health

Breaking News

पूविवि में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह आयोजित ,बने चरित्रवान तब होगा देश महानः स्वामी रामदेव 24UPNEWS.COM पर

पुलिस ने माँ -बाप और गर्लफ्रेंड की लाश पर चबूतरा बनाने वाले आरोपी को किया गिरफ्तार

High profile murder mystery, Psycho Lovers Story,Girlfriend, boyfriend, sex, call girl, crimeभोपाल।  आप सबने बहुत से ऐसे कारनामे सुने होंगे जिसमें अपनी गर्ल फ्रेंड की हत्या क्र शव फेंक दिया या मरवा दिया लेकिन ये खबर पढने के बाद आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी कि आखिर इस इन्सान के लिए प्यार का कैसा उदाहरण पेश किया जाए जिसे  सुनकर वो प्यार का मतलब समझ पाए और उसका सम्मान करे।
यहाँ एक ऐसे मर्डर केश का खुलासा हुआ है जिसमें एक शख्स ने अपनी गर्लफ्रेंड का मर्डर कर उसकी लाश को बक्से में डालकर सीमेंट का चबूतरा बना डाला इतना ही नहीं इस आरोपी ने  अपने मां-बाप की हत्या करने की बात भी कबूल की है।
सूत्रों के मुताबिक आरोपी उदयन दास (32) ने शनिवार को पुलिस पूछताछ में यह खुलासा किया। उसने बताया कि रायपुर में 2011 में माता-पिता की हत्या करने के बाद उसने उनकी लाश घर के आंगन में ही दफना  दी थी।
इतना ही नहीं हत्यारा नशे का भी आदी है।
पूछताछ पर खुलासा यह हुआ कि पश्चिम बंगाल के बांकुरा में रहने वाले देवेंद्र कुमार शर्मा की बेटी आकांक्षा उर्फ श्वेता (28) की 2007 में उदयन नाम के लड़के से ऑरकुट पर दाेस्ती हुई थी।जून 2016 में घर से नौकरी करने की बात कहकर अाकांक्षा भोपाल आ गई। यहां वह उदयन के साथ रहने लगी। उसने परिवारवालों को बताया कि मैं अमेरिका में नौकरी कर रही हूं।जुलाई 2016 के बाद आकांक्षा के परिवारवालों से बात होनी बंद हो गई। भाई ने नंबर ट्रेस कराया तो लोकेशन भोपाल की निकली।
परिवार के लोगों को शक था कि आकांक्षा उदयन के साथ रह रही है। दिसंबर 2016 में आकांक्षा की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज हुई। एक महीने की जांच के बाद पुलिस उसके ब्वॉयफ्रेंड उदयन के घर पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने आकांक्षा की हत्या की बात कबूली।
इसके बावजूद उसको जरा सा भी अफ़सोस नहीं था उसने पुलिस को डंके की चोट पर बताया कि, 2011 में वो अपने मां-बाप का भी मर्डर कर चुका है।इसके बाद रायपुर (छत्तीसगढ़) में शांति नगर स्थित अपना मकान बेच दिया था।आरोपी के मुताबिक, दोनों की लाशें उसने आंगन में ही गाड़ दी थीं।
हालाँकि इतनी बड़ी वारदात के खुलासे के बावजूद उदयन के चेहरे पर कोई शिकन नजर नहीं आई। पुलिस ने शुक्रवार को उसे अदालत में नकाब में पेश किया था। मजिस्ट्रेट के सामने पहुंचा तो नकाब हटाया गया।
फ़िलहाल उसे क्या सजा दी जाती है ये तो अदालत ही तय  करेगी।

सीमी के आठ आतंकी जेल से फरार ,सुरक्षा कर्मी को हत्या कर हुये फरार.जेल के पाँच कर्मचारी भी सस्पेंड

भोपाल - चादर को रस्सी बनाकर जेल से हेड कॉन्सटेबल की हत्या भागे आठों आतंकी ,जेल प्रशासन की घोर लापरवाही हुई उजागर ,दिल्ली सहित मध्य प्रदेश मे हाई अलर्ट , एम0पी0 के कई जिले फरार आतंकवादियों के निशाने पर, सभी आतंकवादियों पर देशद्रोह का है मुकदमा.शासन ने जेल के पाँच कर्मचारियों को किया सस्पेंड.फरार सभी आठों आतंकवादियों पर पाँच - पाँच लाख का इनाम घोषित.

