health

Breaking News

जौनपुर - बीजेपी के लिए जौनपुर से चुनाव का आगाज करना शुभ है-सतीश कुमार सिंह 24UPNEWS.COM पर

जानिये की कहाँ मालगाड़ी के डिब्बे की टूटी कपलिंग,बड़ा हादसा होने से टला

मथुरा  - एक बार फिर  बड़ा रेल हादसा होने से बार-बार टला. मालगाड़ी के डिब्बे का हुक खोलने से दो हिस्से में बटी मालगाड़ी .रेल प्रशासन में मचा हड़कंप .आगरा से दिल्ली जा रही थी मालगाड़ी .मालगाड़ी में कोयला लदा हुआ था .20 मिनट बाद मालगाड़ी को रवाना किया गया .मथुरा जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर एक की घटना.

सेफ्टी टैंक में गिरने से दो बहनों की मौत

मथुरा। जनपद के थाना हाइवे इलाके के दिल्ली वाली बाउंड्री मोहल्ले के समीप बने सेफ्टी टैंक में गिरकर दो मासूम बहनों की मौत हो गयी है। इस घटना से पूरे इलाके में कोहराम मच गया।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों बच्चियां कल शाम को अपने घर से खेलने निकलीं और वापस नहीं आयीं, जिसपर परिजनों ने उनकी तलाश शुरू कर दी लेकिन उनका पता नहीं चल सका। देर रात तक तलाश करते हुए लोग जब कुछ दूर स्थित सेफ्टी टैंक में देखे तो दोनों बच्चियों की लाश उसमें मिली। 
सूत्रों के मुताबिक पीड़ित परिजनों का आरोप है कि बच्चियां 3 बजे से ही लापता थीं, उनकी हत्या करके शव को टैंक में डाला गया है।
सूचना मिलते ही मौके से पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम हेतु भेजकर मामले की जांच में जुट गयी है।

ट्रेन से 4 साल की मासूम बच्ची के साथ माँ ने लगाई छलांग, माँ की मौत

मथुरा। वृन्दावन क्षेत्र के चौमुहा के समीप दिल्ली मुंबई ट्रैक पर एक महिला ने अपनी 4 साल की बच्ची के साथ छलांग लगा दी जिससे महिला की मौत हो गयी है और बच्ची जख्मी हो गयी है। 
मृत माँ का नाम रामा है। आत्महत्या के कारणों का पुलिस जांच कर रही है, साथ जख्मी बच्ची को उपचार हेतु अस्पताल भेज दिया गया है।

मथुरा में कान्हा चांदी के कमल से होंगे प्रकट

मथुरा। बच्चे के जन्मदिन पर लोग जैसे घर को सजाते हैं, ठीक वैसे ही पूरा मथुरा-वृंदावन सजाया गया है। बताया जाता है कि कान्हा का जन्मदिन मनाने के लिए मथुरा में जन्मस्थान और वृंदावन के द्वारिकाधीश मंदिर में खास तैयारियां की गई हैं, जन्मस्थान में पहली बार कान्हा चांदी के कमल से प्रकट होंगे।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पर जन्मस्थान की ओर जाने वाली सभी सड़कों पर लाल कालीन बिछाए गए हैं। कोई घर ऐसा नहीं है, जहां पीले, नारंगी, हरी पत्तियों की तोरण पताकाएं न लगीं हों, हर दरवाजे पर रंगोली सजी है। मथुरा में पहली बार बाल गोपाल चांदी के कमल से प्रकट होंगे, इस कमल को इस तरह डिजाइन किया गया है कि जन्म की घड़ी आते ही पंखुड़ियां अपने आप खुलेंगी और इसके बाद कृष्ण सबको दर्शन देंगे। मथुरा-वृंदावन के मंदिरों में अलग-अलग वक्त पर जन्मोत्सव का कार्यक्रम होगा। 
बताया जाता है कि इस बार जन्माष्टमी पर करीब 30 लाख लोग मथुरा-वृंदावन पहुंच रहे हैं। पिछली बार ये संख्या 20 लाख की थी।

