health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

किस जेल से फरार हुआ कैदी,फिर उठे जेल सुरक्षा पर सवालिया निशान,उसी जेल में बंद है माफिया मुख्तार अंसारी


बांदा-यूपी की जेलें अब सुरक्षित नहीं रह गई हैं। कभी जेलों में गैंगवार तो कभी कैदियों का कारागार से भाग जाना आम बात होती जा रही है। बांदा मंडल मुख्यालय के मंडल कारागार से भी एक कैदी आज अचानक से गायब हो गया यह तब हुआ जब बांदा में कुख्यात माफिया डॉन मुख्तार अंसारी बंद है। माफिया के बंद होने के चलते मंडल कारागार मैं सीसीटीवी कैमरे और हाई सिक्योरिटी तैनात की गई है।


आपको बता देंगे उस समय जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया जब विजय आरख नाम का एक कैदी अचानक से जेल से लापता हो गया साथी कैदियों ने बताया कि वह बैरंग लौट कर ही नहीं आया आनन-फानन में 3 घंटे तक प्रशासन ने पूरे जेल की सर्चिंग की लेकिन कैदी का कहीं पता नहीं चला है।


घटना के चलते जहां मंडल कारागार प्रबंधन और सुरक्षा को लेकर के बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं तो वही सिटी मजिस्ट्रेट का कहना है कि विजय आरख नाम का एक कैदी जो कि गिरवा थाना क्षेत्र का है वह शाम से मिसिंग पाया गया है जिसके चलते तलाश की जा रही है पूरे मंडल कारागार परिसर की तलाशी ली गई है लेकिन अभी तक वह कहीं मिला नहीं है सिटी मजिस्ट्रेट का यह भी कहना है कि उसने कहीं अपने आपको शायद कारागार में ही छिपा लिया है सवाल यह उठता है कि क्या सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों की मौजूदगी के बाद भी 3 घंटे तक अगर वह कैदी जेल में छिपा हुआ है तो अभी तक मिला क्यों नहीं आखिर आधा सैकड़ा से अधिक सीसीटीवी कैमरे से लैस इस मंडल कारागार में कैदी भागा तो कैसे और इतने सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के बाद भी जिस तरह से सुरक्षा की पोल खुल रही है वह निश्चित तौर पर चिंता का विषय है क्योंकि बांदा मंडल कारागार में बुंदेलखंड के कुख्यात दस्यु समेत माफिया डॉन मुख्तार अंसारी जैसे कुख्यात अपराधी बंद है।

जेल बवाल मामले में 100 से ज्यादा अज्ञात कैदियों पर 11 गम्भीर मामलों में जिला प्रशासन ने दर्ज कराया मुकदमा

जौनपुर-जिला जेल बवाल मामले में पुलिस की बड़ी कार्यवाही,100-150 अज्ञात कैदियों पर दर्ज हुआ मुकदमा,जेल के अंदर तोड़फोड़ और आगजनी को लेकर मुकदमा हुआ दर्ज,गंभीर धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा,हत्या के प्रयास समेत सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में मुकदमा दर्ज,11 गंभीर धाराओं में मुकदमा हुआ दर्ज*

कैदी की मौत के बाद कैदियों ने जेल पर किया कब्जा,पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए कई राउंड आशु गैस को गोले छोड़े गए,हालात बेकाबू


जौनपुर जिला जेल में आज दोपहर उस समय हड़कम्प मच गया जब आजीवन कारावास की सजा काट रहे  एक कैदी बागीश मिश्रा उर्फ सरपंच की मौत के बाद भारी बवाल हुआ।  एक कैदी की मौत से गुस्साए बंदियों ने जेल में जंगलराज कायम कर दिया।  सजायाफ्ता कैदियों और बंदियों ने जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए तोड़फोड़ व अस्पताल में आगजनी की सूचना हउ। बैरकों से बाहर आकर कैदियों ने जेल पर कब्जा कर लिया। जेली की पगली घंटी बजी,इसके अलावा फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों को मौके पर लगाया गया हूं,वही अंदर की निगरानी ड्रोन कैमरे की मदद जेल के अंदर की जा रही है,घटना की गम्भीरता को देखते हुए पुरे जिले की फोर्स को जेल पर बुला दिया है फिलहाल जेल के अंदर जिला प्रशासन के सभी आलाधिकारि मौके रुप मौजूद है फिलहाल जेल प्रशासन कैदियों को मानने में जुटी है,

हालात के मद्देनजर कई थानों की फोर्स और पीएसी जेल में पहुंची। हालात बेकाबू होने पर पुलिस ने कैदियों को नियंत्रित करने के लिए कई राउंड आंसू गैसे के गोले दागे। घंटों तक हंगामा चलता रहा। कैदियों ने


गैस सिलिंडर को भी कब्जे में ले लिया था। बताया जा रहा है कि आक्रोशित बंदी अंदर तोड़फोड़ करने के साथ ही पुलिस पर पथराव कर रहे थे।  शाम करीब साढ़े 4 बजे डीएम मनीष कुमार वर्मा और एसपी राजकरन नय्यर भी जेल में पहुंचे। ड्रोन कैमरे की मदद से पुलिस जेल के अंदर के हालात की निगरानी कर रही है। 

