health

Breaking News

पूविवि में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह आयोजित ,बने चरित्रवान तब होगा देश महानः स्वामी रामदेव 24UPNEWS.COM पर

यूपी बोर्ड का हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का 29 अप्रैल को घोषित होगा रिजल्ट

Image result for images of up board logoइलाहाबाद। यूपी बोर्ड का हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट 29 अप्रैल को घोषित होगा। 
मालूम हो कि 6 फरवरी से 12 मार्च तक परीक्षाएं आयोजित की गयी थी। उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन 17 मार्च से शुरू हुआ था। 
पहली बार समय से पहले अप्रैल में रिजल्ट घोषित होगा।

लोक सेवा आयोग ही कराएगा राजकीय इंटर कॉलेजों में टीजीटी शिक्षकों की भर्ती

gahna kothiइलाहाबाद। लोक सेवा आयोग ही राजकीय इंटर कॉलेजों में टीजीटी शिक्षकों की भर्ती कराएगा। आयोग द्वारा लिखित परीक्षा के जरिए भर्ती करने हेतु 23 अगस्त 2017 के संशोधन को चुनौती देने वाली याचिकाएं हाईकोर्ट ने खारिज कर दी हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी याचिकाओं में कहा गया कि प्रदेश सरकार ने टीजीजी शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को बीच में रद्द करते हुए सहायक अध्यापकों की भर्ती लोक सेवा आयोग के माध्यम से लिखित परीक्षा के द्वारा कराने का निर्णय लिया है। कहा गया कि सरकार का यह निर्णय मनमाना, अतार्किक और राजनीतिक उद्देश्यों से लिया गया है। संशोधित नियमावली को भूतलक्षी प्रभाव से नहीं लागू किया जा सकता है।
मालूम हो कि इससे पूर्व नियुक्तियां संयुक्त निदेशक शिक्षा के द्वारा क्वालिटी प्वाइंट मार्क्स के आधार पर की जा रही हैं। याचीगण ने पुराने नियम के तहत जारी विज्ञापनों में ही भर्ती के लिए आवेदन किया था।
कोर्ट ने सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद कहा कि भर्ती नियमावली में बदलाव करना सरकार का नीतिगत निर्णय है। क्वालिटी प्वाइंट मार्क्स के बजाए लिखित परीक्षा के जरिए भर्ती करने से बेहतर अभ्यर्थियों को मौका मिलेगा।
कोर्ट ने याचीगण की इस दलील को भी स्वीकार नहीं किया कि बाद में संशोधित नियमावली को पूर्व में जारी भर्ती विज्ञापनों में लागू किया जा रहा है। कोर्ट ने कहा कि उपरोक्त संशोधन को हाईकोर्ट की एक विशेष अपील में भी मंजूरी मिल चुकी है, इसलिए सरकार के समक्ष इसे लागू करने में कोई बाधा नहीं है।

हाईकोर्ट ने दिया मुख्यमंत्री को राहत

लखनऊ  प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ को वर्ष 2007 के गोरखपुर में हुए दंगे के मामले में  हाईकोर्ट इलाहाबाद ने बड़ी राहत प्रदान की है। उच्च न्यायालय  ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दंगे में भूमिका की पुनः जांच कराये जा  याचिका को खारिज कर दिया। 
हाईकोर्ट के  इस निर्णय से याचिकाकर्ता  पक्ष में मायूसी फ़ैल गयी। 

बढ़ता जा रहा यूपी बोर्ड की हाईस्कूल-इंटर परीक्षा छोडऩे वालों का ग्राफ -

  इलाहाबाद - यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल पर प्रभावी अंकुश लगने की गवाही इम्तिहान से किनारा कर रहे परीक्षार्थी ही दे रहे हैं। इस बार परीक्षा छोडऩे का रिकॉर्ड बन चुका है, अब भी आंकड़ा लगातार बढऩे से हर दिन नया रिकॉर्ड बन रहा है।   अब तक कुल परीक्षार्थियों का आंकड़ा बढ़कर 10 लाख 58 हजार 296 हो गया है इसमें हाईस्कूल के छह लाख 28 हजार 560 व इंटर के चार लाख 29 हजार 736 परीक्षार्थी                                       

