health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

यूपी के 4 आईपीएस अफसरों का तबादला,कानपुर कांड के सीओ के लेटर पर गंभीरता से न लेना पड़ा भारी,अंनत देव डीआईजी मुरादाबाद बनाया गया

लखनऊ-यूपी के चार आईपीएस अफसरों के हुए तबादले
प्रभाकर चौधरी एसएसपी मुरदबाबाद,
अमित पाठक एसएसपी वाराणसी
अनन्त देव को यूपी एसटीएफ से हटाया गया,आईजी पीएससी मुरादाबाद में की गई नई तैनाती
सुधीर कुमार एसएसपी एसटीएफ लखनउ

यूपी में 10 एआरटीओ का हुआ तबादला,एआरटीओ यूबी सिंह का सरकार ने बढ़ाया रुतबा,वाराणसी एआरटीओ प्रवर्तन बनाये गए

लखनऊ समेत प्रदेश के दस आरटीओ को मिली नई तैनाती
जौनपुर के एआरटीओ उदयवीर सिंह की रुतबा बढा, वाराणसी के बनाए गये आर0 टी 0ओ0 प्रवर्तन
लखनऊ के आरटीओ समेत प्रदेश के अन्य जनपदों में तैनात 10 अधिकारियों को नई तैनाती दी गयी है। प्रमुख सचिव परिवहन राजेश कुमार सिंह की ओर से आदेश जारी कर दिया गया है। सभी अधिकारियों को कार्यालय आदेश जारी करते हुए तत्काल तैनाती स्थल पर पहुंचकर कार्यभार ग्रहण करने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रमुख सचिव ने बताया कि लखनऊ ट्रांसपोर्टनगर आरटीओ कार्यालय में तैनात एआरटीओ (प्रवर्तन) संजीव कुमार गुप्ता को आरटीओ के पद पर प्रोन्नति करते हुए उप निदेशक राजस्व एवं विशिष्ट अभिसूचना के पद पर सचिवालय में तैनाती मिली है। वहीं परिवहन आयुक्त मुख्यालय पर तैनात एआरटीओ राजेश कुमार गंगवार को आरटीओ (प्रशासन) पद पर झांसी में तैनात किया गया है।

इसके अलावा एआरटीओ (प्रवर्तन) अजय कुमार यादव को आरटीओ (प्रवर्तन) गोंडा, एआरटीओ (प्रवर्तन) राजेश कुमार मौर्या को गोंडा से आरटीओ (प्रशासन) प्रयागराज, एआरटीओ (प्रवर्तन) संतदेव सिंह अयोध्या से आरटीओ (प्रशासन) बांदा, एआरटीओ (प्रवर्तन) उदयवीर सिंह को जौनपुर से आरटीओ (प्रवर्तन) वाराणसी, एआरटीओ (प्रवर्तन) हिमेश तिवारी को गौतमबुद्धनगर से आरटीओ (प्रवर्तन) मुरादाबाद, एआरटीओ (प्रशासन) अरूण कुमार को रामपुर से आरटीओ (प्रशासन) आगरा, एआरटीओ प्रवर्तन राजेश सिंह को गाजियाबाद से आरटीओ (प्रवर्तन) मेरठ व एआरटीओ (प्रशासन) आरएन चौधरी को आजमगढ़ से आरटीओ (प्रवर्तन) आजमगढ़ के पद पर तैनाती की गई।

यूपी में 23 में से नौ कोरोना वायरस के संक्रमण से उबरे, सरकार बेहद गंभीर

लखनऊ- चीन से फैले कोरोना वायरस ने विश्व को अपने संक्रमण में ले लिया है। केंद्र के साथ ही यूपी सरकार इससे बचाव तथा सतर्कता को लेकर बेहद गंभीर है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि यूपी में कोरोना वायरस के 23 पॉजिटिव में से नौ लोग निगेटिव हो गए हैं। इन सभी को आइसोलेट किया गया था और इनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि राज्य में कुल 23 लोग  कोरोनो वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से नौ लोग इसके संक्रमण से उबर गए हैं, शेष 14 की हालत में भी काफी सुधार है। हमारे पास राज्य में पर्याप्त संख्या में आइसोलेशन वार्ड हैं। हम धीरे-धीरे इसकी संख्या भी बढ़ा रहे हैं। सरकार काफी प्रयास कर रही है। इससे निपटने के लिए सरकार हर कदम पर जनता के साथ है। उन्होंने कहा कि यूपी में 23 मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। जिनमें से नौ लोग ठीक हुए हैं। उन्होंने बताया कि खतरे को देखते हुए मॉल, स्कूल और कॉलेजों को बंद रखना पड़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने बहुत सारी गतिविधियों को रोक लिया है, सिनेमा घर, मॉल्स आदि को बंद कर दिया गया है। गैर जरूरी यात्राएं न करने और भीड़ भाड़ वाले स्थानों से बचने का भी आवाहन किया गया है। हम सभी को 'जनता कर्फ्यू' का पालन करना चाहिए, राज्य की सभी मेट्रो रेल, राज्य और सिटी बस सेवाएं कल बंद रहेंगी।

लखनऊ के KGMU में चार और में कोरोना वायरस की पुष्टि,उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस पॉजिटिव की संख्या 23