जिला पंचायत अध्यक्ष पद व ब्लॉक प्रमुख पद के लिए चुनाव की तारीखों का हुआ ऐलान,क्या है तारीख पढ़िए पूरी खबर


लखनऊ । त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के बाद ग्राम प्रधानों ग्राम पंचायत सदस्यों की शपथ ग्रहण और पहली बैठक संपन्न हो जाने के बाद बृहस्पतिवार को पंचायती राज विभाग की ओर से जिला पंचायत के चेयरमैन और ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव के कार्यक्रम का एलान कर दिया गया है। पंचायती राज विभाग की ओर से जारी की गई अधिसूचना के तहत जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए आगामी 5 जुलाई को जिला पंचायत सदस्यों द्वारा वोट डाले जाएंगे, वहीं ब्लाक प्रमुख पद के लिए क्षेत्र पंचायत सदस्य 15 जुलाई को अपने वोट डालकर ब्लाक प्रमुख का निर्वाचन करेंगे, पंचायती राज विभाग की ओर से जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव की अधिसूचना और मतदान व निर्वाचन की तारीखें घोषित कर दिए जाने के बाद अब एक बार फिर से प्रदेश के गांव देहात में पंचायती चुनाव की गतिविधियां जोर पकड़ ली है, जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख पद के दावेदार अपनी-अपनी गोटियां बिछाते हुए अधिक से अधिक मतदाताओं को अपने पाले में खींचने की कोशिशों में जुट गए हैं, ग्रामीण राजनीति एक बार फिर से मुखर होते हुए चुनावी गतिविधियों में व्यस्त हो चली है, गांव की चैपालों व विभिन्न स्थानों पर होने वाली हुक्का बैठकों में फिर से पंचायत चुनाव की चर्चा होने लगी है, और लोग जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव की जोडतोड की राजनीति की तरफ टकटकी लगाए हुए देखने लगे हैं। 

प्रभारी मंत्री को नही पता कि किस थाने का किया निरीक्षण,लाइनबाजार और कोतवाली में नही दिखा फर्क सुनिये क्या कहा प्रभारी मंत्री ने


जौनपुर-प्रभारी मंत्री जिले के भ्रमण पर थे इस दौरान उन्होंने पूरे प्रशासनिक अमले के साथ जिला अस्पताल का निरीक्षण किया जहां पर वे इमरजेंसी वार्ड,ओपीडी,आक्सीजन प्लाट का निरीक्षण किया उसके बाद व लाइनबाजार थाने पर आ धमके जहां उन्होंने आगन्तुक रजिस्टर की जांच की उसके बाद रजिस्टर में अंकित 2 लोगों से फोन कर पुलिस के व्यवहार के बारे में पूछा और थाने में काम के बदले कोई पैसे लिए है कि नही उस बारे में भी पूछा लेकिन दोनों शिकायत कर्ताओं ने पुलिस को पास कर दिया है।आज जिले के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी व गिरीश यादव राज्य मंत्री व जिले के भाजपा विधायकों के साथ समीक्षा बैठक ली और जिले के प्रगति के बारे में जाना,इस दौरान पत्रकारों के तीखे सवालों से मंत्री बचते नजर आए,जिले पहले फेस में बने आक्सीजन प्लांट बनने के बाद पूरी तरह तैयार होकर जनता के लिए क्यो नही उपलब्ध हो पाया,जौनपुए में आक्सीजन की कमी के कारण कोरोना से मौत का जिम्मेदार कौन है और आज तक मेडिकल कालेज बनकर क्यो नही तैयार हुआ जिसपर प्रभारी मंत्री पहले तो पीएम मोदी व सीएम मोदी को फ्रंट फुट पर रखकर बचते नजर आए लेकिन पत्रकारो ने जब सवाल लगातार पूछते रहे तब उन्होंने बताया कि आक्सीजन प्लांट पर गोल मोल जवाब दे गए,तो वही मेडिकल कालेज के सवाल का जवाब देते हुए बोले कि 3-4 महीने में जनता के लिए तैयार होकर मरीजो के इलाज के लिए सुचारू रूप से आरम्भ हो जाएगा,वही लखनऊ से एक टीम मेडिकल कालेज के लिए जिले में आ गई है जब तक मेडिकल कालेज तैयार नही होता तब तक ये डाक्टर जिला अस्पताल में ही मरीजों की ओपीडी करेंगे।

जिले में नमामि गंगे योजना के तहत सभी गलियों का बुरा हाल है सभी गालियां या तो नालों तब्दील हो गई है उसमें पैदल, टू व्हीलर व फोर व्हीलर से जाने लायक नही रही,इस प्रभारी मंत्री ने जब न दे आये जिस पर डीएम जौनपुर ने जवाब दिया और कहा कि अमृत योजना में कार्यदायी संस्था का काम मानक से बहुत धीमी गति पर है जिसकी हम समीक्षा कर रहे है और इस संस्था पर जांच के बाद या तो इन्हें ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा या इनके ऊपर कार्य मे लापरवाही पाए जाने पर इनके ऊपर भारी जुर्माना लगाया जा सकता है