यूपी बोर्ड की दसवीं व बारहवीं कक्षा का परीक्षा कार्यक्रम घोषित

Image result for images of up board allahabad
इलाहाबाद। यूपी बोर्ड की दसवीं व बारहवीं कक्षा का परीक्षा कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। परीक्षा अगले वर्ष 06 फरवरी से शुरू होगा। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बोर्ड के हेडक्वार्टर इलाहाबाद से परीक्षा कार्यक्रम जारी किया है। 
सूत्रों के मुताबिक परीक्षा में इस बार 67 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स शामिल होंगे। दसवी की परीक्षा 06 फरवरी से शुरू होकर 22 फरवरी तक चलेंगे, वहीँ बारहवीं की परीक्षा 06 फरवरी से 10 मार्च तक चलेगी।  
योगी सरकार ने इस बार पहले ही परीक्षा कार्यक्रम जारी किया है। हर साल दिसम्बर के आखिरी हफ्ते में कार्यक्रम जारी होता था। नकल रोकने के लिए इस बार कड़े कदम उठाए जाने का दावा किया जा रहा है। 
सरकार का आदेश है कि सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। दसवीं क्लास में 37 लाख से ज़्यादा छात्र तो वहीँ बारहवीं क्लास के 30 लाख से ज्यादा छात्र परीक्षा में शामिल होंगे।

इलाहाबाद में सड़क हादसे में एक ही परिवार के छह लोगों की मौत

इलाहाबाद। लखनऊ-इलाहाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर बछरावां के समीप भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के छह लोगों की मौत हो गई। इस घटना से पूरे क्षेत्र में कोहराम मच गया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये सभी बेलवाडाड़ थाना कलवारी जिला बस्ती के निवासी थे और लखनऊ में मुंशीपुलिया के ऋतु विहार 638/384 में रह रहे थे। हादसा कार और ट्रक की सीधी टक्कर से हुआ। टक्‍कर इतनी जोरदार थी की कार पूरी तरह से ट्रक के नीचे आ गई और पहचानना मुश्किल था कि कौन सी कार है। बताया जा रहा है कि लखनऊ के मुंशीपुलिया निवासी दिव्य कुमार मिश्रा अपनी फोर्ड कार से विंध्याचल दर्शन के लिए जा रहे थे। गाड़ी में उनकी पत्नी शक्ति मिश्रा, दो बहने दीपिका मिश्रा, दिव्या मिश्रा और ज्याति पांडे व अर्पित मिश्रा सवार थे। सुबह करीब छह बजे कार का नियंत्रण बिगड़ गया और कार दूसरी तरफ से आ रहे ट्रक से टकरा गई।बताया जा रहा है कि लखनऊ के मुंशीपुलिया निवासी दिव्य कुमार मिश्रा अपनी फोर्ड कार से विंध्याचल दर्शन के लिए जा रहे थे। गाड़ी में उनकी पत्नी शक्ति मिश्रा, दो बहने दीपिका मिश्रा, दिव्या मिश्रा और ज्याति पांडे व अर्पित मिश्रा सवार थे। सुबह करीब छह बजे कार का नियंत्रण बिगड़ गया और कार दूसरी तरफ से आ रहे ट्रक से टकरा गई।
आज सुबह यह बछरावां ​लखनऊ इलाहाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर विशाखा फैक्ट्री के सामने उनकी कार अनियंत्रित होकर दूसरी लेन से आ रहे ट्रक से जा टकराई। कार में सवार सभी छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। 
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी के शवों को गाड़ी से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम हेतु भेजकर आवश्यक कार्यवाही में जुट गयी है।

