health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

आजमगढ़ पुलिस ने बदमाशों से जारी मुठभेड़ में एक बदमाश को किया ढेर

आजमगढ़। जनपद की पुलिस ने आज एक बड़ी सफलता हासिल की है। गंभीरपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में आज दोपहर पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस ने एक बदमाश को ढेर कर दिया, जबकि दूसरा राहगीर की बाइक लूटकर फरार हो गया, जिसकी तलाश की जा रही है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि 15-15 हजार रुपये के इनामी बदमाश राकेश पासी और रामजी पासी बाइक से किसी घटना को अंजाम देने जा रहे हैं। सूचना के बाद पुलिस गंभीरपुर थाना क्षेत्र के श्रीरामगंज बाजार अमिलिया मोड़ पर पहुंची, तभी एक बाइक पर सवार दो संदिग्ध जाते हुए दिखे। पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो एक बदमाश ने गोली चला दी। इसमें क्राइम ब्रांच का सिपाही घायल हो गया। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश ढेर हो गया, जबकि दूसरा राहगीर की बाइक छीनकर फरार हो गया। 
सूत्रों की मानें तो मारे गए बदमाश की पहचान रामजी पासी के रूप में हुई है। जबकि फरार बदमाश राकेश पासी बताया जा रहा है।
बता दें कि राकेश पासी के साथ ही 19 जुलाई को शहर के बाइपास पुल पर हुई मुठभेड़ में दिल्ली पुलिस का एक लाख का ईनामी सागर पकड़ा गया था, जबकि राकेश फायर कर फरार हो गया था। इस मुठभेड़ में एसपी ग्रामीण गोली लगने से घायल हो गए थे, जबकि एसपी अजय साहनी के बुलट प्रुफ जैकेट में गोली फंस जाने की वजह से वह बाल-बाल बच गए थे। तभी से पुलिस को राकेश पासी की तलाश थी। 
पुलिस ने बताया कि यह दोनों बदमाश 15 15 हजार रुपए के इनामी  है इनके ऊपर आजमगढ़, मऊ, बलिया, गाजीपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़ सहित कई जनपदों में लूट, हत्या, डकैती जैसे संगीन मामले दर्ज हैं पुलिस की इस कार्यवाही से पुलिस अधीक्षक ने अपराध पर अंकुश लगाने का दावा किया है।
मौके पर एसपी अजय साहनी, एसपी ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह सहित कई थानों की फोर्स जायजा ले रही है।

आजमगढ़ में पुलिस और बदमाशों के बीच जारी मुठभेड़ में थानाध्यक्ष व एक सिपाही को लगी गोली

50 हजार का इनामी बदमाश ढेर 
आजमगढ़। जनपद में मुबारकपुर इलाके में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ जारी है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बदमाश सिपाही को गोली मारकर फरार हुए थे, उनकी संख्या दो-तीन है।
अभी भी दोनों तरफ से फायरिंग जारी है, जिसमें थानाध्यक्ष मुबारकपुर के पैर में गोली लग गयी है, साथ ही स्वाट टीम के एक सिपाही को भी पैर में गोली लगी है।
वहीं 50 हजार का बदमाश सुजीत सिंह की मौत हो गयी, जबकि उसका साथी मौके से फरार हो गया है।
सूत्रों के मुताबिक बदमाश सुजीत सिंह मऊ के चिरैयाकोट गाँव का निवासी था।