 प्रभारी मंत्री के औचक निरीक्षण में उनको सिर्फ जिला अस्पताल में गंदगी के अलावा सब कुछ आल इज वेल मिला,जिले के प्रभारी मंत्री लाइनबाजार थाने का निरीक्षण कर गए जबकि मीडिया ब्रीफिंग के दौरान उन्हें खुद ही नही पता कि उन्होंने लाइनबाजार का निरीक्षण किया कि सिटी कोतवाली जो जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है,ऐसे है जिले के प्रभारी मंत्री की उनको स्वयं ही नही पता कि लाइनबाजार थाना है सिटी कोतवाली थाना है,गजब का है हमारे मंत्री जी

निजी अस्पतालों के गले की फांस बनी कोरोना मरीजों से लूट,एल1 व एल2 अस्पतालों के बिल बाउचर अटके,डीएम मरीजों व तीमारदारों से कराएंगे पूछताछ, होगी जांच।


कुँवर दीपक सिंह 

जौनपुर। जिले के डेढ़ दर्जन से अधिक कोविड 19 के लिए अधिग्रहीत निजी अस्पतालों के बिल बाउचर जिला प्रशासन ने बीच मझधार में लटका दिया है, फिलहाल हुआ यह कि जब कोरोना ने पूरे देशभर में जब अपने चरम पर था तबाही मचा रहा था उस दौरान ऑक्सीजन, रेमडीसीवीर इंजेक्शन, बेड और तमाम दवाओं की कालाबाजारी भी चरम पर थी। बहती नदी में निजी अस्पताल भी हाथ धोने की बजाय नहाना शुरू कर दिए। इसी दौरान जागरूकता के मद्देनर पोल खोलो अभियान शुरू कर दिया।प्रशासन सख्त हुआ तो स्थिति नियंत्रण में आने लगी लेकिन कुछ निजी चिकित्सक लूट खसोट से बाज़ नहीं आए, अब वही लूट उनके गले की फांस बन गई है।


ध्यान रहे कि अप्रैल व मई मध्य तक कोरोना ने जमकर तबाही मचाई। चारो ओर हाहाकार मच गया। अस्पतालों, दवा की दुकानों से लेकर श्मशान तक कफ़न खसोटी जारी थी। दाह संस्कार के लिए जो लकड़ी 400 रुपए मन यानी 40 किलो थी वह 1200 रुपये में भी नहीं मिली, यहां तक कि आग के लिए शवों की कतार लगी रही। दूसरी ओर कोरोना का परफेक्ट इलाज किसी को नहीं पता, ऐसे में नकली रेमडेसीवीर इंजेक्शन 20-20 हजार रुपये में बिकने लगे वह भी इन्हीं अस्पतालों से जुड़े दलालों के जरिए। इसी तर्ज पर ऑक्सीजन सिलेंडर भी चल पड़ा। दलालों की फौज मैदान में थी। आम आदमी मरता क्या न करता वाली हालत में अपने परिजन की जान बचाने को जेवर जमीन गिरवी रखकर धरती के कथित भगवानों के आगे गिड़गिड़ा रहा था। अब सबकुछ देकर भी वह जान बचाने की भीख मांग रहा था ऐसे में वह उन अस्पतालों से किसी दवा, इंजेक्शन, ऑक्सीजन की रसीद कैसे मांगता लेकिन स्वास्थ्य विभाग लिखित शिकायतों का इंतजार करता रहा। कुछ ने रसीद मांगी तो उनके मरीजों को ही निकाल दिया गया।

हालांकि उस दौरान 24upnews ने सीएमओ, डिप्टी सीएमओ, प्रशासनिक अफसरों से पूछा तब पता चला कि अधिग्रहीत अस्पतालों को तीन रेट 4800, 7800 और नौ हजार रुपये लेने के अधिकार शासन की ओर से प्रशासन ने दिए थे। कहा था कि इससे अधिक रकम यदि भर्ती मरीज से ली गई तो शिकायत पर कार्रवाई होगी। हर दो घण्टे में सभी अस्पतालों को डिस्प्ले देना था कि कितने बेड खाली हैं। मरीजों की हालत कैसी है ताकि आमजन को भी समुचित जानकारी मिले पर ऐसा किसी अस्पताल में नहीं हुआ। कई अस्पतालों में तो लाखों हजारों रुपये रोज लिया जाता रहा। बाकी चीजों का कृतिम आभव ऐसा बनाया गया था कि तमाम लोग दहशत में भी मरने लगे।

स्वास्थ्य सूत्रों के मुताबिक अब जब कोरोना की रफ्तार धीमी होने लगी तब अस्पतालों के बिल जिला प्रशासन तक पहुंचने लगे। यानी मरीजों को लूटा और अब सरकार को भी चपत लगाने के कागज़ देना शुरू किया लेकिन डीएम ने एहतियात बरतते हुए पारदर्शिता के तहत रोक लगा दिया यह कहकर कि जब तक रेंडम मरीजों , तीमारदारों जो पूर्व में भर्ती थे उनको दिए गए बिल या भुगतान से मिलान नहीं कर लिया जाता है तबतक कोई बाउचर नहीं पास होगा।

