health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

मल्हनी विधानसभा में स्थित सभी थानों में तैनात 26 पुलिस कर्मियों को पुलिस लाइंस में कराया गया आमद,

जौनपुर-आगामी मल्हनी विधानसभा के उप चुनाव में मल्हनी विधानसभा से सटे छः थानों में तीन साल से ज्यादा समय तक कार्यरत पुलिस कर्मियों को पुलिस लाइंस से सम्बद्ध कर दिया गया है।

     बता दें कि कल देर रात एसपी जौनपुर के तबादले से पहले उन्होंने मल्हनी विधानसभा में स्थित 6 थानों में तैनात 26 पुलिस कर्मियों को पुलिस लाइंस में आमद कर दिया गया है,बता दें कि इस 26 सिपाहियो के ट्रांसफर के बाद देर रात एसपी अशोक कुमार का भी तबादला लखनऊ ईओडब्ल्यू में कर दिया गया जो एक डिमोशन के तौर पर माना जा रहा है।नवागत एसपी राजकरन अय्यर के आने से चर्चाओं का बाजार गर्म है जो 2012 बैच के आईपीएस है जो गोंडा जनपद से जौनपुर के लिए स्थानांतरण पर आ रहे है।


परिषदीय स्कूलों के छात्रों के निःशुल्क ड्रेस वितरण में भ्रष्ट सप्लायरो के विरोध में प्राथमिक शिक्षक संघ ने जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन।

वर्चुअल मीटिंग के जरिए हुई प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक।जौनपुर- प्राथमिक शिक्षक संघ की एक वर्चुअल बैठक जिलाध्यक्ष अमित सिंह की अध्यक्षता में हुई जिसमें विभिन्न विकास क्षेत्र के अध्यक्ष/मंत्री द्वारा बताया गया कि कुछ भ्रष्ट फर्म के लोग विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों पर उच्चाधिकारियों का नाम लेकर दबाव डाल रहे है कि एसएमसी की बैठक का कोरम पूरा करके ड्रेस हम लोंगो से ही लेना ही पड़ेगा क्योकि हमको बीएसए कार्यालय से ड्रेस बांटने का अधिकार प्राप्त हुआ है। इस पर जिलाध्यक्ष अमित सिंह ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी से बात किया तो वार्ता में उन्होंने स्पष्ट रूप से अवगत कराया कि उनके द्वारा किसी भी फर्म को वितरण के लिए नही कहा गया है, यह विद्यालय प्रबंध समिति का पूर्णतः अधिकार है कि वे किससे गुणवत्तापूर्ण ड्रेस क्रय करते है। उन्होंने प्रधानाध्यापकों से ये जरूर कहा कि शासन के मंशानुरूप प्राप्त गाइडलाइन के अनुसार गुणवत्तापूर्ण ड्रेस क्रय करे। यदि ऐसा कोई कह रहा है तो उसकी जांच कराई जाएगी।
तत्पश्चात जिलाध्यक्ष ने शिक्षकों को आगाह करते कहा कि आपलोग किसी फर्म के दबाव में न आकर विद्यालय प्रबंध समिति के माध्यम से शासन के मंशानुरूप गुणवत्तापूर्ण ड्रेस क्रय करे जिससे निर्धारित समय के अंदर बच्चों को ड्रेस वितरण का कार्य किया जा सके क्योकि ये शासन की गाइडलाइन के अनुसार विद्यालय प्रबंध समिति को तय करना है कि ड्रेस कहाँ से क्रय करें। तथा उन्होंने पत्र के माध्यम से जिलाधिकारी महोदय से मांग किया कि ऐसे फर्मों की जाँच करा कर ब्लैक लिस्टेड करते हुए उनके ऊपर कानूनी कार्यवाही कराने का कष्ट करें जिससे परिषदीय विद्यालय के विद्यालय प्रबंध समिति आवश्यक कार्यवाही कर जल्द से जल्द किसी भी फर्म से गुणवत्तापूर्ण ड्रेस क्रय करे जिससे माननीय स्कूली शिक्षा महानिदेशक के निर्देशानुसार निर्धारित समय के अंदर ड्रेस वितरण का कार्य किया जा सके।