बदमाशों द्वारा छेड़खानी किये जाने से बचने के लिए भागी लड़की के कट गये दोनों पैर


भोपाल। पटना स्टेशन पर बदमाशों द्वारा छेड़खानी किये जाने पर एक लड़की पटरियों पर भागने लगी, उसी दौरान ट्रेन की चपेट में आने से उसके दोनों पैर कट गये हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने उसे इलाज हेतु अस्पताल में भर्ती करा दिया है। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक लड़की ने पिता की डांट से नाराज होकर अपने घर से भाग गयी। ट्रेन से जब वह पटना पहुंची तो पटना स्टेशन पर कुछ बदमाशों ने जब उसे छेड़ने की कोशिश की जिससे घबराई लड़की ने वापस ट्रेन की ओर दौड़ लगा दी, हड़बड़ाहट में पटरी पार करते समय वह ट्रेन की चपेट में आ गई, जिससे उसके दोनों पैर कट गए। 

मौके पर मौजूद लोगों ने लड़की को इलाज हेतु अस्पताल में भर्ती करा दिया है। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस आवश्यक कार्यवाही में जुट गयी

सुरक्षाकर्मियों ने पीएम से शहीद की पत्नी को मिलने से रोका

भोपाल। पीएम मोदी आज भोपाल में पूर्व सैनिकों की एक सभा को संबोधित कर रहे थे, उसी दौरान शहीद परिवार की एक महिला रोती हुई उनके मंच के पास पहुँच गयी। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहीद की पत्नी पीएम मोदी से मिलने के लिए सुरक्षाकर्मियों से गुहार लगा रही थी लेकिन किन्ही कारणों से सुरक्षाकर्मियों ने उसे मोदी से मिलने नही दिया।

मानवता हुई शर्मसार, पिता ने ही बेटी से दुष्कर्म कर, फेंका झाड़ी में

भोपाल। ऐशबाग अंडरब्रिज के समीप पांच दिन पहले तीन साल की बच्ची से हुए दुष्कर्म के मामले में सारे सबूत उसके सौतेले पिता को ही आरोपी बता रहे हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जीआरपी और पुलिस की संयुक्त टीम आरोपी की तलाश कर रही थी। बताया जाता है कि पुलिस की जांच खुद को बच्ची का सौतेला पिता बताने वाले रामपाल पर आकर टिक गई । बताया जाता है कि आरोपी पिता यूपी का रहने वाला है। 
सूत्रों से प्राप्त सूचना के अनुसार आरोपी सौतेले पिता के बयानों में लगातार विरोधाभास आ रहा था। वह पुलिस को गुमराह कर रहा था। संदेह के आधार पर पूछताछ के लिए पुलिस ने उसे हिरासत में कर सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।
बताया जाता है कि आरोपी पिता ने बताया कि वह अपनी सौतेली बेटी से नफरत करता था। आरोपी पिता अपना बच्चा चाहता था, लेकिन पत्नी इसके लिए तैयार नहीं थी। इसी नफरत की वजह से उसने सौतेली बेटी के साथ ये घिनौनी हरकत की। मासूम के साथ दुष्कर्म के बाद आरोपी सौतेले पिता ने उसे मौत के घाट उतारने के इरादे से नाले में झाड़ियों के बीच फेंक दिया था।

पत्रकार की पुत्री ने आर्थिक तंगी से क्षुब्ध होकर दी अपनी जान

मध्यप्रदेश।  भोपाल में एक पत्रकार की पुत्री ने पिता की आर्थिक तंगी से क्षुब्ध होकर अपनी जान दे दी। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बरखेडी में  किराए के मकान में रहने वाले पत्रकार शिवराज सिंह ठाकुर की पुत्री ऋषिता ने अपने घर में फांसी लगाकर अपने प्राणों की आहुति दे दी। 
बताया जाता है कि कक्षा आठ में पढ़ने वाली मृतिका उम्र 13 वर्ष के पिता पेशे से पत्रकार हैं,उनकी नौकरी कुछ दिनों पहले  छूट गयी थी, जिसके चलते उनकी पुत्री काफी व्यथित हो चुकी थी तथा उसने इस वारदात को अंजाम देने से एक दिन पहले अपने पिता से इस बात का जिक्र भी किया था कि अब घर कैसे चलेगा?
पुत्री की मौत के बाद पूरे परिवार में मातम छाया हुआ है।