केराकत के औरी अंडर पास बना वाटर पार्क ,राहगीरो की बड़ी मुश्किलें, हल्की बारिश ने खोली जिला प्रशासन की पोल


जौनपुर-जिले के केराकत विधानसभा के औरी में बने अंडर पास में पानी भर जाने से राहगीरो को आने जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बता दे कि इसके पहले भी कई बार अंडर पास में पानी भरने की खबर मीडिया की सुर्खियां बनी रही जबकि तीन जिलों को जोड़ने वाला केराकत मार्ग  पर रोजाना लगभग हजारो लोग यात्रा करते हुए आज़मगढ़, गाजीपुर व वाराणसी जाते है। ऐसे में औरी अंडर पास लोगों के लिए बरसात के दिनों ने मुश्किलो भरा सफर हो रहा है। राहगीरो से सवाल करो तो एक ही बात कह रहे हैं कि रेलवे क्रांसिंग से लोगों को निजात दिलाने के लिये अंडर पास  बनवाया गया अब वही अंडर पार्क बरसात के दिनों में सबसे बड़ी परेशानियों का सबक बन गया है। अब सबसे बड़ा सवाल की प्रदेश सरकार करोड़ो रूपये खर्च कर के  अंडर पास तो बना दी पर अंडर पास बनवाने से पहले जल निकासी कैसे की जाय इस पर विचार क्यो नही किया गया ?यह सवाल पूछे तो आखिर किससे पूछे? क्या किसी कर्मचारी, अधिकारी व जनप्रतिनिधि की निगाह पानी से भरे अंडर पास पर नही पड़ रही ? क्या आम जनता बरसात के दिनों में अपनी जान को जोखिम में डाल कर यात्रा करने को मजबूर होगी?

जौनपुर में भी यास तूफान का होगा असर,लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता-एडीएम

जनहित में ए0 डी0 एम0 ने मातहत, अधिकारियों व कर्मचारियों को  किया अलर्ट 

जौनपुर-अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व रामप्रकाश ने बताया है कि अवगत कराया है कि   पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय भारत सरकार एवं भारत मौसम विज्ञान विभाग मौसम केंद्र DC लखनऊ द्वारा जारी दैनिक पूर्वानुमान बुलेटिन संख्या 146/ 2021 दिनांक 26.5.2021 के माध्यम से निर्देशित किया गया है कि आज दिनांक 26 और 27 को एक या दो स्थानों पर गर्जन के साथ बिजली चमकने एवं झोंकेदार हवा (30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे ) चलने की संभावना है  तथा  दिनांक 28 -30 मई 2021 के मध्य  उपरोक्त के साथ साथ भारी वर्षा होने की भी संभावना है प्राप्त चेतावनी के आधार ।पर चक्रवात यास के कारण तेज हवाओं के साथ भारी वर्षा होने की संभावना है ।

उक्त के दृष्टिगत यह आवश्यक है की समस्त कार्यालय अध्यक्ष/ अधिकारीगण जनपद में घटित होने वाली संभावित घटना को न्यून करने हेतु आवश्यक मानव एवं भौतिक संसाधनों सहित अलर्ट मोड में रहे जिससे कि समयावधि के अंतर्गत प्रत्युत्तर कार्य किया जा सके एवं जन सामान्य को भी सचेत किया जाए।

सभी उपजिला अधिकारी/ तहसीलदार संबंधित राजस्व निरीक्षक एवं लेखपाल को कार्यक्षेत्र में क्रियाशील रहने हेतु निर्देशित करें एवं प्रतिदिन सुबह 7:00 बजे किसी भी प्रकार की घटना होने पर उसकी सूचना व्हाट्सएप ग्रुप Revenue Officers Jaunpur में भेजना सुनिश्चित करें यदि सूचना शून्य हो तो शून्य ही भेजें

जौनपुर पुलिस अपनी किरकिरी होते देख आनन फानन में जिला बदर अपराधी को गिरफ्तार कर भेजा जेल

कल हुआ था जिला बदर अपराधी व इंस्पेक्टर विनय प्रकाश के बीच बातचीत का ऑडियो हुआ था वॉयरल

पुलिस अधीक्षक जौनपुर द्वारा अपराध एवं अपराधियो के विरुद्ध चलाये जा रहे  अभियान के तहत अपर पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी केराकत के पर्यवेक्षण में मुझ प्र0नि0 विनय प्रकाश सिंह थाना केराकत जनपद जौनपुर द्वारा मय हमराही कर्मचारी गण के देखभाल क्षेत्र से जिला बदर अपराधी पीयूषकांत यादव उर्फ योगेन्द्र यादव पुत्र सुभाष यादव नि0 उदयचन्दपुर थाना केराकत जौनपुर को दिनांक 16.05.2021 को गिरफ्तार कर किया गया। गिरफ्तारी के आधार पर मु0अ0सं0 125/21 धारा 10 गुण्डा अधि0 का अभियोग पंजीकृत कर चालान माननीय न्यायालय किया गया।   

*गिरफ्तार अभियुक्त का नाम व पता-*

 1 पीयूषकांत यादव उर्फ योगेन्द्र यादव पुत्र सुभाष यादव नि0 उदयचन्दपुर थाना केराकत जौनपुर ।                                  