लिंग परीक्षण करते, डाक्टर रंगे हाथ गिरफ्तार

मथुरा। राजस्थान और मथुरा पुलिस ने छापेमारी के दौरान लिंग परीक्षण करते समय डाक्टर को रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही आरोपी चिकित्सक के रैक से असलहा व कारतूस भी बरामद हुआ है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लिंग परिक्षण में दो लोग शामिल थे, जिन्हें पुलिस हिरासत में ले लिया गया है।

शहीद सन्तोष यादव की पत्नी को 24 लाख रूपये का मिला चेक

मथुरा। बुधवार को अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार अवस्थी के द्वारा जबाहर बाग कांड में शहीद हुए एसओ फरह संतोष यादव की धर्मपत्नी मिथलेश यादव को 24 लाख रूपये की सहायता राशि का चेक दिया गया।
इस मौके पर एसपी देहात एके सिंह सिविल डिफेन्स के उपनियंत्रक रवीन्द्र प्रताप, सहायक उपनियंत्रक जितेन्द्र देव सिंह एवं शहीद संतोष यादव के परिजन तथा उपनिरीक्षक राजकेशर यादव आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे थे।
इससे पूर्व शहीद एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी की धर्मपत्नी अर्चना द्विवेदी को भी जिलाधिकारी निखिल चन्द्र शुक्ला एवं एसएसपी बबलू कुमार के द्वारा 25 लाख रूपये का सहायता चेक दिया जा चुका है। यह राशि जनपद के सभी सरकारी विभागों के अधिकारी तथा कर्मचारियों के वेतन से मिली हुई थी। इसमें नागरिक सुरक्षा संगठन की ओर से भी 1 लाख रूपये का विशेष योगदान शामिल है। इस संग्रह में मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार वर्मा का भी विशेष सहयोग रहा।

दाल व्यापारी से की 80 हजार की लूट

मथुरा। जनपद के थाना कोसीकला इलाके में बाइक सवार बेख़ौफ़ बदमाशों ने सरेआम दाल व्यापारी से 80 हजार रूपये की नगदी लूट ली। विरोध करने पर व्यापारी के पैर में गोली भी मार दी। सूचना मिलते ही पुलिस बदमाशों की तलाश में जुट गयी है।

निर्माणाधीन बिल्डिंग के गिरने से दो लोगों की मौत

मथुरा। जनपद के महोली रोड पर सोमवार को तीन मंजिला निर्माणाधीन बिल्डिंग अचानक भरभरा कर गिर गई, जिससे दो मजदूरों की मौत हो गई, जबकि एक मजदूर घायल हो गया। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मलबे में कई और मजदूरों के भी दबे होने की आशंका है। फिलहाल रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन जारी है। बताया जा रहा है कि बिना परमीशन के बिल्डिंग का निर्माण कराया जा रहा था।

जवाहरबाग कांड का एक और आरोपी गिरफ्तार

मथुरा। जवाहरबाग कांड का एक और आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रामवृक्ष के फाइनेंसर राकेश गुप्ता को बदायूं से गिरफ्तार कर लिया गया। 
प्राप्त सूचना के अनुसार रामवृक्ष के लिए पैसा और हथियार उपलब्ध कराता था राकेश गुप्ता।