बसपा नेता की गोली मारकर हत्या

इलाहाबाद में बीएसपी नेता की गोली मार कर हत्या, समर्थकों ने फूंकी बसइलाहाबाद। जनपद में बसपा नेता राजेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है। इस घटना के बाद इलाके में माहौल तनावपूर्ण है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राजेश यादव 2017 में भदोही के ज्ञानपुर से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं और वह बीएसपी ज्ञानपुर विधानसभा के प्रभारी भी थे।
सूत्रों की माने तो घटना तब हुई जब बीती रात्रि वह राज नर्सिंग होम के मालिक डॉक्टर मुकुल के साथ ताराचंद हॉस्टल में किसी व्यक्ति से मिलने गए। इसके बाद किसी मुद्दे में हॉस्टल के बाहर विवाद हो गया और उसी दौरान उन पर हमला कर दिया गया। इसके बाद बुरी तरह से जख़्मी राजेश को गोली लगने के बाद गंभीरावस्था  में इलाज हेतु राज नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई।
इस घटना के बाद गुस्साए छात्रो ने परिवहन विभाग की बस में आग लगा दी और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। 

इलाहाबाद में महिला से दुष्कर्म कर, फेका तेजाब

Image result for pics of gangrepइलाहाबाद। यूपी के इलाहाबाद जिले के घूरपुर थाना क्षेत्र में दबंगों ने एक प्राइवेट स्कूल में आया का काम करने वाली महिला के साथ कथित गैंगरेप कर उसके गुप्तांग समेत शरीर के कई हिस्सों पर तेज़ाब डालने का मामला प्रकाश में आया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उस महिला के स्कूल के ही 2 कर्मचारियों ने उसे फोन पर झूठ बोलकर स्कूल बुलाया, जहां से वापस लौटते समय दोनों ने उसे अगवा कर उसे स्कूल के पास के बाग में लेकर गए और वहां उन दोनों ने महिला के साथ गैंगरेप किया।गैंगरेप के बाद दोनों आरोपियों ने उसके प्राइवेट पार्ट व शरीर के कुछ दूसरे हिस्सों पर तेज़ाब डाल दिया। जिससे बुरी तरह से झुलसी हुई महिला किसी तरह अपने घर पहुंची। जहां से परिवार वाले उसे थाने लेकर गए, जिसके बाद इलाज के लिए उसे सीएचसी ले जाया गया। महिला की गंभीर हालत को देखते हुए सीएचसी से डिवीजनल हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया।
इस घटना के बाद पीड़ित और उसकी मां इलाके की पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा रही है परन्तु  मामला सामने आने के बाद पुलिस एसएसपी ने वारदात में शामिल दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है।

बड़ा रेल हादसा टला, एक ही ट्रैक पर एक साथ आई तीन ट्रेनें

Image result for images of trenइलाहाबाद। जनपद में एक बड़ा रेल हादसा होने से टल गया, एक ही ट्रैक पर तीन ट्रेनें एक ही समय पर आ गई थी। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दुरंतो एक्सप्रेस, हटिया-आनंद विहार एक्सप्रेस और महाबोधि एक्सप्रेस एक साथ एक ही ट्रैक पर आ गयी थी।
मालूम हो कि यूपी में पिछले कुछ समय में कई रेल हादसे हुए हैं, बीते दिनों खतौली में हुए बड़े रेल हादसे के बाद भी ट्रेनों का पटरियों से उतरना जारी है, मुजफ्फरनगर के खतौली में ट्रेन हादसे में 23 लोगों की जान चली गए थी, औरेया में भी कैफियात एक्सप्रेस भी कुछ दिन पहले डिरेल हो गई थी, जिसमें करीब 21 यात्री घायल हुए थे।