*आपराधिक इतिहास-*

1.मु0अ0सं0-125/21 धारा-10 यू0पी0 गुण्डा नियंत्रण अधि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर। 

2.मु0अ0स0-17/99 धारा-147/148/149/302/307/504/506 भा0द0वि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर।

3.मु0अ0स0-159/05 धारा-323/504/506 भा0द0वि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर।

4.मु0अ0स0-166/05 धारा-304 भा0द0वि0 व 3(2)5 sc/st act थाना केराकत जनपद जौनपुर।

5.मु0अ0स0-75/05 धारा-323/325/504 भा0द0वि0 एनसीआर 18/05 से केराकत जनपद जौनपुर।

6.मु0अ0स0-508/04 धारा-3(1)उ0प्र0 गुण्डा अधिनियम थाना केराकत जनपद जौनपुर।

7.मु0अ0स0-456/05 धारा-110 G CRPC थाना केराकत जनपद जौनपुर।

8.मु0अ0स0-262/07 धारा-110 G CRPC थाना केराकत जनपद जौनपुर।

9.मु0अ0स0-322/07 धारा-3(1)उ0प्र0 गुण्डा अधिनियम थाना केराकत जनपद जौनपुर।

10.मु0अ0स0-809/17 धारा-323/504/506 भा0द0वि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर।

11.मु0अ0स0-17B/99 धारा-3/25/27 आर्मस एक्ट थाना केराकत जनपद जौनपुर।

12.मु0अ0स0-503/05 धारा-409 भा0द0वि0 थाना केराकत जनपद जनपद जौनपुर।

13.मु0अ0स0-1019/10 धारा-10G CRPC थाना केराकत जनपद जौनपुर।

14.मु0अ0स0-826/10 धारा-323/504/506 भा0द0वि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर।

15.मु0अ0स0-827/10 धारा-323/504/506 भा0द0वि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर।

16.मु0अ0स0-96/19 धारा -3(1) उ0प्र0 गुण्डा नि0 अधि0 थाना केराकत जनपद जौनपुर।                                                                              

*गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम*

1.प्र0नि0 विनय प्रकाश सिंह थाना थाना केराकत जौनपुर ।

2.का0 मनोज यादव, का0 रंजित यादव थाना केराकत जनपद जौनपुर ।

जौनपुर पुलिस ने तीन पशु तस्करों व गैंगेस्टर में पाबंद आरोपियों से 78 लाख रुपये की संपत्ति जब्तीकरण की कार्यवाही से पशु तस्करों में हड़कम्प


जौनपुर-तीन गैंगेस्टरो ने लूट, छिनैती, शराब तस्करी से बना लिया था करोड़ों की संपत्ति,जिनके ऊपर पशु तस्करी,पशु क्रूरता व गैंगेस्टर में पाबंद प्रदेश के तीन बड़े पशु तस्कर के खिलाफ जिले की खेतासराय पुलिस टीम ने मजिस्ट्रेट व सीओ अंकित कुमार की निगरानी में आज जनपद पुलिस ने 78 लाख रुपये की संपत्ति जब्तीकरण करके कुर्क किया है,वही इस कार्यवाही से जिले के अन्य पशु तस्करों में हड़कम्प मच गया,वही एसपी जौनपुर राजकरन नय्यर  के दिशा निर्देश पर जनपद पुलिस लगातार पशु तस्करों पर नकेल लगाने के लिए कार्यवाही में जुटी थी,खेतासराय के तीन पशु तस्करों की 78 लाख की संपत्ति पुलिस ने किया है कुर्क।

              बता दें कि जिले के खेतासराय पुलिस ने प्रदेश के तीन बड़े पशु तस्कर व गैंगेस्टर एक्ट के आरोपियों स्थानीय थाना क्षेत्र के रानीमऊ के दिलशाद पुत्र मुस्लिम निवासी रानीमऊ थाना खेतासराय की एक मोटरसाइकिल जिसकी कीमत लगभग 50 हजार रुपये,मो0 आजम पुत्र शोएब निवासी रानीमऊ थाना खेतासराय जिसकी एक इंडिका कार जिसकी कीमत लगभग डेढ़ लाख रुपये,अब्दुल सलाम पुत्र स्वर्गीय मुस्लिम निवासी रानीमऊ थाना खेतासराय जनपद जौनपुर से दो बोलेरो व एक मकान जिसकी कीमत लगभग 76 लाख रुपये को सीओ शाहगंज ,तहसीलदार शाहगंज व स्थानीय पुलिस की मौजूदगी में कुर्की की कार्यवाही की गई है,CO अंकित कुमार की निगरानी में गैंगेस्टर में पाबंद प्रदेश के बड़े पशु तस्कर के खिलाफ कोई कार्रवाई से हड़कंप।

जिला अस्पताल के दो दर्जन से ज्यादा स्टॉप हुए कोविड पॉजिटिव, जिला अस्पताल हुआ सील,स्वास्थ्य महकमे में हड़कम्प