लखनऊ- चीन से फैले कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। केजीएमयू के मेडिसिन विभाग में नौ कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को रखा गया है। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस पॉजिटिव की संख्या 23 पहुंच गई है।लखनऊ में कोरोना वायरस से पीडि़तों की देखरेख में लगे जूनियर डॉक्टर के रिश्तेदारों में भी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है। आज जिन चार लोगों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है, उनमें जूनियर डॉक्टर के तीन रिश्तेदार शामिल हैं। लखनऊ में आज चार और में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हो गई है। इसके साथ ही लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में दर्जनों की स्कैनिंग जारी है। इनकी संख्या में बढ़ोतरी तय है। लखनऊ व आगरा में आठ-आठ पॉजिटिव केस मिलने के साथ ही उत्तर प्रदेश में अब संक्रमितों की संख्या 23 पर पहुंच गई है। लखनऊ में अब तक कुल आठ में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। इसके अलावा आगरा में आठ, नोएडा में चार, गाजियाबाद में दो और लखीमपुर खीरी में एक में कोरोना वायरस से संक्रमित है। केजीएमयू ने कहा कि इलाज के लिए मरीज अन्य अस्पतालों में भी भर्ती कराए जाएं।लखनऊ के जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में कुल नौ लोग भर्ती हैं। इनमें आठ लखनऊ के हैं जबकि एक लखीमपुर खीरी का युवक है। लखनऊ में शुक्रवार को जिन चार और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है उनमें दो महिला व दो पुरुष शामिल हैं। इसमें यूके से लौटकर आई एक महिला शामिल है। बाकी तीन पहले से कोरोना वायरस से संक्रमित के संपर्क में थे। केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि लखनऊ में सभी लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। नौ में से सात मामले हायर लोड वाले पाए गए हैं। लखनऊ में गोमतीनगर निवासी पॉजिटिव केस इंग्लैंड से लौटा है जबकि लखीमपुर खीरी निवासी टर्की से आया है। डॉ. सुधीर सिंह बताया कि दो और रोगियों की संक्रमण से पुष्टि हो गयी है। वर्तमान में इनकी संख्या नौ हो गयी है।

सीएम आज कर सकते घोषणा,दिहाड़ी मजदूरों को मिल सकते 1-1 हजार रुपये

लखनऊ- यूपी की योगी सरकार कोरोना वायरस के चलते सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे दिहाड़ी मजदूरों को एक-एक हजार रुपये उनके बैंक खाते में दे सकती है। उत्तर प्रदेश सरकार यह धनराशि करीब एक करोड़ दिहाड़ी मजदूरों को देने पर गंभीरता से विचार कर रही है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में गठित मंत्रियों की समिति ने गुरुवार को भी बैठक कर इस मसले पर विस्तृत विचार-विमर्श किया। कमेटी ने संबंधित प्रस्ताव मुख्यमंत्री को भेज दिया गया है। मुख्यमंत्री आज इस संबंध में घोषणा कर सकते हैं।वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने मजदूरों के जो आंकड़े दिए हैं उनमें 21 लाख से ज्यादा श्रम विभाग के पंजीकृत मजदूर हैं। साथ ही नगर विकास विभाग के 16 लाख दिहाड़ी सफाई कर्मचारी, 58 हजार ग्राम सभाओं के करीब 11 लाख मजदूरों को शामिल करने पर विचार किया। रिक्शा चालकों, निर्माण श्रमिकों, रेहड़ी-खोमचे वालों, पल्लेदारों, रेलवे कुली, मॉल आदि में काम करने वाले मजदूरों को शामिल करने पर भी विचार किया गया।

यूपी में कोरोना की चपेट में आये 19 लोग, लखनऊ में भी 5 लोग हुए कोरोना से संक्रमित

लखनऊ-यूपी सरकार के साथ ही लोगों के प्रयास के बाद भी चीन से फैले कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। लखनऊ में गुरुवार को किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में दो और संदिग्धों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो गई है। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या लखनऊ में पांच तथा उत्तर प्रदेश में 19 हो गई है। उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना को भले ही महामारी घोषित नहीं किया है, लेकिन महामारी जैसी सभी स्थितियों से निपटने का अलर्ट जारी किया गया है। अब तक उत्तर प्रदेश में 19 करोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। यहां पर लाखों लोगों की रोज स्कैनिंग की जा रही है। भारत-नेपाल सीमा के 2200 से अधिक गांवों को सैनिटाइज किया गया है।किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या पांच हो गई है। केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि लखनऊ में तीन लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। गुरुवार को दो नये पॉजिटिव केस आए हैं। दोनों ही मामले हायर लोड वाले पाए गए हैं। इनमें एक गोमतीनगर का निवासी है जबकि दूसरा लखीमपुर खीरी से लाया गया है। गोमतीनगर निवासी पॉजिटिव केस इंग्लैंड से लौटा है जबकि लखीमपुर खीरी निवासी टर्की से आया है। डॉ. सुधीर सिंह बताया कि दो और रोगियों की संक्रमण से पुष्टि हो गयी है। वर्तमान में संख्या पांच हो गयी है।लखनऊ में गोमतीनगर के विशाल खंड निवासी शख्स लंदन से लौटा है। उसे केजीएमयू के आइसोलेशन वार्ड में एडमिट कर इलाज किया जा रहा है। लखीमपुर खीरी निवासी मरीज में भी कोरोनावायरस की पुष्टि होने के बाद उसे भी एडमिट किया गया है। यह तुर्की से लौटा है। लखीमपुर का मरीज मंगलगंज में इलेक्ट्रॉनिक की दुकान करता है। वह 8 तारीख को तुर्की से यात्रा कर लौटा था। ऐसे में बुखार आया। उसने मैगलगंज, महोली, सीतापुर मे डॉक्टरों को दिखाता रहा। फायदा न होने पर कल केजीएमयू आया। ऐसे में कई लोगों में संक्रमण की आशंका है। केजीएमयू प्रशासन ने सभी डॉक्टरों और प्रोफेसरों की छुट्टियां रद कर दी गई। लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढती संख्या को देखते हुए यह फैसला लिया है। सभी को ऑन कॉल 24 घंटे तैयार रहने के लिए कहा गया। महामारी से निपटने के लिए उन्हें कभी भी बुलाया जा सकता है।