अपनी साली की बेरहमी से हत्या करने वाले आरोपी जीजा व कांग्रेस नेता समेत तीन लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आजमगढ़। अपनी साली की बेरहमी से हत्या करने वाले जीजा को यूपी एसटीएफ की मदद से पुलिस ने आरोपी जीजा व कांग्रेस नेता समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। 
सूत्रों के मुताबिक जनपद के मेहनगर थाना क्षेत्र में 27 जुलाई को एक युवती का हत्या कर फेंका गया शव मिला था। जिसकी शिनाख्त मऊ जिले के इन्दूमति रूप में पुलिस ने की थी, वह मऊ नगर पालिका से पूर्व सभासद रह चुकी थी और चेयरमैन के चुनाव की तैयारी कर रही थी, वह कुल आठ बहने थी जिसमें से 7 बहनो की शादी हो चुकी थी इन्दूमति ने शादी नही की थी। 
पुलिस इन्दूमति की हत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी थी कि पुलिस को पता चला की हत्यारा कोई और नही बल्कि खुद उसका जीजा है जो फरार है। पुलिस ने यूपी एसटीएफ की मदद से आज उसके जीजा व कांग्रेस नेता सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। 
सूत्रों के अनुसार एसपी सीटी सुबाष चन्द्र गंगवार ने हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि इन्दूमति का उसके जीजा आजमगढ़ शहर कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले ईश्वर सोनकर से अवैध सम्बन्ध था और बाद में इन्दूमति का अपने दूसरे जीजा से भी अवैध सम्बन्ध हो गया। जब इस बात की जानकारी ईश्वर को हुई तो उसे यह नागवार लगा और उसने इन्दूमति की हत्या की साजिश रचि और उसे पहले आजमगढ़ बुलाया और आटो रिक्शा से उसे अपने साथी छट्टू सोनकर के साथ मेहनगर ले गया जहां एक सिवान के पास उसकी बेरहमी से हत्या कर उसके शव को फेंक दिया और फरार हो गये। पुलिस ने बताया कि हत्या करने के बाद इन दोनों को शहर कोतवाली के हर्रा की चुंगी निवासी अवधेश सोनकर ने लखनऊ में शरण दिया था। जो कांग्रेस का नेता है, तीनो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

हिन्दू संगठनों ने चायनीज सामानों का फूँका पुतला

आजमगढ़। जनपद में हिन्दू संगठनों ने चीन से आयात किये जाने वाले सामानों का विरोध करते हुए आज कलेक्ट्रेट क्षेत्र में जुलूस निकाला और लोगों से चायनीज सामनों को न खरीदने की अपील की। 
इस दौरान कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट चौराहे पर चायनीज सामानों का पुतला फूंक कर अपना विरोध प्रकट किया। विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि होली, दीपावली और रक्षाबन्धन जैसे त्यौहार भारत में हम मनाते है लेकिन गुलाल, झालर और रक्षा चाइना से आता है। इन सामनों को बेंच कर चीन अपनी अर्थव्यस्था चल रही है। उन्होने रक्षाबन्धन में सभी बहनों से चाइनीज राखी को बहिष्कार करने और रक्षा सूत्र बांधने की भी अपील की है ।

आज़मगढ़ में पुलिस मुठभेड़ में इनामिया बदमाश के मौत की खबर


थानाध्यक्ष मेहनगर सीबी द्विवेदी व सिपाही विनय सिंह जख्मी
पूरे घटनाक्रम का पुष्टि विवरण नहीं मिल पाया  
आज़मगढ़। जनपद के मेहनगर थाना क्षेत्र में स्थित सिंहपुर पुलिस चौकी के समीप पुलिस व बदमाशों में जारी मुठभेड़ में एक इनामी बदमाश जयहिंद यादव के मारे जाने की सूचना है। वहीं गोली लगने से थानाध्यक्ष मेहनगर चंद्रभास्कर द्विवेदी व स्वाट सिपाही विनय सिंह जख्मी हो गए हैं। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर से बदमाशों के जिले में दाखिल होने की सूचना मिली। जिसके बाद कई थानो की फ़ोर्स के साथ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने मौक़े पर पहुंचकर आधुनिक असलहा बरामद कर लिया है।
इस मुठभेड़ में अभी तक करीब 50 राउंड से अधिक फायरिंग हो चुकी है। घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक समेत कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद हैं।

दो रोडवेज बसों की आपस में टक्कर से एक की मौत, दो दर्जन से अधिक लोग जख्मी

massive accident of two roadways bus at azamgarhआजमगढ़। वाराणसी आजमगढ़ हाईवे पर दो रोडवेज बसों की आपस में टक्कर होने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि दो दर्जन से अधिक लोग जख्मी हो गए हैं। घायलों को इलाज हेतु अस्पताल भेजा गया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इलाहाबाद की सिविल लाइंस की बस मंगलवार रात आजमगढ़ की तरफ आ रही थी। वहीं दोहरीघाट डिपो की बस बनारस की ओर जा रही थी। रात 10 बजे के आसपास गंभीरपुर थाना क्षेत्र के अमौरा गांव के समीप दोनों बसों की आमने सामने की टक्कर हो गई। हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई, आसपास के लोग मदद को दौड़ पड़े। 
सूचना के बाद पहुंची गंभीरपुर और रानी की सराय पुलिस ने लोगों की मदद से घायलों को बाहर निकाला। शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम हेतु भेजकर आवश्यक कार्यवाही में जुट गयी है। 