जौनपुर जिले में कोविड-19 तेजी के साथ बढ़ रहे हैं जिसके चलते जिला अस्पताल के 2 दर्जन से अधिक स्वास्थ्य कर्मी पॉजिटिव आने के बाद बाकी स्वास्थ्य कर्मियों में मचा हड़कंप 24 घंटे के लिए जिला अस्पताल को सील कर दिया है इमरजेंसी सेवा और कोविड की सेवाएं जारी रहेगा बाकी सारी सेवाएं बंद रहेंगे*

     बता दें कि पिछले एक सप्ताह से जिले में कोरोना का संक्रमण तेजी के साथ बढ़ रहा है ।  कोरोना के दूसरे चरण में डेढ़ हजार से अधिक लोग कोविड 19 के मरीज मिल चुके है तथा 9 लोगो की जान कोरोना महामारी ले चुका है । आज जिला अस्पताल के दो दर्जन स्टाफ कोरोना संक्रमित हो गए है , जिसके चलते इमरजेंसी सेवा को छोड़कर पूरे अस्पताल को 24 घंटे तक सील कर दिया गया है । 

पीआरबी वाहन को ट्रेलर ने पीछे से मारी ज़ोरदार टक्कर में तीन सिपाही हुए घायल,दो की हालत गंभीर

सांकेतिक फ़ोटो

जौनपुर-जिले के मछलीशहर कोतवाली के ठीक सामने खड़ी डायल 112 की बोलेरो को ट्रेलर ने पीछे से जोरदार टक्कर मार दी । जिससे पीआरबी मे बैठे तीन सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गये। दो की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया है।

बता दें कि जिले की मछलीशहर की पुलिस की 100 नम्बर बोलेरो गाड़ी रात मे गश्त के बाद सुबह 4 बजे कोतवाली के सामने आकर रूकी। उसमें बैठे पुलिसकर्मी उतरने ही वाले थे कि जौनपुर की तरफ से आ रहे ट्रेलर को जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर से गणेश गुप्ता (40) पुत्र शिवशंकर , प्रेमचंद (32) पुत्र फकीरे लाल और सुभाष चन्द्र (53) पुत्र शिवपूजन गंभीर रूप से घायल हो गये। जोरदार टक्कर की आवाज सुनकर थाने से लोग दौड़कर बाहर निकले और घायल पुलिस कर्मियों को सीएचसी पहुँचाया। जहाँ प्राथमिक उपचार के बाद गणेश गुप्ता और प्रेमचंद को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। ट्रेलर का चालक फरार हो गया लेकिन उसमें बैठे एक नाबालिग क्लीनर को पुलिस ने उतार लिया। बोलेरो गाड़ी को टक्कर मारते हुए ट्रेलर बगल स्थित मंदिर के खंभे से जाकर भीड़ गयी,फलस्वरूप मंदिर का खंभा भी धाराशायी हो गया।

साल की सबसे बड़ी खबर...एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वाज़े गिरफ्तार,सचिन वाजे ने एडिटर इन चीफ अर्णव गोस्वामी को किया था गिरफ्तार


साध्वी प्रज्ञा को पीटने वाला... राष्ट्रवादी पत्रकार अर्णब को गिरफ्तार करने वाला... अंबानी के घर के बाहर गाड़ी में जिलेटिन रखवाने वाला एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वाजे NIA के द्वारा गिरफ्तार हुआ है


- 1990 के दशक में 63 एनकाउंटर करने वाले सचिन वाजे को NIA ने गिरफ्तार कर लिया है । सचिन वाजे ने पूछताछ में ये स्वीकार कर लिया है कि मुंबई में एंटीलिया हाउस यानी मुकेश अंबानी के घर के बाहर मनसुख हीरेन की SUV और उसमें जिलेटिन सचिन वाजे ने ही रखवाए थे । 


- अब ये पूरा मामला धीरे धीरे खुलना शुरू हो गया है... दरअसल सचिन वाजे और मनसुख हीरेन (जिसकी गाड़ी अंबानी के घऱ के बाहर मिली) एक ही कॉलोनी में पास पास ही रहते थे । 


- ढाई महीने पहले मनसुख हीरेन से सचिन वाजे ने गाड़ी ले ली थी । बाद में कुछ दिन पहले दोबारा मनसुख हीरेन को गाड़ी वापस कर दी थी


- जब गाड़ी एंटालिया के बाहर मिली तो पुलिस ने गाड़ी के नंबर के आधार पर मनसुख हीरेन से ही पूछताछ की थी

ये 

- जब मनसुख हीरेन की हत्या हो गई तो उनकी पत्नी ने सचिन वाजे पर आरोप लगाया... पूछताछ में सचिन वाजे ने साजिश की बात स्वीकार कर ली


- आशंका ये भी है कि सचिन वाजे ने ही मनसुख हीरेन की हत्या भी की हो


- दरअसल ये मामला बहुत बड़ा होने वाला है... क्योंकि सचिन वाजे ने ही साध्वी प्रज्ञा की पिटाई की थी... सचिन वाजे ने ही हिंदुत्व और आतंकवाद की थ्योरी रची ... सचिन वाजे ने ही अर्णब की गिरफ्तारी का खेल रचा... सचिन वाजे के आतंकवादियों के साथ चैट भी सामने आ चुके हैं... तो क्या सचिन वाजे पाकिस्तानी आतंकवादियों के इशारे पर काम कर रहे थे 


 - ये भी हो सकता है कि सचिन वाज़े ने पाकिस्तानी आतंकियों के इशारे पर मुकेश अंबानी की जासूसी का प्लान तैयार किया हो ताकी भारत की अर्थव्यवस्था को चोट पहुँचाई जा सके... 