कोरोना से सतर्क खुद भी सावधानी बरत रहे मुख्यमंत्री ने कराई थर्मल स्क्रीनिंग

लखनऊ-उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या और बढ़ रही है। बुधवार को दो और पॉजिटिव केस मिले हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लोगों को इस वायरस से बचाव और जागरूक करने के लिए युद्ध स्तर पर जुट गई है। इसी क्रम में लखनऊ में बुधवार को प्रदेश सरकार के तीन वर्ष पूरे होने के अवसर पर लोक भवन में आयोजित कार्यक्रम में जाते समय सीएम ने खुद थर्मल स्क्रीनिंग कराई। आयोजन स्थल पहुंचे सभी मंत्रियों और अफसरों की भी थर्मल स्क्रीनिंग की गई। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के तीन वर्ष पूरे होने के अवसर पर लखनऊ स्थित लोक भवन में मुख्यमंत्री ने सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। इस दौरान कार्यक्रम में कम लोगों को आने की सलाह दी गई थी। कार्यक्रम में कोरोना वायरस से बचाव के पूरे इंतजाम किये गए थे। सभी आगंतुकों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही थी। यहां तक की योगी आदित्यनाथ की भी थर्मल स्क्रीनिंग की गई। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद सीएम ने स्कैनर के बारे जानकारी भी ली।सीएम योगी के अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उपमुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा, मुख्य सचिव आरके तिवारी आदि की भी थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई।कोरोना वायरस से सजगता दिखाते हुए योगी सरकार ने कई अहम निर्णय किए हैं। जनता को भीड़भाड़ से बचने की लगातार सलाह के साथ सख्त कदम भी उठाए जा रहे हैं। अब तो सरकारी कर्मियों को भी सरकार वर्क फ्रॉम होम की सुविधा देने जा रही है। मुख्य सचिव को इसकी व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं। वहीं, प्रदेश के सभी स्कूल-कॉलेज, शिक्षण संस्थान बंद करते हुए दो अप्रैल तक सभी परीक्षाएं (सीबीएसई और आइसीएसई छोड़कर) भी स्थगित कर दी हैं। इस अवधि में जनता दर्शन, समाधान दिवस, तहसील दिवस और धरना-प्रदर्शन पर भी रोक लगा दी गई है। योगी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर गुरुवार (19 मार्च) से प्रस्तावित भारतीय जनता पार्टी का अभियान स्थगित कर दिया गया है। प्रदेश महामंत्री व अभियान प्रभारी गोविंद नारायण शुक्ला ने बताया कि कोरोना वायरस से बचाव को 19 से 24 मार्च तक बूथ, सेक्टर स्तर तक आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बहाल कर विकास व विश्वास के नए दौर में ले जाने में पाई सफलता

लखनऊ-उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की योगी सरकार ने 18 मार्च को अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे कर लिये हैं। इस अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को बताया। लखनऊ में बुधवार को आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ कहा कि चुनौतियों और संभावनाओं के महासमर में संकल्पों और सिद्धांतों की नाव से यात्रा करते हुए आज उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार ने तीन वर्ष पूरे कर लिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने राज्य में कानून व्यवस्था बहाल की है, विकास कार्यों की गति को बढ़ाया और लोकतांत्रिक मूल्यों में आम लोगों के विश्वास को मजबूत किया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने एक पुस्तक का विमोचन भी किया। मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ ने कहा कि 403 विधानसभाओं की अलग-अलग पुस्तिकाएं आ रही हैं। उन पुस्तिकाओं में देश, प्रदेश, जिले और उन विधानसभा क्षेत्र में हुए कार्यों का उल्लेख है। लखनऊ में बुधवार को इस पुस्तक के विमोचन के साथ ही गुरुवार से अलग-अलग जिलों में शुरू होगा।

कोरोना वायरस प्रकोप के चलते 22 मार्च तक बंद होने वाले सभी स्कूल व कॉलेज अब दो अप्रैल तक बंद करने की घोषणा सीएम