अपराधों को बढ़ने से रोकने के लिए सरकार को ठोस कदम उठाने की जरूरत - शिवपाल यादव

आजमगढ़। जनपद बेलनाडीह गांव में नवनिर्मित रिसार्ट में पहुचे काबीना मंत्री शिवपाल यादव को कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। कार्यक्रम में शिरकत करने पहुचे यूपी सरकार के पूर्व काबीना मंत्री शिवपाल यादव ने कहा कि देश में महागठबन्धन बना ही नही था।
 उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार के उपर कोई टिप्पणी नही करना चाहेगें लेकिन प्रदेश में अपराध बढ़े है, अपराधों को बढ़ने से रोकने के लिए सरकार को ठोस कदम उठाने की जरूरत है। साथ ही उन्होने कहा कि मुलायम सिंह यादव के राज्यपाल बनाये जाने या ऐसे किसी प्रस्ताव को नेताजी स्वीकार नही करेगें, शिवपाल यादव के इस दौरे के दौरान सबसे खाश बात यह रही कि केवल मुलायम और शिवपाल गुट के ही लोग उनके दौरे पर साथ रहे जबकि पूरी समाजवादी पार्टी उनसे दूरी बनाये रखी। 
आजमगढ़ जिले के इस अवसर पर मीडिया से बातचीत करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि देश में महागठबन्धन नही बना था। अगर नेताजी के नेतृत्व में महागठबन्धन बनता तो आज ऐसी स्थिति नही आती। 
पूर्व मंत्री ने कहा कि अगर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नेताजी को सम्मान देते तो ऐसी स्थिति नही आती। उन्होने कहा कि वे पूरे प्रदेश का भ्रमण कर रहे है, लोगों से मिल रहें है। उन्होने कहा कि अभी भी समय है अगर समाजवादी एक जुट नही हुए तो नेताजी के नेतृत्व में करीब दो माह बाद एक नया मोर्चा बनायेगे। नेताजी को राज्यपाल बनाये जाने के सवाल पर उन्होने कहा कि ऐसी कोई बात नही है और अगर इस तरह का कोई प्रस्ताव आता भी है तो नेताजी उसे स्वीकार नही करेगें।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शिक्षामित्रों ने किया प्रदर्शन

आजमगढ़। जनपद में आज शिक्षामित्रों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सैकड़ों की संख्या में जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री के नामित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंप कर सरकार से कोर्ट के फैसले के खिलाफ दूसरी याचिका दाखिल किये जाने की मांग की।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बुद्धवार को सैकड़ों की संख्या में शिक्षामित्रों ने कलेक्ट्री स्थित जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे और जमकर प्रदर्शन किया। 
इस दौरान शिक्षामित्रों ने शहीदद्वारा चौराहे के समीप जाम लगाकर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिला शिक्षामित्र भी शामिल हुई। कोर्ट के फैसले से निराश महिला शिक्षामित्रों के आंखों से आंसू छलड पड़े। 
इस अवसर पर शिक्षा के जिलाध्यक्ष ने बताया कि वे ज्ञापन के माध्यम से प्रदेश सरकार से मांग करते है कि कोर्ट के फैसले के खिलाफ दूसरी याचिका न्यायालय में दाखिल करें।

रेलवे लाइन के किनारे पाया गया युुवक का शव, पुलिस मौके पर

आजमगढ़। जनपद के फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के फूलपुर रेलवे लाइन के किनारे युुवक का शव पाए जाने से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। मौके पर पहुचे परिजनों ने जहां हत्या का आरोप लगाया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जनपद के फूलपुर कस्बे का निवासी मंजीत मजदूरी का कार्य करता था। मंगलवार की रात वह घर नही पहुचा जिससे परिजन परेशान थे, सुबह शौच के लिए निकले ग्रामीणोें ने मंजीत का रक्त रंजीश शव कस्बे के ही रेलवे लाइन के किनारे देखा और परिजनों को सूचना दी। मौके पर पहुचे परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दी। 
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस का कहना है कि मृतक अपराधी किस्म का व्यक्ति था, प्रथम दृष्टया उसने ट्रेन के सामने कूद कर आत्महत्या की है, फिर भी सभी पहलुओं की जांच पड़ताल की जा रही है।