- अभी बहुत सारे सच सामने आना बाकी हैं लेकिन ये खुल्ला सच है कि सचिन वाजे साल 2007 में पुलिस छोड़ चुके थे । साल 2008 में उन्होंने शिवसेना ज्वाइन की थी और साल 2020 में वो दोबारा मुंबई पुलिस में ज्वाइन कर लिए थे 


- एंटीलिया केस में बहुत कुछ बड़े खुलासे बस होने ही वाले हैं 

पूर्व सांसद सफेद शर्ट व जींस पैंट केसरिया टोपी व मास्क पहनकर एमपी एमएलए कोर्ट में किया सरेंडर,14 दिन के लिए भेजे गए न्यायिक अभिरक्षा


प्रयागराज- जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह पर कमिश्नरेट पुलिस ने ईनाम घोषित किया है। बृहस्पतिवार को डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन ने बताया था कि पूर्व ज्येष्ठ उप प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के मामले में पूर्व सांसद साजिश करने के आरोपी हैं। 

प्रयागराज। पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने आज इलाहाबाद एमपी एमएलए कोर्ट में सरेंडर किया है कोर्ट में सुनवाई चल रही के बाद उनको 14 दिन के लिए न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया ।

बता दें कि पूर्व सांसद ने


आज करीब 11-12 बजे के बीच इलाहाबाद के हाई कोर्ट के एमपी एमएलए कोर्ट न0 2 जिसमे ए0के श्रीवास्तव की कोर्ट आज चल रही थी जिसमें पूर्व सांसद ने धनजंय सिंह ने इलाहाबाद MP MLA कोर्ट में किया सरेंडर, धनजंय ने किया सरेंडर,कल पूर्व सांसद धनन्जय सिंह के पिता राजदेव सिंह ने पत्रकारो से वार्ता कर सीएम योगी से लगाई थी सुरक्षा व न्याय की गुहार।

सूत्रों के हवाले से, पुराने मामले में जमानत कैंसिल कराई,लखनऊ के अजीत सिंह हत्याकांड में 25000 रुपये का इनाम घोषित है धनंजय सिंह पर।

धनंजय सिंह कोर्ट में सरेंडर किए हैं,पूर्व सांसद ने कोर्ट में जींस पैंट सफेद शर्ट मास्क और केसरिया टोपी पहन कर आए थे कोर्ट में प्रवेश करते समय वह काली कोर्ट में नहीं थे अगर बाहर पहन कर आए हो तो उसे मैं नहीं बता सकता उन्होंने एक पुराने लंबित मुकदमे मैं जमानतदार की जमानत वापसी करा कर सरेंडर किया है कोर्ट ने नैनी जेल भेज दिया है  तथा गैंगेस्टर के एक मुकदमे में उनका आरोप तय हुआ है।

आज उन्होंने गुपचुप तरीके से प्रयागराज की एमपी , एमएलए  कोर्ट में सरेंडर कर दिया। सूत्रों की मानें तो धनंजय वकील की यूनिफॉर्म पहनकर कोर्ट पहुंचे थे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष रविनंदन सहाय को दी गयी श्रद्धांजलि*


जौनपुर। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा जौनपुर द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष स्व. रविनंदन सहाय के श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।

महासभा के पदाधिकारियों ने स्मृतिशेष श्री सहाय के चित्र पर श्रद्धा-सुमन अर्पित करते हुए उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर प्रदेश महासचिव व जिलाध्यक्ष जौनपुर राकेश कुमार श्रीवास्तव, प्रदेश सचिव रवि श्रीवास्तव, महासचिव सुरेश अस्थाना, उपाध्यक्ष सरोज श्रीवास्तव, संगठन मंत्री श्याम रतन श्रीवास्तव, युवा अध्यक्ष संजय अस्थाना, राजन स्वरूप वर्मा, राजेश श्रीवास्तव, प्रदीप श्रीवास्तव उपस्तिथ रहे।

पुलिस को देख एक बार फिर विकास दूबे की तर्ज पर पलटी क्वालिस कार,अंतर्जनपदीय 5 बैंक लुटेरे चढ़े पुलिस के हत्थे


जौनपुर अंतर्जनपदीय बैंक लुटेरे गैंग का पुलिस ने किया पर्दाफाश,पुलिस के अनुसार पकड़े गए लुटेरे पुलिस को देख कर भागने की फिराक में थे पुलिस ने जब  इन लुटेरों का पीछा किया तो लुटेरे पुलिस पार्टी पर फायरिंग झोंक इसी दौरान  लुटेरों की क्वालिस गाड़ी पलट गई, जिससे सभी लुटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गिरफ्तार लुटेरों के पास से एक देसी तमंचा एक रिवाल्वर और चाकू और कुछ नुकीले उपकरण भी बरामद किया,इन आरोपियों में एक आरोपी सुभाष जिनके ऊपर पहले से ही 16 मुकदमे लूट सहित अन्य गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है,सभी आरोपी लूट की योजना बनाते समय गौराबादशाहपुर पुलिस ने धर दबोचा जिनके पास से बैंक में लूट करने करने के उपकरण भी पुलिस ने किया बरामद।सभी गिरफ्तार आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में लेकर न्यायालय भेज दिया है।