सभाजीत दुबे हत्या कांड में नौकर ने की मालिक की हत्या,रुपये के लेने देन को लेकर हुई हत्या,

जौनपुर-प्रबंधक सभाजीत दुबे की हत्यारा निकला उनका ही नौकर चन्द्र प्रकाश पांडेय,सैलरी को लेकर हुए विवाद को लेकर हुई हत्या,तनख्वाह मांगने पर दूसरे नौकर के आने तक तनख्वाह न देने से नाराज था नौकर,पुलिस 24 घण्टे के अंदर किया हत्या का खुलासा,सिकरारा थाना क्षेत्र के उतराई का मामला,70 हजार रुपया नगद व हत्या में प्रयुक्त लाठी व बैग को पुलिस ने पास की झाड़ी से किया गया बरामद,

फिर एक और हत्या से जनपद का क्राइम ग्राफ बढ़ा, प्रबंधक की सोते समय हत्या से इलाके में सनसनी,हत्या को चोरी का रूप देने का अपराधियो ने किया प्रयास

जौनपुर-एसपी जौनपुर अशोक कुमार के लाख प्रयास और पेंच कसने के बाद भी जिले में क्राइम ग्राफ रुकने  का नाम नही ले रहा है,अभी कल दो हत्याओ का मामला है एक हत्या चन्दवक व दूसरा खुटहन में पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी,ताजा मामला जिले के  सिकरारा थाना क्षेत्र के उतिराई गांव में देर रात इंटर कॉलेज के प्रबंधक की हत्या कर दी गई,आवास पर उनका शव पाया गया। पुलिस के अनुसार भारी वजनी सामान से वार कर हत्या की आशंका जताई जा रही है। पुलिस और डॉग स्कवायड मौके पर पहुंचकर छानबीन में जुट गई है। 
बता दें कि जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र के निजामुद्दीनपुर के मूल निवासी सभाजीत दुबे (65) उतिराई गांव स्थित सभाजीत इंटर कॉलेज के प्रबंधक थे। वह अविवाहित थे स्कूल के पास ही आवास बनाकर रहते थे। देर रात आवास पर अकेले सो रहे थे। रविवार की सुबह काफी देर तक आवास से बाहर न आने पर आसपास के लोग उन्हें बुलाने पहुंचे तो वहां का दृश्य देखकर सन्न रह गए।
सभाजीत लहूलुहान हाल में मृत पड़े थे। उनके सिर पर गहरे जख्म के निशान थे। शरीर के अन्य हिस्सों में भी चोट लगी थी। सुचना पाकर सीओ मड़ियाहूं और सदर,  कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। डॉग स्क्वायड और फोरेंसिक टीम को भी बुलाकर छानबीन कराई गई, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा। सभाजीत ने अपने भाई के पौत्र मानस को गोंद लिया था। एसओ विनय सिंह ने बताया कि किसी वजनी और धारदार हथियार से हत्या की आशंका है। घरवालों से पूछताछ की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

डाक्टर बनना चाहती है ब्यूटी यादव

जौनपुर- जनपद के सिकरारा विकास खण्ड के यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा मे सिकरारा क्षेत्र के मां शारदा इंटरमीडिएट बालिका विद्यालय खानापट्टी की मेधावी छात्रा ब्यूटी यादव डाक्टर बनकर लोगो की सेवा करना चाहती है। कठिन परिश्रम से 500 अंको मे से 423 अंको के साथ 84.6 फीसद अंक लाने वाली ब्यूटी के पिता हरिश्चन्द्र यादव रामपुर गांव के निवासी है। सिकरारा बाजार में वे  इलेक्ट्रिशियन का काम करते है। तो माता सुनीता देवी गृहणी है। सफलता का श्रेय उसने अपने माता-पिता व विद्यालय के प्रधानाचार्य के साथ शिक्षको को दिया।  ब्यूटी का मानना है कि कठिन परिश्रम से हर लक्ष्‍य को हासिल किया जा सकता है। उसने बताया कि सिर्फ विद्यालय में पढ़ाई के साथ घर पर सात से छः घण्टे की पढ़ाई कर रही थी। परिवार में एक छोटा भाई है।