लखनऊ-विश्व भर में चीन से फैला कोरोना वायरस का कहर धीरे-धीरे अब बढ़ता जा रहा है। इससे बचाव को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार काफी सतर्क है। योगी सरकार ने कैबिनेट की बैठक के बाद प्रदेश में सभी स्कूल व कॉलेज को दो अप्रैल तक बंद करने की घोषणा की है। पहले सरकार ने सभी स्कूल-कालेज को 22 मार्च तक बंद करने का आदेश जारी किया था। स्कूल व कॉलेज को दो अप्रैल तक बंद करने के साथ ही योगी सरकार ने अगले आदेश तक सभी परीक्षाओं को भी स्थगित कर दिया है। लोकभवन में कैबिनेट की बैठक के साथ सभी स्कूल-कॉलेज दो अप्रैल तक बंद करने के साथ ही परीक्षाओं को अगले आदेश तक स्थगित करने का भी निर्णय लिया है। इसके साथ ही फैसला लिया गया है कि निजी क्षेत्र के लोग घर से काम करें। कोरोना वायरस से संक्रमित सभी लोगों का मुफ्त इलाज होगा। इसके साथ ही सभी धरना तथा प्रदर्शन पर भी पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं को भी रद करने के साथ ही प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों को भी बंद किया गया है। सरकार ने सभी धर्म गुरुओं से इसमें सहयोग की अपील भी की है। मंदिर, गुरुद्वारा तथा मस्जिद को भी बंद रखा जाएगा।उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमण को महामारी के समकक्ष घोषित करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेश में सभी स्कूल व कॉलेजों को अब दो अप्रैल तक बंद करने की घोषणा की है। पहले स्कूल व कॉलेजों को 22 मार्च तक बंद रखने का निर्देश जारी किया गया था। सरकार ने इसका समय बढ़ाने का निर्णय 20 मार्च को समीक्षा के बाद करने की योजना बनाई थी, लेकिन आज ही आदेश जारी कर दिया है।योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस के बचाव के इंतजाम की हर प्रकार की मॉनिटरिंग खुद ही कर रहे हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रदेश में समय-समय पर एडवाइजरी जारी की जा रही है।उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 15 लोगों में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया था, जिसमें से आगरा के चार लोग नई दिल्ली से स्वस्थ होकर लौटे हैं। आगरा में आठ, नोएडा में तीन, लखनऊ व गाजियाबाद में दो-दो कोरोना पॉजिटिव हैं।लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के साथ ही संजय गांधी पीजीआई, गोरखपुर के बाब राघव दास मेडिकल कॉलेज तथा लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस व बलरामपुर अस्पताल में इससे संक्रमित लोगों को भर्ती करने की सुविधा है। इसके साथ ही किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज में इसके सैंपल जांचने की सुविधा प्रदान की जा रही है। प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में आइसोलेशन वॉर्ड बनाया गया है। प्रदेश की सभी सीमा पर पर्याप्त सर्विलांस सिस्टम लगा है।

आज योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में लगेगी दस प्रस्तावों पर मुहर

लखनऊ-प्रदेश की योगी सरकार तीन वर्ष पूरा करने की कगार पर है। 19 मार्च 2017 को शपथ लेने वाली सरकार तीन वर्ष के कार्यकाल पूरा करने से पहले आज कैबिनेट की बैठक में दस प्रस्ताव पर मुहर लगाएगी। सीएम की अध्यक्षता में लोक भवन में होने वाली कैबिनेट की बैठक में दस से ज्यादा प्रस्तावों पर मुहर लग सकती है।बताया जा रहा है कि इसमें औद्योगिक विभाग, उच्च शिक्षा विभाग और गृह विभाग के कई प्रस्तावों को मंजूरी मिलेगी। पीपीपी मॉडल के मेडिकल कालेजों के प्रस्ताव के विस्तार को भी हरी झंडी मिल सकती है।सीएम सरकार एक नया रिकॉर्ड कायम करने जा रही है। आगामी 19 मार्च को उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री के तौर पर तीन वर्ष पूरे हो जाएंगे। मुख्यमंत्री के तौर पर उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल के तीन वर्ष होते ही वो भाजपा के ऐसा करने वाले उत्तरप्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बन जाएंगे, जिसने उत्तर प्रदेश में तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा किया है। सीएम

लखनऊ में पुल‍िस और लुटेरों के बीच हुई फायर‍िंंग

लखनऊ-पीजीआइ कोतवाली क्षेत्र में उत्तरेठिया के पास आज तड़के पुलिस की लुटेरों से मुठभेड़ हो गई। इस दौरान दोनों ओर से हुई फायरिंग जिससे एक लुटेरे के पैर में लगी गोली, जबकि दूसरे लुटेरे को पुलिस ने पकड़ लिया। दोनों के खिलाफ लूट के मुकदमे दर्ज हैं। इनमें से एक लुटेरे पर अलीगंज थाने से गैंगस्टर भी लग चुका है।एसीपी विभूतिखंड स्वतंत्र कुमार सिंह के मताबिक लुटेरों के लखनऊ आने की सूचना मिली थी। इस पर रायबरेली रोड पर पुलिस की टीमें लगी हुई थी। इस दौरान ही उत्तरेठिया के पास बाइक सवार दो युवक संदिग्ध दिखे तो पुलिस ने उन्हें रोका। गाड़ी रुकते ही बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस ने भी फायर किया। इस दौरान एक लुटेरे मतीन पैर में गोली लगने से घायल हो गया था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मतीन मूल रूप से सीतापुर का रहने वाला है। उसके साथ मौजूद शाहजहांपुर निवासी देशराज उर्फ देवराज गौतम को पुलिस ने दौड़ा कर पकड़ लिया।मतीन के खिलाफ अलीगंज व विकास नगर में लूट के मुकदमे हैं। इसके गिरोह में एक दर्जन से ज्यादा लोग है। इसमें दो लोग जेल में है। पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने मुठभेड़ में शामिल इंस्पेक्टर पीजीआई केके मिश्र और इंस्पेक्टर रामसूरत सोनकर समेत पूरी टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है। इस मुठभेड़ के बारे में सीतापुर और शाहजहांपुर पुलिस को भी सूचना दे दी गई है।लुटेरों के पास बरामद बाइक सीतापुर से चोरी की गई थी। देशराज ने यह बात कुबूली है। इस पर ही पीजीआई पुलिस अब सीतापुर पुलिस से इस बारे में पूरा ब्योरा जुटा रही है। इन लोगों ने सीतापुर के कुछ बदमाशों का नाम लिया है जो दोनों लुटेरों को शरण देते थे।  

