ठाकुर उमानाथ सिंह का नाम लिये बगैर जौनपुर परिभाषित नहीं होता है। उन्होंने अपने जीवन काल में अच्छे काम किये इसीलिए यहाँ पर इतनी बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। इसी क्रम में कुलपति ने कहा कि सिर्फ कक्षा में पढ़ाने वाला ही गुरु नहीं होता है बल्कि असली गुरु वह है जो समाज को अन्धकार से प्रकाश की ओर ले जाने का काम करे। उन्होंने ने कहा आज समाज एकाकी होता जा रहा है इस पर गहन मंथन की आवश्यकता है। उन्होंने पूर्वांचल विश्वविद्यालय को कार्यक्रम के माध्यम से सलाह दिया कि अच्छे महापुरुषों के बारे में विश्वविद्यालय में पढ़ाया जाना चाहिए ताकि आने वाली पीढ़ी को अपने महापुरुषों का ज्ञान हो सके। प्रो सिंह ने ठाकुर उमानाथ सिंह के पुत्र के पी सिंह एवं अनुज अशोक कुमार सिंह को सलाह दिया कि उनके पुण्य तिथि पर कुछ नया काम करना चाहिए ताकि उनकी यशगाथा चर्चा में बनी रहे। 


कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रदेश सरकार के आवास विकास राज्य मंत्री गिरीश चन्द यादव ने कहा कि ठाकुर उमानाथ सिंह के समय की सियासत और आज की राजनीति में जमीन आसमान का अन्तर हो गया है। उनके समय की राजनीति में खासी पारदर्शिता रहती थी लेकिन आज उसमें बड़ा अन्तर देखा जा रहा है। प्रदेश के सभी जिलों में आज ठाकुर उमानाथ सिंह के अनुयायियों की एक लम्बी फेहरिस्त है जो उनकी लोकप्रियता को दर्शाती है। 


उमानाथ सिंह स्मृति सेवा संस्थान के सचिव एवं टीडी पीजी कालेज के प्रबन्धक ठाकुर उमानाथ सिंह के अनुज अशोक कुमार सिंह ने कहा भाई साहब अपने जीवन काल में हमेशा कमजोर लाचार सहित दूसरों की सेवा में लगे रहते थे। राष्ट्रहित एवं सार्वजनिक कार्यों में हमेशा एक कदम आगे ही रहते थे। उनका सभी राजनैतिक दलों के लोगों से अच्छा ताल मेल रहता था।  जनपद के विकास के लिए सभी दल के लोगों से मंथन करते रहते थे। राम जन्मभूमि आन्दोलन में उन्हें जेल यात्रा भी करना पड़ा था ।


इस अवसर पर कालेज की प्राचार्य डा सरोज सिंह, पूर्व अध्यक्ष हरिश्चंद्र सिंह, ईश्वर देव सिंह, जगत नरायन दूबे, वशिष्ठ नरायन सिंह, सभा जीत द्विवेदी प्रखर,आदि ने अपने विचारों को व्यक्त किया। श्रद्धांजलि कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व कुलपति डा कीर्ति सिंह ने किया। इस अवसर पर शिक्षक संघ के अध्यक्ष विजय सिंह, अरविन्द सिंह, दिनेश कुमार  सिंह बब्बू, डा राधेश्याम सिंह, अजय कुमार सिंह, पंडित चन्द्रेश मिश्रा, संजीव सिंह, राजीव प्रकाश सिंह आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम में आये अतिथियों का स्वागत पूर्व सांसद के पी सिंह एवं अनुज अशोक कुमार सिंह ने किया। 

इसके पहले पुण्य तिथि पर स्व उमानाथ सिंह के परिजनों सहित उमानाथ सिंह स्मृति सेवा संस्थान के तत्वावधान में जिला अस्पताल पहुंच कर मरीजों को फल वितरित किया गया।