बताया कि पढ़ाई में उनके माता-पिता का बहुत सगयोग रहा है। स्कूल में परीक्षा का तैयारी काफी अच्छे से कराई जिसका परिणाम रहा कि जनपद के टाप टेन में सातवां स्थान मिला। 

भूसा बैंक के लिए समाजसेवी डा0दिलीप बलवानी ने बेजुबान जानवरों के लिए 100 कुंतल भूसा ब गरीबो के लिये 200 पैकेट राशन दिया दान

जौनपुर-जहां पूरे देश में कोरोना महामारी के कारण लोग गरीब जनता की मदद के लिए आगे आ रहे हैं यह लोग जनता के लिए लंच पैकेट और सूखा राशन की व्यवस्था कर रहे हैं वैसे जनसामान्य को सरकार की व्यवस्था से सभी को भोजन मिल रहा है लेकिन दूसरी तरफ जहां पूरे शहर में लाक डाउन के दौरान बेजुबान पशुओं के भोजन की समस्या नही हो  पा रही है ऐसे में एक समाजसेवी डॉक्टर दिलीप बलवानी सामने आए जिन्होंने जानवरों की समस्या को देखते हुए उनके चारे की व्यवस्था की है डीएम जौनपुर दिनेश कुमार सिंह से मिलकर उन्होंने 100 कुंतल देने का एलान किया था ऐसे भी जिला अधिकारी जौनपुर अपने पूरे लाव लश्कर के साथ  आज मछली शहर के डमरुआ गांव पहुंचे और डीएम ने 100 कुंतल भूसा पशुओं चारे के रूप में स्वीकार किया और दूसरी तरफ डॉक्टर बलवानी ने 200 गरीब जरूरतमंदों को सुखा राशन भी दिया।
बता दें कि जिले के मछली शहर और समाजगंज के बीच डमरूआ गांव में सुबह लोगों का आने का सिलसिला जारी रहना जिला अधिकारी जौनपुर के आने की सुगबुगाहट से मछली शहर और सिकरारा के अधिकारी गांव में चक्कर लगाने लगे आज दिन में करीब 11 बजे डीएम जौनपुर दिनेश कुमार सिंह अपने पूरे लाव लश्कर उसके साथ डमरूआ गांव पहुंचे, जिलाधिकारी ने बलवानी द्वारा जानवरों की सेवा को सराहा और 100 कुंटल भूसा स्वीकार करते हुए व्यस्तता के कारण वापस आ गए उसके बाद डॉक्टर बलवानी उनकी पत्नी पूर्व जिला पंचायत सदस्य ने ग्रामीणों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए राशन वितरण किया।

सई नदी तराई में दिनभर चक्रमण किया ड्रोन कैमरा कही नजर नही आया तेंदुवा,वन विभाग की टीम की पकड़ से अब भी है दूर तेंदुआ