आज सभी मंत्री जिलों में कोरोना से बचाव और उपचार के प्रबंध देखेंगे,मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

लखनऊ-कोरोना वायरस और मौसम की मार से आहत आमजन के मन में सरकार भरोसे का अहसास जगाना चाहती है। इसकी जिम्मेदारी योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों को सौंपी है।आज सभी मंत्री जिलों में कोरोना से बचाव और उपचार के प्रबंध देखेंगे। साथ ही बारिश और ओलावृष्टि से किसानों को हुए नुकसान, मुआवजा आदि का जायजा लेकर सरकार को रिपोर्ट सौंपेंगे।कैबिनेट मंत्रियों के साथ तो मुख्यमंत्री पहले ही बैठक कर चुके थे। रविवार को राज्य मंत्रियों को अपने कालिदास मार्ग स्थित आवास पर बुलाया और बैठक की। बैठक में शामिल मंत्रियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कोरोना और किसानों की स्थिति को लेकर चिंता जताई। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि सोमवार को सभी मंत्री अपने गृह जिले या प्रभार वाले जिलों में जाएंगे। वहां जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की व्यवस्थाएं देखेंगे। सुनिश्चित करेंगे कि वहां कोरोना के उपचार के सभी प्रबंध हों। इसके बाद मंत्रियों को ओलावृष्टि और बारिश से प्रभावित गांवों का दौरा करना होगा। स्थानीय जनप्रतिनिधि और अधिकारियों को साथ लेकर प्रभावित किसानों से मुलाकात कर मंत्री उन्हें अहसास कराएंगे कि संकट की घड़ी में सरकार उनके साथ है। इससे प्रशासनिक अधिकारियों को भी गंभीरता का संदेश मिलेगा। सुनिश्चित किया जाएगा कि सभी प्रभावितों को मुआवजा मिल गया या नहीं। योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि सभी मंत्री दौरे के बाद कोरोना और प्राकृतिक आपदा संबंधी रिपोर्ट सरकार को सौंपेंगे। मंगलवार शाम को इन विषयों पर फिर से समीक्षा बैठक की जाएगी।कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार सभी नगर निकायों में सफाई और जागरूकता के लिए विशेष अभियान चलाने जा रही है।सभी नगर आयुक्त और अधिशासी अधिकारी अपने-अपने निकाय क्षेत्र में विशेष कार्य दल बनाकर सफाई अभियान चलाएं। अधिकारियों की वार्डवार जिम्मेदारी तय करें। अपनी देखरेख में सफाई कराएं और कूड़ा लैंडफिल साइट पर भिजवाएं। इस अभियान में सभी नाले-नालियां भी साफ किए जाएंगे। भीड़भाड़ वाले सार्वजनिक स्थलों पर सफाई के साथ ही जागरुकता के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई प्रचार-प्रसार सामग्री वितरित की जानी है। नगर विकास मंत्री ने बताया कि इस अभियान के लिए सरकार 3.82 करोड़ रुपये अवमुक्त कर चुकी है। 

कोरोना तथा ओलावृष्टि को लेकर मुख्यमंत्री बेहद गंभीर,ओलावृष्टि से प्रभावित किसान को तत्काल सहायता देने का निर्देश

लखनऊ- चीन से फैले कोरोना के कहर का व्यापक असर विश्व व्यापी हो चुका है। यूपी में भी अभी तक सात दर्जन लोग इसकी चपेट में हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को बेमौसम बारिश तथा ओलावृष्टि से प्रभावित किसान को तत्काल सहायता देने का निर्देश भी दिया है। मुख्यमंत्री ने लोकभवन में मुख्य सचिव तथा सभी वरिष्ठ अधिकारी के साथ बैठक के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी जिलाधिकारियों को बेमौसम बारिश तथा ओलावृष्टि से हुए नुकसान का जायजा लेने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने जिलाधिकारियों को सभी प्रभावित किसानों को तत्काल सहायता भी देने का निर्देश दिया। प्रदेश में ओलावृष्टि तथा बारिश को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। उन्होंने प्रभावित जिलों के डीएम को सभी पीडि़तों को तत्काल राहत राशि देने का निर्देश दिया। इसके साथ ही तत्काल राहत राशि उपलिब्ध कराने को कहा है। सीएम ने जिलाधिकारियों से नुकसान पर रिपोर्ट मांगी है।उत्तर प्रदेश में कोरोना के कहर को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की। उत्तर प्रदेश में अब तक 11 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए प्रदेश में स्कूल-कॉलेज और सिनेमा हॉल को बंद करने पर विचार किया है। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह भी मौजूद थे। इससे पहले गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग ने मीडिया बुलेटिन जारी किया था। इसमें दिए गए आंकड़ों के अनुसार, यूपी  में अब तक कुल 11 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। इन सभी लोगों के टेस्ट पॉजिटिव निकले हैं। अब तक आगरा में सात, गाजियाबाद में दो, नोएडा और लखनऊ में एक-एक इससे प्रभावित हैं। सभी का इलाज चल रहा है।कोरोना वायरस से बचाव को लेकर वाराणसी में डीएलडब्लू सिनेमा हॉल अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया गया है। डीएलडब्ल्यू सिनेमा हॉल वाराणसी के डीरेका का परिसर में स्थित है। जो रेलवे कर्मचारियों के लिए संचालित होता है। देश में लगातार कोरोना वायरस के संदिग्ध मिलने के कारण इससे बचाव के लिए यह निर्णय लिया गया है। 