यूपी बोर्ड के सभी विद्यालयों में सीसीटीवी कैमरे लगाकर ऑनलाइन होगी निगरानी

इलाहाबाद। माध्यमिक शिक्षा परिषद वर्ष 2018 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा को नकलविहीन कराने की तैयारी में अभी से जुटा है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इसके लिए सभी राजकीय एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों को अनिवार्य रूप से सीसीटीवी कैमरों से लैस करने की तैयारी है, इससे विद्यालयों की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी।
प्रदेश के तकरीबन 2100 राजकीय इंटर कॉलेज, 25000 से अधिक सहायता प्राप्त इंटर कॉलेजों में सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए कई कंपनियों से प्रस्ताव मांगे गए हैं। सरकार से इसके लिए बजट का भी प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है।
यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में नकल का बड़ा खेल होता है। बड़ी संख्या में ऐसे विद्यालय हैं जहां ज्यादातर वहीं छात्र-छात्राएं पंजीकरण कराते हैं, जिन्हें नकल से परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है।
मऊ, बलिया, आजमगढ़, हरदोई, इलाहाबाद, कौशाम्बी, मेरठ, कन्नौज, मथुरा, इटावा, अलीगढ़ आदि जिले के काफी विद्यालय नकल के लिए बदनाम है।
यहां नकल माफिया प्रशासन से लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक, पुलिस से सेटिंग करते हैं और नकल कराने के लिए छात्र-छात्राओं से मोटी रकम वसूली जाती है। जिन विद्यालय प्रबंधन की सेटिंग होती है, वहां उड़ाका दल भी नहीं जाते।
वर्ष 2017 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं नकल करते हुए पकड़े गए। कई विद्यालयों को डिबार भी किया गया लेकिन इस बार यूपी बोर्ड ने परीक्षा नकलविहीन कराने के लिए कमर कस ली है और सभी विद्यालयों में सीसीटीवी कैमरे लगाकर ऑनलाइन निगरानी की योजना बनाई गई है।
राजकीय विद्यालयों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए दो कंपनियों ने क्रमश: साढ़े नौ एवं साढ़े सात करोड़ रुपये का प्रस्ताव भेजा है। बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव के मुताबिक एडेड विद्यालयों में भी सीसीटीवी लगाने के लिए कंपनी से प्रस्ताव मांगे गए हैं।
बताया कि परीक्षा के पहले हर विद्यालय में सीसीटीवी कैमरे लगवाने का प्रयास किया जाएगा। परीक्षा के दौरान विद्यालयों में बिजली न जाए, इसके लिए भी योजना बनाई जाएगी।

हाईकोर्ट ने प्रदेश में मौजूद सभी मॉडल वाइन शॉप को बंद करने का यूपी सरकार को दिया निर्देश

Image result for images of allahabad high courtइलाहाबाद। हाईकोर्ट ने मॉडल वाइन शॉप के मामले में यूपी सरकार को कड़ा निर्देश जारी करते हुए कहा है कि वो प्रदेश में मौजूद सभी मॉडल वाइन शॉप को बंद करे। इसके साथ ही राज्य सरकार को इस मामले में 30 अक्टूबर तक मामले में की गई कार्यवाही की रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने को कहा है।
 मालूम हो कि मॉडल वाइन शॉप को लेकर कोर्ट का रुख पहले से ही काफी सख्त बना हुआ है इस संबंध में सरकार को पूर्व में भी‌ निर्देश ‌‌दिए गए हैं।
वहीं इससे पहले सुप्रीम कोर्ट भी हाइवे किनारे स्थित शराब के ठेकों और मॉडल वाइन शॉप को हटाने का अादेश दे चुका है। उच्चतम अदालत ने अपने आदेशों में साफ कहा था कि हाईवे से 500 मीटर की परिधि में कोई मॉडल शॉप और शराब का ठेका नहीं होना चाहिए। 
सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने के बाद हाइवे किनारे स्थित अधिकतर शराब ठेकों को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा चुका है।