जौनपुर- सिकरारा थाना क्षेत्र के सोनपुरा गांव में रविवार को तेंदुए जैसे जानवर के हमले से ग्रामीण लोगो मे दहशत व ख़ौप का माहौल ब्याप्त हो चुका है । इसे लेकर वन विभाग टीम रविवार से ही गांव में डेरा डाले हुए है पर मंगलवार देर शाम तक कोई सफलता हाथ नही लगी । डीएफओ जौनपुर ए0पी0 पाठक के मौजूदगी में वन विभाग विशेषज्ञयो की टीम के साथ विशाल कुमार वन विभाग बक्शा व लालजी यादव वन विभाग बरसठी के प्रयास द्वारा मंगलवार को सई  नदी के तटवर्ती भाग खुंशापुर व नरी घाट के क्षेत्र  में दिनभर  ड्रोन कैमरे से खोज किया गया लेकिन मंगलवार के देर शाम सफलता हाथ नही लगी पूछे जाने पर विभाग द्वारा बताया गया कि अभी तलाश  बुधवार तक जारी रहेगा व जानवर को पकडने हेतु  विशेषज्ञयो से संपर्क में बनाये हुए है और गांववालो को सुरक्षा के तौर पर सावधानी बरतने व अकेले में न रहने की सलाह दी व  कही भी दिखाई देता है तो तत्काल सूचना देने की हिदायत दी।

जौनपुर में ड्रोन कैमरे से होती रही जंगली जानवर की तलाश,वन विभाग का 24 घण्टे के बाद भी अब भी हाँथ रहा खाली,वन विभाग की टीम के पास कोई आवश्यक सामान नही है मौजूद

सोनपुरा गांव में जंगली जानवर के खौफ ने पूरी रात ग्रामीणों को सोने नही दिया।
जौनपुर: सिकरारा थाना क्षेत्र के सोनपुरा  गांव में जंगली जानवर के खौफ ने  रविवार की  पूरी रात ग्रामीणों को सोने नही दिया। वन विभाग की टीम खेतों में, झाड़ियों और नाला के आस- पास सारी रात सतर्कता में पटाखे फोड़ती रही। गांव के युवा बच्चों, महिलाओं और वृद्धजन को मकान में बंद कर रात भर जागते रहो-जागते रहो बोलते हुए ग्रामीणों पर हमला करने वाले जानवर की तलाश में लगे रहे। हालांकि सुबह भी सफलता नही मिली तो विभाग की टीम सोमवार की सुबह ड्रोन कैमरे का सहारा लेकर तलाश में जुट गई। ग्रामीणों ने इस दौरान खेतों के पास सरपत के झुरमुटों में भी आग लगा दिया। लेकिन अभी कोई सफलता नही मिली है खोजबीन जारी है ।

जौनपुर में तेंदुए के हमले से 4 घायल,दहशत के साये में जीने के मजबूर ग्रामीण,लाठी डंडो के सहारे रात बिता रहे है सोनपुरा के ग्रामीण

जौनपुर- जिले में एक बार फिर तेंदुए की दहशत से पूरा गांव जीने को मजबूर है, तेंदुए के हमले से 4 ग्रामीण घायल हो गए फिलहाल तेंदुए की सूचना पर फॉरेस्ट ऑफिसर मौके पर पहुंच गए हैं और यह कौन सा जानवर है इसकी तस्दीक में लग गए हैं फिलहाल डीएफओ के अनुसार हमलावर जानवर ना तो थी दुआ है और ना ही चीता ग्रामीणों के कहने के अनुसार हमले के बाद यह जानवर बैठ जाता है जो कि लकड़बग्घे की प्रकृति में आता है फिलहाल पूरा गांव दहशत के माहौल में जीने को मजबूर है पूरे गांव के युवक लाठी-डंडे लेकर जानवर की खोजबीन में जुटे हुए वहीं दूसरी तरफ वन विभाग के अधिकारी ड्रोन कैमरे से जानवर की खोजबीन में जुट गए हैं फिलहाल पूरे पूर्वांचल में ट्रेंकुलाइजर गन और पिजड़ा न  होने के कारण दोनों चीजें कानपुर से मंगाई जा रहे हैं अगर तेंदुआ पकड़ा भी जाता है तो उसके लिए ये दोनों चीजे बहुत आवश्यक है।
        बता दें कि जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र के सोनपुरा गांव में उस समय हड़कंप मच गया जब तेंदुए के हमले से पूरा गांव दहशत के माहौल में जीने को मजबूर हो गया ग्रामीणों के अनुसार इस जानवर के हमले से 4 लोग घायल हो गए जिनका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है वहीं ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए और तेंदुए की खोजबीन में लग गए फिलहाल देर शाम तक तेंदुआ या किसी और जानवर को नहीं पकड़ा गया वहीं वन विभाग के अधिकारियों के द्वारा यह कहा जा रहा है हमलावर जानवर नाही तेदुआ है और ना ही चीता इसकी प्रकृति लकड़बग्घे से मिलती है फिलहाल विभाग के अधिकारियों द्वारा इसकी जांच के लिए कुछ भुरभुरी मिट्टी के स्थान बनाए गए हैं जिससे उसके पैरों के निशान मिल सके और यह जानकारी मिल सके की उक्त जानवर कौन सा है उसकी प्रकृति क्या है फिलहाल विभाग द्वारा जानवर को पकड़ने के लिए ड्रोन कैमरे की व्यवस्था की गई है।