केजीएमयू का रेजीडेंट निलंबित,फर्जी वीडियो बनाकर अपने ही विभाग की महिला डॉक्टर को कर रहा था परेशान

लखनऊ-केजीएमयू में मेडिसिन विभाग के रेजीडेंट डॉक्टर तृतीय वर्ष को अपने ही विभाग की महिला डॉक्टर के साथ अभद्रता व उत्पीडऩ के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। उनके परिसर में घुसने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। महिला डॉक्टर की शिकायत पर मामले की जांच केजीएमयू की विशाखा कमेटी को सौंपी गई है आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कोतवाली में तहरीर भी दी गई है।मेडिसिन विभाग की रेजीडेंट डॉक्टर ने कुलपति से शिकायत की थी। आरोप लगाया है कि आरोपित रेजीडेंट ने उनके साथ अभद्रता की। आरोप है कि वह करीब ढाई साल से लगातार प्रताडि़त कर रहा है। फर्जी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देने के साथ वाट्सएप पर गंदे मैसेज भेजता है। महिला डॉक्टर का कहना है कि दो दिन पहले विभाग के प्रोफेसर केसाथ मरीजों को देख रही थीं, इसी दौरान आरोपित डॉक्टर ने उन्हें धमकी दी।शिकायत पर कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट ने मामले को महिला उत्पीडऩ सेल को सौंप दिया है। साथ ही चौक कोतवाली पुलिस को पत्र भेजकर आरोपित चिकित्सक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के लिए कहा है। पड़ताल के लिए विभागीय सीसी कैमरे के फुटेज भी देखी गई है, जिसमें आरोपित हाथ में रॉड लेकर गांधी वार्ड में घूमता पाया गया। चीफ प्रॉक्टर प्रो. आरएएस कुशवाहा ने आरोपित रेजीडेंट को निलंबित कर दिया है। केजीएमयू प्रशासन ने उसके परिसर में घुसने पर पाबंदी लगा दी है।फर्जी वीडियो बनाकर महिला डॉक्टर को कर रहा था परेशान, केजीएमयू का रेजीडेंट निलंबित

मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ ने द‍िए कड़े न‍िर्देश,पॉक्सो एक्ट के मामलों की हो साप्ताहिक समीक्षा

लखनऊ-मासूमों के साथ जघन्य घटनाओं में कार्रवाई को लेकर मुख्यमंत्री ने बुधवार को कड़े निर्देश दिए हैं।योगी आदित्यनाथ ने पॉक्सो के मामलों की हर सप्ताह प्रगति की समीक्षा किए जाने का निर्देश भी दिया है। उन्नाव में नौ साल की मासूम से दङ्क्षरदगी की घटना के बाद योगी आदित्यनाथ ने ऐसे मामलों में अपराधियों के खिलाफ पैरवी को और प्रभावी बनाए जाने की बात कही।मुख्यमंत्री ने महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ बनाने के साथ उनके मुकदमों में प्रभावी पैरवी के निर्देश दिए। कहा कि ऐसे मामलों में अपराधियों को अधिकतम सजा दिलाई जाए। उन्होंने पॉक्सो एक्ट के मुकदमों के जल्द निस्तारण के लिए नए कोर्ट के गठन में तेजी लाए जाने का निर्देश भी दिया। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसी कड़ी में बुधवार को लोकभवन में उच्चस्तरीय बैठक में न्यायालयों में चल रहे पॉक्सो एक्ट के मुकदमों में पैरवी की कार्यवाही की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडेय भी उपस्थित रहे। अपर मुख्य सचिव गृह ने शासन स्तर पर भी पाक्सो एक्ट में हुई कार्यवाही तथा इससे जुड़े अभियोजन कार्यों की हर सप्ताह समीक्षा किए जाने का निर्देश दिया।अवस्थी ने एडीजी अभियोजन को पॉक्सो एक्ट सहित सभी गंभीर अभियोगों में अभियुक्तों को जल्द से जल्द अधिकतम सजा दिलाने के लिए पैरवी तेज करने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी डीएम व एसएसपी/एसपी को मानीटङ्क्षरग सेल की नियमित बैठकें करने व प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित कराने तथा अभियोजक वार पॉक्सो एक्ट से मुकदमों में अलग-अलग समीक्षा किए जाने का निर्देश भी दिया। बैठक में पॉक्सो एक्ट के नये कोर्ट की जल्द स्थापना के लिए प्रमुख सचिव न्याय से समन्वय बनाकर कार्यवाही सुनिश्चित कराने का निर्णय लिया गया।अपर मुख्य सचिव गृह ने एडीजी अभियोजन को जिला शासकीय अधिवक्ता व अपर जिला शासकीय अधिवक्ता के पैरवी कार्य की समीक्षा करने तथा शिथिलता बरतने वालों की नियमित रिपोर्ट गृह विभाग व न्याय विभाग को भेजने का निर्देश दिया। अभियोजन कार्य में तेजी लाने व व्यावहारिक कठिनाईयों के शीघ्र निस्तारण के लिए एक दिवसीय विशेष सेमिनार कराने का निर्देश भी दिया। 