पुलिस मुठभेड़ में अपराधियों की गोली से घायल हुए एसपी आजमगढ़

बुलेट प्रूफ जैकेट ने बचाई जान
आजमगढ़। जनपद की पुलिस से आज देश की राजधानी दिल्ली व यूपी में आतंक का पर्याय बने और दिल्ली पुलिस से एक लाख के ईनामी लुटेरे से आमने सामने मुठभेठ हुई। जिसमें लुटेरे को पांच गोलियां लगी और वह घायल हो गया वही उसका एक साथी फरार हो गया। 
वहीँ इस मुठभेड़ में जनपद के एसपी अजय कुमार साहनी के सीने में बदमाशों ने गोली मारी लेकिन गोली बुलेट पुफ्र जैकेट में फंस गयी और वे बाल बाल बच गये, जबकि पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नरेन्द्र प्रताप सिंह बदमाशों की गोली से घायल हो गये और उन्हे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बदमाशों के पास से लूट की बाइक, पिस्टल, कारतूस बरामद किया। लुटेरा बदमाश भीम उर्फ सागर आजमगढ़ के गंभीरपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला है, इसके खिलाफ हत्या, लूट और डकैती के करीब 40 मामले दर्ज है, जिसमें अधिकतर दिल्ली के है, घायल बदमाश को भी हायर सेन्टर रिफर कर दिया गया है। 
बताते चले की घायल बदमाश भीम उर्फ सागर को आजमगढ़ पुलिस ने बरदह थाना क्षेत्र के नरेवे से सोमवार की देर रात लूट के मामले में गिरफ्तार किया था और मंगलवार को कोर्ट लाते समय रास्ते में पुलिस को चकमा देकर हथकड़ी समेत फरार हो गया और मंगलवार की देर रात एक युवक भागने के लिए उसने एक युवक की बाइक को छिन कर फरार हो गया। जिसके बाद युवक की सूचना पर पुलिस ने घेराबंदी की तो वह शहर कोतवाली के बाइपास स्थित राजघाट स्थित बागलखराव पुल के पास देर रात पुलिस और बदमाशों में आमने सामने मुठभेड़ हो गयी। इस मुठभेड़ में जहां पुलिस अधीक्षक के बुलेट पुफ जैकेट में गोली लगी वही एसपी ग्रामीण नरेन्द्र प्रताप सिंह घायल हो गये। जिन्हे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां उन्हे निजी चिकित्सालय में इलाज के लिए रिफर कर दिया गया। वही इस मुठभेड में अंधेरे और नदी के तराई इलाके का लाभ उठाकर एक बदमाश फरार हो गया। पुलिस की गोली से घायल बदमाश की शिनाख्त भीम उर्फ सागर के रूप में हुई। पुलिस से इसके पास से पिस्टल, कारतूस लूट की बाइक बरामद किया। पुलिस अधीक्षक ने दावा किया कि फरार बदमाश व इसकी मदद करने वालो को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

ईनामी शराब माफिया को आजमगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार

आजमगढ़। जनपद में स्वाट टीम ने अवैध शराब के मुख्य सरगना और पुलिस को चुनौती देने वाले पांच हजार के ईनामी शराब माफिया सुरेन्द्र यादव उर्फ मुुुुलायम और उसके साथी को गिरफ्तार कर उनके पास से दो वाहन, 503 पाउच अवैध शराब बरामद कर लिया। 
पुलिस अधीक्षक ने दावा किया कि शराब माफिया ग्राम स्तर पर रिटेलर के माध्यम से अवैध शराब बेचवाता था। शराब माफिया को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को पुलिस महानिदेशन ने पचास हजार रूपए का पुरस्कार दिया है।
आजमगढ़ जनपद में जहरीली शराब से हो रही मौत के बाद जब पुलिस ने शराब कारोबारियों के खिलाफ अभियान छेड़ा तो शराब माफिया बौखला गये। इनकी बौखलाहट इस कदर बढ़ी कि इन्होने सीधे सीधे पुलिस को ही चुनौती दे डाली। 12 जुलाई को मुबारकपुर थानाध्यक्ष को शराब माफिया सुरेन्द्र यादव ने सीयूजी  मोबाइल पर फोन कर अभियान रोकने की धमकी देने के साथ चेतावनी दी कि अगर अभियान नही रूका तो आगे शराब से सैकड़ो लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ेगा। शराब माफिया की धमकी के बाद पुलिस ने इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए स्वाट टीम समेत पुलिस की पांच टीमें शराब माफिया की गिरफ्तारी के लिए शराब माफिया के संभावित ठीकानों पर छापेमारी शुरू की। इसी दौरान पुलिस ने दो दर्जन शराब कारोबारियों को गिरफ्तार कर हजारो लीटर अवैध शराब भी बरामद की। 
इनसे पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि शराब माफिया सुरेन्द्र यादव का नेटवर्क काफी मजबूत है और वह ग्रामस्तर तक शराब के छोटे-छोटे रिटेलरों के माध्यम से अवैध शराब की आपूर्ति करवाता है, इस दौरान पुलिस ने जीयनपुर थाना क्षेत्र के मुबारकपुर मोड़ से शराब माफिया सुरेन्द्र यादव उर्फ मुलायम और उसके साथी पिन्टू यादव उर्फ सुबाश को गिरफ्तार कर उनके पास से एक स्कार्पियों, कार और 500 पाउच मिथाइल एल्कोहल बरामद किया। पहले भी गिरफ्तार शराब माफिया इससे पूर्व भी 2013 में मुबारकपुर में शराब से हुई 46 मौतों में भी चिन्हित था लेकिन किन्ही कारणों से पुलिस उसे गिरफ्तार नही कर पायी थी। पुलिस अधीक्षक ने दावा किया कि शराब माफिया सुरेन्द्र यादव उर्फ मुलायम की गिरफ्तारी होने से आजमगढ़ और मऊ जिले में अवैध शराब पर अकुंश लगेगा। वही शराब माफिया पर एनएसए की कार्यवाई भी की जायेगी। शराब माफिया को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को डीजीपी ने पचास हजार रूपये का पुरस्कार दिया है।