शहीद एसओ संतोष को गोली मारने वाला आरोपी गिरफ्तार

मथुरा। जवाहरबाग में 2 जून को हुई गोलीबारी में फरह थाने के एसओ संतोष यादव को एके 47 से गोली मारने के मामले में चंदन बोस को बुधवार को बस्ती से पुलिस की टीम ने गिरफ्तार कर लिया।
मिली जानकारी के अनुसार रामबृक्ष यादव के साथ उसका खास सलाहकार चंदन बोस, गिरीश यादव और राकेश गुप्ता मुख्य आरोपी हैं। इन तीनों की तलाश में पुलिस दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कई जिलों की खाक छान रही है। मुखबिर की सूचना पर बुधवार को बस्ती क्राइम ब्रांच की स्वाट टीम ने चंदन बोस को परसरामपुर गांव से पत्नी पूनम समेत पकड़ लिया। 
बताया जाता कि मथुरा हिंसा के आरोपी नक्‍सली बोस का मथुरा कांड में अहम रोल था। वह रामवृक्ष यादव का करीबी होने के साथ शॉर्प शूटर था। 
बता दें, एसओ संतोष यादव को उसने ही गोली मारी थी। हिंसा के बाद से वह फरार चल रहा था। मथुरा और बस्‍ती की पुलिस ने मिलकर पत्‍नी पूनम के साथ चंदन बोस को पकड़ा। चंदन की आखिरी लोकेशन गंगा की कटरी कासगंज क्षेत्र में मिली थी, जहां बदायूं और एसओजी की टीमें उसे तलाश रही थीं। उसे पकड़ने के लिए डीजीपी जावीद अहमद की ओर से सभी जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया था। फिलहाल चन्दन की गिरफ़्तारी से कई रहस्यों के खुलासे की उम्मीद है।

शहीद एसपी मुकुल द्विवेदी के परिवार से मिले सीएम

मथुरा। जवाहर बाग में शहीद हुए एसपी सिटी की तेरहवीं के मौके पर प्रदेश के मुख्या अखिलेश यादव उनके परिवार से मिलने मथुरा पहुंचे यहाँ पहुँच कर अखिलेश यादव शहीद मुकुल दुवेदी के घर पहुंचे जहाँ उन्होंने उनके परिवार से मुलाकात कर परिवार का हाल चाल जाना। सीएम ने  एसपी के पिता भाई पत्नी सहित घर के सभी सदस्यों  से मुलाकात कर उन्हें सरकार द्वारा की घोषणाओं के वादे को पूरा करते हुए 50 लाख रुपये की सहायता राशि का  चैक और  अधिकारी रैंक का नियुक्ति पत्र दिया साथ ही साथ सीएम ने उन्हें परिवार की हर वक्त सहायता का भरोसा  दिया।  इस दौरान मुख्य मंत्री करीब 40 मिनिट तक पीड़ित परिवार के साथ रूबरू हुए।  वही जब शहीद एसपी  के भाई से बात की गयी तो उन्होंने कहा की सीएम  ने उनके परिवार की हमेशा मदद का भरोसा  दिया है ,और कहा की मुकुल जैसा  ऑफिसर जो की पुलिस की वर्दी में समाज सेवा का काम करता था उसके जाने से हमे दुःख है, वही जो वादे उन्होंने किये थे उन्हें पूरा किया और कुछ मांगे हमारी थी उनपर भी उन्होंने हमे आश्वासन दिया है। 
सीएम ने कहा कि समाज का दुर्भाग्य है कि खाने और घर के लालच से आसानी से भीड़ इकट्ठा की जा सकती है।  जांच के तहत जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाही  की जाएगी।  उन्होंने मामले में मथुरा के प्रेस को दिया धन्यवाद कि उन्होंने प्रदेश सरकार की बेहतर नीयत का साथ दिया।  कैराना मामले पर अखिलेश ने कहा कि भाजपा का यह आरोप कि कैराना में लोगों को सपा ने भगा दिया, ये आरोप बिल्कुल गलत है। 
सीएम ने पीडित परिवार से मुलाकात के बाद कहा कि किसी भी घटना पर राजनीति नहीं होनी चाहिए और न ही इसका मौका मिलना चाहिए। सरकार की मंशा साफ थी कि बच्चों और महिलाओं की जान न जाए। 
 बता दें मथुरा हिंसा में एसपी सीटी मुकुल द्विवेदी और एसओ संतोष यादव समेत 29 लोगों की मौत हो गई है।  इस फायरिंग में और  लोग भी घायल हो गए हैं  जिनका इलाज चल रहा है।
सीएम  अखिलेश यादव मथुरा हिंसा में शहीद हुए एसपी मुकुल द्विवेदी और संतोष यादव के घरवालों को मुआवजा देने का ऐलान कर चुके हैं।  उत्तर प्रदेश सरकार शहीदों के परिजनों को 50-50 लाख रुपये और सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की है।  इसके अलावा दोनों ही पुलिस अफसरों की जितने दिन की नौकरी बची थी, उतने दिन की पूरी तनख्वाह उनकी पत्नियों को दी जाएगी।  सीएम ने घोषणा में यह भी कहा गया है कि शहीद पुलिसकर्मियों के रिटायरमेंट की तारीख के बाद उनकी जितनी पेंशन बनती है, उतनी पेंशन उनकी पत्नियों को दी जाएगी. मथुरा पुलिस ने भी शहीद अधिकारियों को अपने वेतन से 26-26 लाख रुपए की मदद देने का ऐलान किया है। 