यूपी सरकार को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं

लखनऊ-नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में लखनऊ में हिंसा के दौरान सरकारी तथा अन्य संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने के आरोपियों की फोटो होर्डिंग्स तथा पोस्टर्स में लगाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले पर असहमति जताई है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ में हिंसा के दौरान तोड़फोड़ करने वाले आरोपियों के फोटो वाले होर्डिंग्स तथा पोस्टर्स को हटाने के निर्देश को चुनौती दी थी।न्यायमूर्ति यूयू ललित और अनिरुद्ध बोस की अवकाश कालीन पीठ आज उत्तर प्रदेश सरकार की याचिका पर सुनवाई की। सीएए विरोधी प्रदर्शन के दौरान लखनऊ तथा अन्य शहरों में संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के लखनऊ में लगे पोस्टर के मामले को सुप्रीम कोर्ट ने विचार के लिए तीन जजों की पीठ को भेजा। फिलहाल हाईकोर्ट के आदेश पर रोक नहीं है। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस उमेश उदय ललित और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की अवकाशकालीन बेंच इस मामले को बड़ी बेंच को भेजने का फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले पर रोक से इनकार कर दिया है। इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार को अब 16 मार्च तक सभी पोस्टर हटाने होंगे।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सभी महिलाओं को हार्दिक बधाई दी

लखनऊ-अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर उत्तर प्रदेश के  मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सभी महिलाओं को हार्दिक बधाई दी है। इस अवसर पर उन्होंने बधाई का एक ट्वीट भी किया है। मुख्यमंत्री महिला दिवस की हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि देश व समाज की प्रगति के लिए महिलाओं की समान भागीदारी आवश्यक है। इतिहास में अनेक महिलाओं के सन्दर्भ मिलते हैं, जिन्होंने अपने व्यक्तित्व और कृतित्व से उपलब्धियों के उच्चतम आयाम स्थापित किये।मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में भी महिलाएं अपने विशिष्ट कार्यों से समाज को राह दिखा रही हैं। प्रदेश सरकार महिलाओं तथा बालिकाओं के सम्मान, सुरक्षा और स्वावलंबन के प्रकृतसंकल्प है। इसके दृष्टिगत मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना सहित अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। हम उनके हर बढ़ते कदम पर साथ है। वह अपनी श्रेष्ठता लगातार साबित कर रही हैं और प्रदेश के साथ केंद्र सरकार भी उनके हर काम में अपना सहयोग प्रदान कर रही है।आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है और हमारा मंत्र है 'महिला स्वस्थ, तो परिवार स्वस्थ'।आज होने वाला आरोग्य मेला हमारी मातृशक्ति के सम्मान, अधिकार, समानता एवं सशक्तिकरण को समर्पित है।आपकी सरकार 8 मार्च को जन्म लेने वाली बालिकाओं को उपहार व माँ को पोषण युक्त आहार भी उपलब्ध कराएगी।मुख्यमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा कि आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है और हमारा मंत्र है 'महिला स्वस्थ, तो परिवार स्वस्थ'। आज होने वाला आरोग्य मेला हमारी मातृशक्ति के सम्मान, अधिकार, समानता एवं सशक्तिकरण को समर्पित है। उन्होंने आगे लिखा कि आपकी सरकार 8 मार्च को जन्म लेने वाली बालिकाओं को उपहार व माँ को पोषण युक्त आहार भी उपलब्ध कराएगी।अखिलेश ने लखनऊ में लगी होर्डिंग पर जताई नाराजगी, कहा- नागरिक अधिकारों को कुचल रही भाजपाउन्होंने कहा कि आधी आबादी पढ़ेगी, बढ़ेगी तभी समाज और देश आगे बढ़ेगा।नारी सशक्तिकरण सदैव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों के केंद्र में रहा है। हमारी माँ, बहन व बेटियों ने हर क्षेत्र में भारत का नाम पूरे विश्व में रोशन किया है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर नारी-शक्ति को सादर नमन। सरकार उनकी शिक्षा के साथ ही स्वास्थ्य पर भी ध्यान दे रही है। जिससे वह समाज को अच्छे नागरिक दें और प्रदेश तथा देश को तरक्की की लगातार राह दिखाती रहें। 

आईपीएस अधिकारी वैभव कृष्ण के पत्र पर एसआईटी के जांच में दो अफसर दोषी,तीन को दिया संदेह का लाभ

लखनऊ-प्रदेश में 5 आईपीएस अफसरों पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के मामले में गठित एसआईटी जाच टीम ने  अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है।सूत्रों के मुताबिक इस रिपोर्ट में 5 आईपीएस में से 2 अफसरों को दोषी पाया गया है साथ ही उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की सिफारिश की गई है।चौंकाने वाली बात ये है कि इसमें से एक अफसर के माफिया सुंदर भाटी से संबंधों का भी ज़िक्र है।जनवरी के पहले सप्ताह में 5 आईपीएस अफसरों के भ्रष्टाचार में लिप्त होने का मामला सामने आया था. मामले में नोएडा के तत्कालीन एसएसपी वैभव कृष्ण की शासन को भेजी गई एक रिपोर्ट लीक हुई थी। जिसमें आईपीएस डॉ अजय पाल शर्मा, सुधीर कुमार सिंह, हिमांशु कुमार, गणेश साहा और राजीव नारायण मिश्र पर कहीं न कहीं भ्रष्टाचार में लिप्त होने का जिक्र था।मामले में रिपोर्ट पर गंभीरता दिखाते हुए योगी सरकार ने डीजी विजिलेंस हितेश चंद्र अवस्थी की अध्यक्षता में एक एसआईटी बनाई थी। इस एसआईटी में आईजी एसटीएफ अमित यश और जल निगम के एमडी विकास गोठनवाल भी शामिल थे।एसआईटी ने पांचों आईपीएस अधिकारियों और चिट्ठी लिखने वाले वैभव कृष्ण के बयान दर्ज किए थे। जिन लोगों के इन आईपीएस अधिकारियों से संबंधों का जिक्र था, उनसे भी एसआईटी ने पूछताछ की थी. वैभव कृष्ण ने जो इलेक्ट्रॉनिक सबूत दिए थे, उसका भी एसआईटी ने परीक्षण किया।जानकरी के अनुसार एसआईटी ने एक हफ्ता पहले जांच पूरी कर शासन को रिपोर्ट सौंप दी है। सूत्रों के अनुसार इस रिपोर्ट में एक आईपीएस अधिकारी के पश्चिम के माफिया सुंदर भाटी से भी संबंधों का जिक्र है।यही नहीं एक वरिष्ठ आईपीएस पर भ्रष्टाचारी अधिकारी को बचाने की भी बात है।सूत्रों के अनुसार 5 में से दो अधिकारियों को दोषी मानते हुए एसआईटी ने सख्त कार्रवाई की सिफारिश की है। वहीं बाकी 3 आईपीएस अफसरों को संदेह का लाभ दिया गया है. मामला अब शासन के पास है।