आजमगढ़ पुलिस ने डेढ़ कुंतल गांजा के साथ चार तस्करों को किया गिरफ्तार, तीन तस्कर फरार


आजमगढ़। जनपद की पुलिस ने आज बड़ी सफलता की है। जिला पुलिस प्रमुख के दिशानिर्देश पर अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध छेड़े गये अभियान के तहत जनपद की पुलिस ने तीन गाड़ियों में चेकिंग के दौरान 10 लाख रूपये की कीमत का डेढ़ कुंतल गांजा बरामद कर चार गांजा तस्करों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि तीन गांजा तस्कर भागने में सफल रहे। यह गांजा उड़ीसा से जनपद में तस्करी के लिए लाया जा रहा था।
आजमगढ़ जिले के पवई थाने की पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी कि तभी पुलिस को सूचना मिली की तीन वाहनों में कुछ लोग गांजा लेकर आ रहे है। इस सूचना के बाद सक्रिय हुई पुलिस को तीन वाहन आई 20 कार और दो पिकप वैन आते हुए दिखायी दिये। पुलिस ने जब उन्हें रोका तो गाड़ी के अगली सीट पर बैठे तीन गांजा तस्कर फरार हो गये। जबकि गाड़ी के तीनों चालको समेत चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने जब तीनों गाड़ियों की तलाशी ली तो 10 लाख रूपये की कीमत की कुल डेढ़ कुंतल गांजा तीनों गाड़ियों से बरामद हुआ।
आजमगढ़ गांजा तस्करों का हब माना जाता है। यहां बड़े-बड़े गांजा तस्कर अपना पैठ जमाये हुए थे, जिसमें दो बड़े गांजा तस्करों को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था जो सालों से जेल में बंद है। पुलिस की इस कामयाबी से गांजा तस्करों का कमर टूटेगा और यह पुलिस के लिए एक बड़ी सफलता है।

आजमगढ़ पुलिस ने पिता के हत्यारोपी पुत्र समेत दो लोगों को किया गिरफ्तार

आजमगढ़। जनपद के कप्तानगंज थाना क्षेत्र के कादिरपुर गांव में एक बेटे ने साथियों के साथ मिलकर जमीन की लालच में अपने ही पिता की हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने हत्यारे पुत्र समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि इस हत्या में शामिल एक अन्य आरोपी की तलाश पुलिस कर रही है।
एसपी ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि उक्त गाँव निवासी रामअवध को शराब की लत थी और उसके पास कुल 10 बिसवा जमीन थी जिसमें से 5 बिसवा जमीन उसने किसी के नाम बैनामा कर दिया था और बची हुई 5 बिसवा जमीन को भी वह किसी के नाम बैनामा करने जा रहा था। उसके बेटे और उसकी पत्नी ने उसे ऐसा करने से रोका तो उसने उन लोगों के साथ मारपीट किया और पत्नी को मायके भेज दिया।
बाद में उसका पुत्र अपने मौसी के लड़के दिलावर के साथ घर आया और उसकी हत्या कर दी और शव को 24 घंटे घर में रखने के बाद अपने एक रिश्तेदार की गाड़ी मांगकर शव को घाघरा नदी में फेंक दिया। मृतक की पत्नी द्वारा जब इस सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कराया गया तो जांच शुरू हुई जिसमें मृतक का पुत्र फरार मिला, जो कि गाजियाबाद में दिलावर के साथ नौकरी कर रहा था। दोनों को पुलिस ने गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल किया। उसने बताया कि उसके पास वही 5 बिसवा जमीन बची थी जिसे उसके पिता बेचना चाहते थे जिसके कारण उसने अपने पिता की हत्या की।