बाइक सवार बदमाशों ने बैंक कैशियर को मारी गोली,हालत गम्भीर जिला अस्पताल रेफर,पुलिस मामला दबाने में जुटी है

जौनपुर बदमाशों के हौसले बुलंद बाइक सवार बदमाशों ने बैंक कैशियर को मारी गोली पीठ में लगी गोली, हालत गंभीर जिला अस्पताल रेफर बक्सा थाना क्षेत्र के फतेहगंज बाजार का मामला,फिलहाल पुलिस सीमा विवाद में उलझी सिकरारा और बक्सा थाना में है सीमा विवाद,घायल बैंक कैशियर का नाम अनिल मौर्या लाइनबाजार थाना क्षेत्र का मामला।फ़िलहाल घटना की सूचना के लिए सीओ सदर व एसओ बक्शा एसओ सिकरारा का सीयूजी पर घटना की जानकारी के लिए फोन किया किसी का भी सीयूजी न उठना भी पुलिस की कार्यप्रणाली पर बड़ा सवालिया निशान है।

तेज रफ्तार बाइक सवार दो युवक ट्रक के अंदर घुसे एक की मौत एक घायल

जौनपुर तेज रफ्तार बाइक खड़ी ट्रक में जा घुसी एक की मौके पर ही मौत दूसरा गंभीर रूप से घायल सूचना पर पहुंची पुलिस घायल को सामुदायिक केंद्र में कराया भर्ती शव को कब्जे में लेकर भेजा पोस्टमार्टम के लिए और मामले की जांच में जुटी घटना सिकरारा थाना क्षेत्र के जौनपुर प्रयागराज मार्ग की घटना