राज्यपाल ने सीएसआर कॉनक्लेव के समापन समारोह में मीना मंच में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली 20 छात्राओं को किया सम्मानित

लखनऊ-राज्यपाल ने बेसिक शिक्षा विभाग से कहा है,कि सरकारी प्राइमरी स्कूलों के विद्यार्थियों का साक्षात्कार हर हफ्ते किसी न किसी प्रेरक शख्सियत से करवाएं।गुरुवार को राजधानी लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित कारपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) कॉनक्लेव के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि आनंदीबेन ने मीना मंच में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली 20 छात्राओं और स्कूलों की सूरत बदलने के लिए आर्थिक मदद देने वाली कंपनियों के नुमाइंदों को भी सम्मानित किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि शनिवार व रविवार के दिन सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को बस से विजिट कराएं। वह अच्छे स्कूल व कॉलेज व विभिन्न कार्यालयों में ले जाएं और काम के तौर-तरीकों के बारे में जानकारी दें। इससे उनके व्यक्तित्व का बेहतर विकास होगा। स्कूल लौटने पर यात्रा वृतांत का वर्णन कोई छात्र पेंटिंग से तो कोई लेख के माध्यम से करे। श्रेष्ठ तीन विद्यार्थियों के वर्णन दूसरे विद्यार्थियों से साझा करें।उन्होंने कहा कि गृह विभाग के सहयोग से बेसिक शिक्षा विभाग स्टूडेंट पुलिस कैडेट व्यवस्था लागू करे। इसमें 20 छात्र व 20 छात्राएं शामिल हों और वह अपने आसपास मुहल्ले में सामाजिक कुरीतियों को दूर करने में मदद करें और सेवाभाव के कार्य करें। कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रेणुका कुमार ने कहा कि इस बार विद्यार्थियों को गर्मी की छुट्टियों से पहले ही निश्शुल्क पुस्तकें बांट दी जाएंगी। उपस्थित लोगों को बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह ने भी संबोधित किया।इस सीएसआर कॉनक्लेव में 109 कंपनियों ने प्राइमरी स्कूलों की सूरत बदलने के लिए 114 करोड़ रुपये सीएसआर फंड से दिए। इससे स्कूलों में स्मार्ट क्लास व मूलभूत संसाधन मुहैया करवाए जाएंगे। राज्यपाल ने जिन कंपनियों के नुमाइंदों को सम्मानित किया उनमें एचसीएल फाउंडेशन के विनीत, माइक्रोसॉफ्ट के प्रज्योत सरन, इलाहाबाद बैंक के रविन्द्र सिंह, अरविंदो सोसाइटी के शशांक श्रीवास्तव, आइसीआइसीआइ बैंक के पारितोष जोशी, एक्सिस बैंक के शशांक श्रीवास्तव आदि शामिल हैं। 




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी होली मिलन समारोहों में न जाने का फैसला किया

लखनऊ- होली पर्व के रंग में कोरोना वायरस ने भंग डाल दिया है। संक्रमण से बचने और जनता को सतर्कता का संदेश देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी होली मिलन समारोहों में न जाने का फैसला किया है।कोरोना वायरस के प्रति सतर्कता के साथ ही स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर रखने के लिए अधिकारियों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही अलर्ट कर चुके हैं। बुधवार को योगी ने खुद किसी भी होली मिलन समारोह में न जाने की घोषणा कर दी। उन्होंने ट्वीट किया-'कोरोना वायरस एक संक्रामक वायरस है और इसका संक्रमण एक-दूसरे से फैलता है, इसलिए उपचार से महत्वपूर्ण है बचाव।मेरी सभी प्रदेशवासियों से अपील है कि सामाजिक समारोहों में जाने से बचें और अपनी व अपने परिवार की अच्छी तरह से देखभाल जिम्मेदारी के साथ करें। मेरी सभी प्रदेशवासियों से अपील है कि सामाजिक समारोहों में जाने से बचें और अपनी व अपने परिवार की अच्छी तरह से देखभाल जिम्मेदारी के साथ करें। मैं भी होली मिलन जैसे पवित्र आयोजन से व्यापक जनहित में दूर रहूंगा। सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें। उल्लेखनीय है कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी होली मिलन समारोहों में शामिल न होने की घोषणा कर चुके हैं। कोरोना वायरस के खौफ के चलते प्रदेश सरकार के प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने आठ मार्च को होने वाला होली मिलन समारोह स्थगित कर दिया है।