अखाड़ा परिषद ने जारी की फर्जी बाबाओं की लिस्ट, जानें कौन-कौन हैं शामिल

Image result for images of अखाड़ा परिषद ने जारी की फर्जी बाबाओं की लिस्टइलाहाबाद। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने आसाराम और गुरमीत राम रहीम के बलात्कार जैसे संगीन अपराधों में फंसने के बाद फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी की है। इलाहाबाद में आज अखाड़ा परिषद की बैठक के बाद इस लिस्ट को जारी किया गया है। बैठक के बाद फर्जी बाबाओं की सूची सार्वजनिक की गई है।
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने इन बाबाओं की लिस्ट जारी की जो धर्म के नाम पर फर्जी तरीके से लोगों को गुमराह कर रहे हैं। इन बाबाओं की सूचि में आसाराम और राधे मां का भी नाम है।
इस बैठक से पहले ही परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी को जान से मारने की धमकी मिली थी। इस संबंध में महंत गिरी ने दारागंज थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई है। उन्होंने बताया कि फोन करने वाले खुद को आसाराम का शिष्य बता रहे हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 14 फर्जी बाबाओं में आसाराम बापू उर्फ आशुमल शिरमलानी, सुखबिंदर कौर उर्फ राधे मां, सच्चिदानंद गिरि उर्फ सचिन दत्ता, गुरमीत राम रहीम सिंह, ओमबाबा उर्फ विवेकानंद झा, निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह, इच्छाधारी भीमानंद उर्फ शिवमूर्ति द्विवेदी, स्वामी असीमानंद, ओम नमः शिवाय बाबा, नारायण साईं, रामपाल, आचार्य कुशमुनि, वृहस्पति गिरी, मलखान सिंह शामिल हैं।
अखाड़ा परिषद ने कहा कि यह सूची सरकार को भी सौंपी जाएगी। ऐसा इसलिए ताकि लोगों की आस्था से खिलवाड़ कर रहे फर्जी संतों के खिलाफ कार्यवाही की जा सके।
विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने कहा संत फिलहाल इस विचार में लगे हैं कि एक या दो धार्मिक नेताओं के गलत कामों की वजह से पूरे समुदाय की छवि कलंकित की जा रही है। इसे गलत तरीके से दिखाया जा रहा है।
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने 'संत' की उपाधि देने के लिए एक प्रक्रिया तय करने का भी फैसला लिया है। जिससे इसका गलत इस्तेमाल करने से रोका जाए।

डीएलएड 2017 (पूर्व बीटीसी) में प्रवेश की प्रक्रिया सोमवार से होगी शुरू, सभी तैयारियां पूर्ण

इलाहाबाद। डीएलएड 2017 (पूर्व बीटीसी) में प्रवेश देने की प्रक्रिया सोमवार से शुरू होनी है, इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं। 
बता दें कि इस बार काउंसिलिंग ऑनलाइन होगी और अभ्यर्थियों को दो लाख 29 हजार 150 सीटों पर प्रवेश के लिए कालेजों का विकल्प देना होगा। शनिवार को सचिव डा. सुत्ता सिंह ने कुल सीट और कालेजों का एलान कर दिया है। इन सीटों के लिए कुल आवेदकों की संख्या सात लाख 19 हजार 429 है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव डा.सुत्ता सिंह ने बताया कि सभी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन में संशोधन का मौका दिया जा चुका है। इसके अलावा ऑनलाइन काउंसिलिंग की भी तैयारियां पूरी कर ली गई है।

निबंध प्रतियोगिता में विजेता सौम्या दूबे को एक दिन के लिए बनाया गया ट्रैफिक इंचार्ज

इलाहाबाद। पुलिस लाइन में आयोजित निबंध प्रतियोगिता की विजेता सौम्या दूबे जो की टैगोर पब्लिक स्कूल की  क्लास 10th  की छात्रा हैं, को एक दिन का थाना इंचार्ज बनाया गया। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सौम्या दूबे थाने की जीप से थाना सिविल लाइन्स का चार्ज लेने पहुंची और उसके बाद जीप से ही सिविल लाइन थाने से सुभाष चौराहे पर आकर तीन लोगो का चालान किया और लोगो को ट्रैफिक के बारे में समझाया।

टीईटी 2011 या बीएड अभ्यर्थियों को अब प्राथमिक स्कूलों में नियुक्ति में आ सकती हैं दिक्कतें