आजमगढ़ पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 6 वर्षो से फरार ईनामी अपराधी को किया गिरफ्तार

Displaying FGDFG.jpgआजमगढ़। जिला पुलिस प्रमुख द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध छेड़े गये अभियान के तहत जनपद की पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। पुलिस ने 6 वर्षो से फरार चल रहे 12 हजार रूपये के ईनामी अपराधी को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से तमंचा और कारतूस बरामद कर लिया है।
जनपद की महरागंज थाना पुलिस अपराधियों की तलाश में जुटी थी इसी दौरान सूचना मिली कि 12 हजार का ईनामी अपराधी जो करीब 6 वर्षो से फरार चल रहा है, मनोगाका पुरा गांव की पुलिया के समीप किसी अपराध को अंजाम देने की फिराक में है। सूचना के आधार पर पुलिस ने वहां छापेमारी कर ईनामी अपराधी करिया यादव को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से तमंचा और कारतूस बरामद किया।
पुलिस ने दावा किया कि ईनामी अपराधी के उपर जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में कई अपराधिक मुकदमें दर्ज है और डीआईजी की तरफ से 12 हजार रूपये का ईनाम भी घोषित था। 

जौनपुर की आबकारी विभाग ने छापेमारी कर पांच सौ लीटर कच्ची शराब किया बरामद

तीन महिलाओ को अवैध शराब बनाने के आरोप में किया गिरफ्तार
जौनपुर। जनपद की आबकारी विभाग आजमगढ़ में हुए जहरीली शराब कांड के बाद हरकत में आ गयी है। 
आबकारी विभाग जनपद के कई थाना क्षेत्रो में छापेमारी करके पांच सौ लीटर कच्ची शराब को बरामद किया है, साथ ही मौके से तीन महिलाओ को अवैध शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।
जनपद के जफराबाद, कोतवाली, सरायख्वाजा थाना क्षेत्रों के अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी करके टीम ने मौके पर तीन महिलाओ को गिरफ्तार कर लिया एवं आधा दर्जन लोग भागने में सफल रहे। गिरफ्तार महिलाओ से टीम ने जुर्माने की रकम भरवाकर छोड़ दिया है, साथ ही कच्ची शराब को कब्जे कर लिया है।

शराब पीने से दो सगे भाइयों समेत पांच लोगों की मौत, 6 की हालत नाजुक

आजमगढ़। जनपद के रौनापार थाना क्षेत्र के केवटहिया गांव में बीती देर रात्रि में शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो गई, जिसमें 2 सगे भाई भी शामिल है, जबकि 6 लोगों की हालत भी खराब है, जिन्हें इलाज हेतु अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सगे भाई चरित्र (50 वर्ष) और (रामवृक्ष 80 वर्ष) ने गांव में एक व्यक्ति से  6 जुलाई की रात 8 बजे शराब लेकर पी थी, जिसके थोडी देर बाद इन दोनों को सिर व पेट में दर्द होने लगा। हालत बिगड़ने पर रात में ही एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया, जहां कुछ देर इलाज के बाद दोनों की मौत हो गयी। इसी गांव में अन्य तीन लोगों की भी तबियत रात 12 बजे तबीयत बिगड़ गई। सूत्रों की मानें तो इन तीनों ने भी वहां से अवैध रूप से बिक रही शराब पी थी, कुछ देर में इन तीनों को भी सिर में दर्द के बाद आंख से दिखना बन्द हो गया।जिन्हें इलाज हेतु अस्पताल ले जाया गया, जहाँ इनकी मौत हो गयी। वहीँ इसी थाना क्षेत्र के सलेमपुर एवं रसूलपुर गांव में भी छह अन्य लोगों का इलाज चल रहा है।
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है। 
फ़िलहाल अधीक्षक ग्रामीण नरेंद्र प्रताप ने बताया की ये मौते शराब पीने से हुई है या ताड़ी पीने से ये अभी स्पष्ट पता नही है पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट पता चलेगा।