उपचार का खर्च नहीं मिला तो अस्पताल मालिक ने शव को ही बंधक बना लिया

 
जौनपुर। निजी अस्पताल के  मालिक ने मानवता को शर्मसार करते हुए एक गरीब के  उपचार में लगे  खर्च का भुगतान न होने पर  मृतक वृद्ध का शव को  ही बंधक बना लिया परिजनों की गुहार पर  जिलाधिकारी तक की सिफारिश को  ठुकरा दिया है पूरा मामला चर्चा का बिषय बना है । 
 जनपद जौनपुर  के सिकरारा क्षेत्र स्थित  बांकी गांव निवासी बड़े लाल सिंह (70) दो दिन पूर्व सांड़ के हमले में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। परिजन उन्हें उपचार हेतु वाराणसी के एक प्राईवेट अस्पताल में ले गये वहां पर  उपचार के दौरान उनकी गुरुवार को मौत हो गई। मानवता को शर्मसार करने वाली इस घटना की चतुर्दिक  चर्चा है। बांकी गांव निवासी बड़ेलाल सिंह को मंगलवार की रात सांड़ के हमले से घायल कर दिया था। उनका इलाज वाराणसी के शिवपुर बाईपास के पास स्थित एक निजी अस्पताल में चल रहा था। इलाज के दौरान गुरुवार की रात मौत हो गई। दो दिन के इलाज में अस्पताल प्रशासन ने लगभग एक लाख पांच हजार का बिल बना दिया। मृत बड़ेलाल के दो बेटे शिव कुमार व देवानंद पूना में वाचमैनी का काम करके किसी तरह से परिवार की आजीविका चला रहे थे। सूचना मिलने पर बड़ा बेटा शिव कुमार गुरुवार की रात घर पहुंचा। परिजनों की माली हालत  इतना अधिक पैसा जमा करने की नहीं है। पिता के शव को अस्पताल से निकलवाने के लिए लोगों से सहायता मांग रहे हैं। शुक्रवार की सुबह खंड विकास अधिकारी व ब्लाक के पशु चिकित्सा अधिकारी भी गांव जाकर लोगों से बात किये तो किसी तरह 15 हजार रुपये जुट पाया। परिवार के लोग पैसे के लिए लोगों से गुहार लगा रहे हैं। भुगतान न होने से रात साढ़े आठ बजे तक अस्पताल प्रशासन ने शव नहीं दिया था। शव लेने को गिड़गिड़ाती रही बहू व बेटीे लगभग 48 घंटे तक चले इलाज के बाद अस्पताल में मौत के बाद शव लेने के लिए बेटी अंजू व बहू संगीता के साथ भाई छोटेलाल पूरी रात अस्पताल प्रशासन से निवेदन करती  रही, लेकिन कोई फर्क अस्पताल प्रशासन पर नहीं पड़ा। पूरे घटना ने  स्वास्थ्य सिस्टम पर सवाल उठा दिया है । परिजनों ने आरोप लगाया कि अगर अस्पताल में फीस का डिस्प्ले रहता तो इतनी परेशानी नहीं होती। दूसरी ओर  शव देने के एवज में अस्पताल प्रशासन एक लाख की मांग कर रहा था जो परिजनों के पास नहीं था। परिजनों ने बताया कि भर्ती के बाद से 15 हजार रुपये जमा कराया गया। अस्पताल के प्रबंधक योगेश सिंह से बातचीत हुई तो उन्होंने बताया कि इलाज के दौरान आपरेशन व दवाओं में कुल एक लाख पांच हजार रुपये का बिल आया है। जिसे परिजन जमा नही कर रहे है। प्रबंधक ने खुद  बताया कि जिलाधिकारी जौनपुर दिनेश कुमार सिंह  व मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला  सहित कई लोगों का फोन आया है। कोई पैसा लेकर यहां  आए तब न शव दिया जाए  लोग सिर्फ फोन कर रहे हैं।
इस घटना ने चिकित्सकीय व्यवस्था को सवालों के कटघरे में खडा कर दिया है ।

सिकरारा थाना क्षेत्र के दो अलग अलग स्थानों पर हुए सड़क हादसे,कोई हताहत नही

जौनपुर- आज जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र के दो अलग अलग स्थानों पर हुए सड़क हादसे ,सुबह से जिले में लगातार बारिश होने से एक ही थाना क्षेत्र के दो स्थानों पर सड़क हादसे हुए लेकिन इन हादसों में अच्छी बात ये रही कि कोई हताहत नही हुआ।
    बता दें कि जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र के दो अलग अलग स्थानों पर हुयर सड़क हादसे हुए,पहला हादसा आज सुबह करीब 4.00 बजे समाधगंज बाजार से पहले फुटहवा कुँआ के पास सड़क के किनारे खड़े ट्रेलर में बलिया से इलाहाबाद जा रहे ट्रक ने टक्कर मारी। ट्रेलर चालक शरद शौच के लिए गया था।  ट्रक चालक कासिम 50 घायल हुआ है,वही दूसरा हादसा इसी रोड पर बीबीपुर मोड़ पर लगभग 5.50 बजे आगरा से आलू लादकर जौनपुर जा रहा ट्रक बजली के सीमेंट वाले खम्भे में टक्कर मार कर पलट गया। चालक रवि कुमार यादव 22 घायल।