         बता दें कि जिले की गौराबादशाहपुर पुलिस ने बीती रात बैंक में लूट की योजना बनाते समय पांच शातिर लुटेरों को एक वाहन समेत असलहे व लूट की योजना में प्रयुक्त उपकरण को बरामद किया है यह शातिर लुटेरे पुलिस टीम को देख कर भागने लगे वही पुलिस ने लुटेरों की गाड़ी का पीछा किया जब भागने के दौरान लुटेरों की क्वालिस पलट गई जिसके बाद लुटेरे जनपद सहित आस पास के जनपदों में लूट की घटना को देते थे अंजाम।जिले में तमाम हत्या लूट के बाद एसपी जौनपुर ने पूरे जिले की पुलिस को एक्टिव मुड़ में कर दिया है पिछेल दो सप्ताह से हत्या   व लूट जैसे घटनाएं आम हो गयी थी जिस पर नकेल कसा है जिस पर लगातार जौनपुर पुलिस खुलासा कर रही है उसी क्रम में बैंक लूट की योजना बना रहे अंतर्जनपदीय गैंग का खुलासा किया है

एक और हत्या से दहला जौनपुर,ग्राम प्रधान को बदमाशों ने मारी गोली,सड़क जाम,पुलिस बैकफुट पर

जौनपुर-सरेराह बदमाशों ने ग्राम प्रधान राजकुमार यादव की गोली मारकर की हत्या,आक्रोशित लोगों ने शव को सड़क पर लगाया जाम,राज्यपाल के कार्यक्रम स्थल से महज कुछ दूरी पर घटना को दिया अंजाम,पुलिस ने मौके पर शांति व्यवस्था व जाम खुलवाने के लिए भारी पुलिस बल तैनात,सरायख्वाजा थाना के अन्तर्गत राजकुमार यादव ग्राम प्रधान मखमेलपुर विकास खन्ड शाहगंज को गोली मारकर हत्या कर दिया गया है,सरायख्वाजा थाना


क्षेत्र का मामला*

पुजारी यादव की मौत पर पुलिस ने एसओ बक्शा हमराही,एसओजी टीम पर हत्या,लूट जैसी गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज,

जौनपुर-किशन यादव उर्फ पुजारी यादव की पुलिस कस्टडी में मौत के मामले में 24upnews पर एक्सक्लुसिव एफआईआर की कॉपी जिसमे एसओ बक्शा की टीम व एसओजी की टीम के खिलाफ परिजनों ने दी थाने में।तहरीर,जिसमे गम्भीर धाराओं जैसे 302,394, 452,504 जैसे गंभीर धाराएं पुलिस टीम के ऊपर लगाई गई है*

बड़ी व दुःखद खबर, दाह संस्कार करके लौट रहे पिकअप सवार 6 की मौत,11 घायल,4 वाराणसी रेफर

जौनपुर-पिकअप और ट्रक की आमने सामने टक्कर में 6 कई मौत आधा दर्जन लोग घायल, सभी लोग वाराणसी से दाह संस्कार करके लौट रहे थे, जलालपुर थाना क्षेत्र का मामला,घटना की सूचना पर पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा और घायलों को इलाज के लिये भेजा गया जिला अस्पताल, जौनपुर-वाराणसी मार्ग पर लहंगपुर के पास हुई दुर्घटना जिसमे 11 घायल जिसमे 5 जिला अस्पताल भेजे गए और 4 घटनास्थल से वाराणसी रेफर अन्य को आई हल्की चोटें*

     बता दें कि घटना जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र के लहंगपुर के समीप जौनपुर वाराणसी की सीमा पर हुआ जब वारणसी से दाह संस्कार करके परिजन लौट रहे थे,सभी लोग जिले के सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव के रहने वाले है,घायल इस प्रकार से है जो जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है-
1-राकेश पुत्र शीतला
2-उमाशंकर पुत्र अमरजीत
3-रमाशंकर यादव पुत्र बोधि यादव
4-धमेंद्र यदाव पुत्र लक्ष्मी शंकर
और अन्य को 4 को घटनास्थल से वाराणसी के लिए भेज दिया गया और कुछ आयी है हल्की चोटें।

बसपा के जेपी ने मल्हनी के लिए किया नामांकन,सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था

जौनपुर- आगामी 3 नवंबर को संपन्न होने जा रहे मल्हनी विधानसभा उपचुनाव हेतु आज  बसपा प्रत्याशी जय प्रकाश द्वारा 367-मल्हनी विधानसभा उप चुनाव के लिए किया गया नामांकन, कलेक्ट्रेट के न्यायालय कक्ष में किया गया नामांकन,इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रही।