विकास के लिए 581 करोड़ रूपये का व्यय प्रस्तावित - उप मुख्यमंत्री केशव मौर्या


आजमगढ़। जनपद के पुलिस लाइन में पहुचे उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को पुलिस लाइन में ही गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस दौरान उप मुख्यमंत्री ने तबादलों पर कहा कि यह सरकार का विशेषाधिकार है। कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए सरकार अधिकारियों का तबादलता करती है। बुलन्दशहर की महिला सीओ के तबादले पर उन्होने कहा कि सरकार रूटिन तबादले के तहत ही उनका तबादला किया गया है। अगर कहीं भी इसका खराब मैसेज जा रहा है तो भी सरकार इससे पीछे नही हटेगी। 
आजमगढ़ जिले में आयोजित योजना समिति की बैठक में भाग लेने के बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि आजमगढ़ सहित पूरे प्रदेश का विकास होगा। बैठक में विकास के लिए सभी लोगों ने दलगत भावना से उपर उठकर आजमगढ़ के विकास के लिए कदम बढ़ाया है। कानून व्यवस्था पर सरकार तेजी से कार्य कर रही है यही कारण की प्रदेश में अपराधियों का मनोबल टूटा है। 
योजना समिति की बैठक में भाग लेने के बाद कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि आजमगढ का विकास पूरी तरह से होगा, बैठक में 581 करोड़ रूपये का व्यय प्रस्तावित है, जुलाई में विधानसभा का बजट प्रस्तावित है हमारी कोशिश होगी की आजमगढ़ सहित पूरे प्रदेश का समग्र विकास होगा।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रदेश में योगी जी के नेतृत्व में लगातार विकास कार्य जारी है। गेंहू, खरिद, तालाबों, पोखरो से कब्जा, बिजली में भारी सुधार आदि कार्यों से प्रदेश तेजी से विकास की तरफ अग्रसर है। जनहित के कार्यो की उपेक्षा, अपराधियों के संरक्षण व भ्रष्टाचार करने वालों पर कार्यवाई जारी है। प्रदेश में अपराधियों का मनोबल टूटा है। 
वही उन्होने कहा कि एशिएन डेवलपमेंट बैंक से सड़को के बनाने के बारे में समझौता हुआ है जिसमें 12 जिलों की आठ बड़ी सड़को को बनाने के रिण उपलब्ध हो रहा है। नाबार्ड के मध्यम से भी हमारी 200 करोड की अधिक की सड़को की स्वीकृत हो गयी है। सेतुओं के निर्माण की दृष्टि से भी सरकार की योजनाएं तैयार हो गयी है। हमार प्रयास है कि प्रदेश में अच्छी से अच्छी सड़के तैयार हो जाय जिससे की पूरे देश में यूपी सड़को के मामले में सबसे बेहतर हो।

आज़मगढ़ में पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में दो बदमाश और एक पुलिसकर्मी घायल

बदमाशों के पास से असलहा और बाइक बरामद
आजमगढ़। अपराधियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में आज आजमगढ पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गयी जिसमें दो अपराधी और एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। पुलिस ने बदमाशों के पास से एक पिस्टल, तमंचा, कारतूस और बाइक बरामद किया। पुलिस अधीक्षक ने दावा किया घायल बदमाश एक सर्राफा व्यवसायी से लूट की घटना को अंजमा देने की फिराक में जा रहे थे। 
आजमगढ़ जिले की महराजगंज पुलिस को सूचना मिली कि कुछ बदमाश किसी वारदात की फिराक में सरदहा बाजार की तरफ जा रहे है। सूचना के बाद महराजगंज पुलिस ने शिवपुर मोड़ के पास वाहन चेंकिग शुरू की करीब सवा बजे एक बाइक पर सवार दो व्यक्ति आते हुए दिखे और पुलिस को देख उन्होने वाहन मोड़ना शुरू कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने उनको पकड़ने के लिए आगे बढ़ी कि बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी। और सड़क छोड़ खेतो की तरफ भागने लगे।
पुलिस ने भी बदमाशों का पीछा शुरू करने के साथ आस-पास के थानों को सूचित किया, जिसके बाद भारी पुलिस बल ने पूरे इलाके को सील कर दिया। बारिश के बावजूद पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में दो बदमाश घायल हो गये। घायल बदमाशों में पांच हजार का ईनामी बदमाश सुभाष पांडेय और उसका साथी धर्मेन्द्र पासी को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक तमंचा, पिस्टल और बाइक बरामद किया। इस मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। सभी घायलो को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां दोनों बदमाशों को उपचार के लिए ट्रामा सेन्टर वाराणसी के लिए रिफर कर दिया गया है।
पुलिस अधीक्षक ने दावा कि गिरफतार बदमाश एक सर्राफा व्यवसायी को लूटने की नियत से जा रहे थे। इन दोनो बदमाशों का काफी अपराधिक रिकार्ड भी रहा है।