इलाहाबाद। सुप्रीम कोर्ट द्वारा यूपी की शिक्षक भर्तियों पर 25 जुलाई के फैसले के बाद सभी विवाद समाप्त हो चुके है। शीर्ष कोर्ट ने प्रदेश सरकार पर छोड़ दिया है कि 72,825 प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के 6170 बचे पदों पर नए सिरे से विज्ञापन जारी कर न्याय संगत भर्ती कर सकती है। लेकिन बड़ी संख्या में ऐसे बेरोजगार अभ्यर्थी नौकरी की मांग कर रहे हैं जिनके पास प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति के लिए वैध डिग्री तक नहीं है।
एनसीटीआई के नियमों के मुताबिक टीईटी 2011 या बीएड अभ्यर्थियों को अब प्राथमिक स्कूलों में नियुक्त नहीं किया जा सकता।
पिछले सप्ताह सैकड़ों बेरोजगारों ने जुलुस निकालकर टीईटी 2011 के अभ्यर्थियों के समायोजन की मांग की है, लेकिन सत्यता यह है कि टीईटी 2011 के प्रमाण पत्र की वैधता 25 नवम्बर 2016 में समाप्त हो चूका है, प्रमाण पत्र की वैधता शीर्ष 5 वर्ष थी जो पिछले साल ख़त्म हो गई है।
वहीँ दूसरी ओर नवम्बर 2011 में जारी प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के विज्ञापन के लिए अधिकतर बीएड अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था, उस समय राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक पद पर बीएड अभ्यर्थियों के लिए आखिरी मौका दिया था। इसके पीछे आशय यह था कि बीएड में कक्षा एक से 5 तक के बच्चों को पढ़ाने का परिक्षण नहीं दिन जाता है। यही कारण है कि सहायक अध्यापक पद पर सीधी भर्ती न करके प्रशिक्षु शिक्षक नाम से बीएड डिग्री धारकों को भर्ती व नियुक्ति के बाद 6 महीने की प्रशिक्षण की शर्त रखी गयी। इसके बाद सहायक अध्यापक पद पर मौलिक नियुक्ति का प्रावधान किया गया हालांकि भर्ती में कानूनी अड़चन आने के कारण प्रदेश सरकार ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय को पत्र लिखकर बीएड अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए समय सीमा बढ़ाने का अनुरोध किया था। केंद्र सरकार ने 10 सितम्बर 2012 को यह समय सीमा 21 मार्च 2014 तक बढ़ाई थी।
इस लिहाज से बीएड अभ्यर्थियों की प्राइमरी स्कूलों में नियुक्ति की समय सीमा भी तीन साल पहले बीत चुकी है। एनसीटीआई के नियमों के मुताबिक टीईटी 2011 या बीएड अभ्यर्थियों को अब प्राथमिक स्कूलों में नियुक्त नहीं किया जा सकता।

दिनदहाड़े बेख़ौफ़ बदमाशों ने चिकित्सक के घर में की लूटपाट

इलाहाबाद। जनपद के सिविल लाइंस इलाके में बेख़ौफ़ बदमाशों ने दिनदहाड़े डॉक्टर के घर में घुसकर नौकरानी को बेहोश कर लाखों रूपये और गहने लूटकर फरार हो गए। इस घटना से पूरे क्षेत्र में दहशत फ़ैल गयी है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह वारदात पीवीआर के समीप कामर्शियल काम्पलैक्स की तीसरी मंजिल पर डॉ. ओपी बजाज के फ्लैट में हुई। डॉक्टर क्लीनिक से दोपहर दो बजे लंच के लिए घर पहुंचे तो सब कुछ अस्तव्यस्त पड़ा हुआ था। नौकरानी मैरी को तलाशा तो वह स्टोर रूम में बेड पर खून से लथपथ बेहोश पड़ी मिली। 
दिनदहाड़े हुई इस वारदात की जानकारी उन्होंने तुरंत पुलिस, बेटी डॉ. शालिनी पांडेय और रिश्तेदारों को दी। नौकरानी को एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है। इस घटना में किसी नजदीकी के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है।