आजमगढ़ में सपाइयों ने मनाया पूर्व सीएम अखिलेश यादव का 44वां जन्मदिन

 केक पर मिली खामियां, अंकित था 33वां जन्मदिन 
आजमगढ़। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का 44 वां जन्मदिन आज मनाया गया। लेकिन जनपद में सपा के नेताओं ने अखिलेश यादव का 33 वां जन्मदिन मनाया। इस अवसर पर पार्टी कायकर्ताओं ने रक्तदान, मरिजों में फलो का वितरण के बाद केक काटकर अपने नेता बधाईयां दी। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जनपद में सपा नेताओं ने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का जन्मदिन मनाने के लिए सुबह से ही बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता नगर के सिविल लाइन स्थित पार्टी कार्यालय पर इकठ्ठा हुए, जहां कार्यकर्ताओं ने पहले जिला चिकित्सालय में रक्तदान किया, मरिजों में फलों का वितरण किया और बाद में पार्टी कार्यालय के सभागार में एक कार्यक्रम का आयोजन कर केक काटा गया। इसी केक में सपा के नेताओं से चूक हो गयी, सपा के राष्टीय अध्यक्ष का 44 वां जन्मदिवस समारोह था लेकिन केक पर 33 वां जन्मदिन ही अंकित था। केक को सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव व पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव काटकर सपा के राष्टीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के दिर्घायु होने की कामना की। 
इस अवसर पर सपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने हमेशा से ही सामाजिक सराकोर के कार्य में रूचि ली है।

चिकित्सकों की लापरवाही के चलते एक मासूम बच्चे की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

आजमगढ़। जनपद के महिला चिकित्सालय में चिकित्सकों की लापरवाही और रूपये की हवस ने आज एक बच्चे की जान ले ली, जिसके बाद मरिज के परिजनों ने चिकित्सालय में जमकर हंगामा किया और डाक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। सब कुछ जानते हुए भी न तो अधिकारी कार्यवाही कर रहे और न ही सरकार कोई ऐक्शन ले रही है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जनपद के जीयनपुर थाना क्षेत्र के झझवा गांव के रहने वाले सोनू ने अपनी पत्नी को प्रसव पीडा होने पर महिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। मरीज को देखने के बाद डाक्टर चले गये। इसके बाद स्टाफ नर्स ने सिजेरियन डिलेवरी की बात कर परिजनों से 5000 हजार रूपये लिए, लेकिन डिलेवरी नार्मल ही हुई।
परिजनों का आरोप है कि सुबह उनका बच्चा ठीक था, राउन्ड के दौरान डाक्टर ने सांस लेने में तकलीफ होने के चलते बच्चें को एसएनसीयू में भर्ती कराने के लिए बोले, डाक्टर की सलाह पर परिजन बच्चें को लेकर एसएनसीयू कक्ष में पहुचे लेकिन वहां पर पहले डाक्टरों ने इंतजार के लिए खड़े रहने के लिए कहा, इस दौरान बच्चें की हालत नाजूक हो गयी। बाद में आक्सीजन न होने का हवाला देकर बच्चें को बाहर ले जाने के लिए कहा गया, इस दौरान बच्चें की मौत हो गयी। परिजनों का आरोप है कि उनके बच्चें को आक्सीजन और एम्बुलेन्स न मिलने के अभाव में बच्चें ने दम तोड दिया।
वही चिकित्सालय के सीएमएस ने कहा कि परिजनों का आरोप गलत है, किसी भी प्रकार की लापरवाही या आक्सीजन की कमी नही थी। बच्चेें को समय पर एसएनसीयू कक्ष में रखा गया जहां उसने दम तोड़ दिया। परिजनों के आरोपों की जांच की जायेगी।