लड़की को गोली मारने के बाद लड़के ने खुद को भी मारी गोली, अस्पताल में भर्ती

इलाहाबाद। जनपद के सोरांव थाना क्षेत्र के शांतिपुरम कॉलोनी में एक लड़के ने लड़की को गोली मारकर स्वयं को भी गोली मार ली। इस घटना से पूरे क्षेत्र में हडकंप मच गया।
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को इलाज हेतु अस्पताल में भर्ती कराकर आवश्यक कार्यवाही में जुट गयी है।

एसटीएफ ने करोड़ों रुपए के हाथी के दांत के साथ साधू को किया गिरफ्तार

इलाहाबाद। जनपद के नवाबगंज कोतवाली क्षेत्र में एसटीएफ ने करोड़ों रुपए के हाथी के दांत के साथ एक साधु को गिरफ्तार कर लिया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रतापगढ के जेठवारा के निवासी साधू के पास से हाथी दांत व एक पिस्टल भी बरामद हुई है। फिलहाल FIR दर्ज कर साधू से थाने में पूछताछ चल रही है। 
सूत्रों की मानें तो पुलिस इस मामले में कुछ भी बताने से इनकार कर रही है। बड़े बड़े तस्कर यहां पर फल फूल रहे है, यह तस्कर भी STF के कारण पकड़ा गया इसकी स्थानीय पुलिस को भनक तक नही लगी नही तो यह भी हांथी का तस्कर भाग गया होता।

इलाहाबाद में भारी बारिश से आवागमन बुरी तरह से बाधित, देखें तस्वीरें



इलाहाबाद। जनपद में बारिश ने इस तरह से अपना कहर ढाया है कि लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है।
आपको बता दें कि जनपद के चौक में स्थित निरंजन सिनेमा डाट पुल पर बारिश से इतना पानी इकट्ठा हो गया है कि लोगों को आने जाने में काफी परेशानियां उठानी पड़ रही है। 
करीब पिछले 36 घंटे से जनपद में लगातार बारिश हो रही है, आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि निरंजन सिनेमा डाट पुल पर किस तरह से गाड़ी और बस पानी में आवागमन कर रही है। साथ ही लोगों के कमर तक पानी लगा हुआ है, लेकिन उन्हें इस परेशानी का सामना करते हुए आवागमन करना पड़ रहा है।
मालूम हो कि इस तरह का मंजर जनपद के एल आई सी कालोनी, टैगोर टाउन, अल्लापुर एवं मुट्ठीगंज इलाके में भी है।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पासपोर्ट कार्यालय का किया शुभारम्भ, अब इलाहाबाद में बनेगा पासपोर्ट

पासपोर्ट के लिए लखनऊ कानपुर का चक्कर ख़त्म
इलाहाबाद। जनपद के प्रधान डाकघर में पासपोर्ट कार्यालय का आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने औपचारिक रुप से शुभारंभ किया। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस सुविधा के शुरू होने से प्रतिदिन करीब 120 लोग यहां पर पासपोर्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं। 
बता दें कि इसके पहले लोगों को पासपोर्ट के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के बाद फोटो और प्रमाण पत्र के सत्यापन के लिए लखनऊ, कानपुर, वाराणसी जाना पड़ता था, लेकिन अब लोगों को इलाहाबाद के पासपोर्ट कार्यालय में ही यह सुविधा मिल सकेगी। 
इस दौरान डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि यहां से इलाहाबाद ही नहीं आस पास के जिले के लाखों लोग भी पासपोर्ट बनवाने की सुविधा का लाभ ले सकेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि अर्धकुंभ से पहले इलाहाबाद में प्रस्तावित एयरपोर्ट को तैयार कर लिया जाए, साथ ही विभिन्न प्रदेश के विभिन्न शहरों के लिए इलाहाबादवादी ढाई हजार रुपए में उड़ान भर सकें, इस सेवा को शुरू करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में पहुंच चुकी है। जिसका लाभ लोगों को जल्द मिल सकेगा। इसके अलावा इलाहाबाद में रेल सुविधाओं में भी लगातार बढ़ोत्तरी की जा रही है।