जवाहर बाग़ खाली कराने गई पुलिस टीम पर फायरिंग में एसओ समेत 14 हुए शहीद

मथुरा।  यूपी के मथुरा में सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाने गई पुलिस पर स्थानीय लोगों ने फायरिंग कर दी।  इस फायरिंग में एसपी सीटी मुकुल द्विवेदी और एसओ संतोष यादव शहीद हो गए हैं जबकि दो एसओ सहित 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं।  पुलिस की जवाबी फायरिंग में 19 कब्‍जाधारियों की भी मौत हो गई।
बता दें कि मथुरा के जवाहर बाग में दो साल से लोगों ने अवैध जमीन पर कब्जा जमाया था, जिसे खाली कराने गई पुलिस दल पर फायरिंग की गई। 
एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी ने बताया कि 'पुलिस ने जवाहर बाग से भारी मात्रा में कारतूस, राइफल और पिस्तौल बरामद किया गया है। इतना ही नहीं घटनास्थल से ग्रेनेड और बारूद भी बरामद हुए हैं.' एडीजी ने बताया प्रदर्शनकारी गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल थे। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने ये जानकारी भी दी कि पुलिस कर्मियों पर हमला करने वाले 200 लोगों की पहचान की गई है जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर उनके खिलाफ उचित कानूनी धारा के तहत कार्यवाही की जाएगी।
सीएम अखिलेश यादव ने थानाध्यक्ष संतोष कुमार के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया और उनके आश्रितों के लिए 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की। उन्होंने एडीजी (कानून व्यवस्था) को तत्काल मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए और दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी तथा उनके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई करने को कहा। सीएम ने मेरठ के कमिश्नर से पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की है।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दोनों तरफ से आमने-सामने की फायरिंग हुई। 280 एकड़ में फैले जवाहर बाग के कई हिस्सों से आग की लपटें उठ रही हैं। भीड़ ने देशी बम और हथगोले भी फेंके। जवाहर बाग उद्यान विभाग की संपत्ति है। झड़प के दौरान 4 से 5 सिपाहियों को उपद्रवियों द्वारा खींचकर ले जाने की भी खबर है।इससे पहले मथुरा प्रशासन ने जवाहर बाग़ में रह रहे कब्ज़ाधारियों से बाग़ को खाली करने के लिए मुनादी कराई। इस मुनादी के विरोध में कब्जाधारियों ने प्रशासन पर निशाना साधते हुए अपनी तरफ से भी ऐलान शुरू कर दिया। प्रशासन ने हाईकोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए जवाहर बाग़ को जल्द खाली कराने की बात कही।प्रशासन का कहना है की हाईकोर्ट में कब्जा धारियों द्वारा एक याचिका वहां सत्यागृह करने की अनुमति देने के लिए डाली थी, जिसे उच्च न्यायलय ने ख़ारिज करते हुए इन लोगों पर 50 हजार का जुर्माना भी लगा दिया। मथुरा के डीएम राजेश कुमार ने कहा कि जवाहर बाग सरकारी प्रॉपर्टी है। इस पर करीब 3 से 4 हजार लोगों ने अवैध कब्ज़ा कर रखा है। 

अवैध कब्जा हटाने गयी पुलिस टीम पर फायरिंग,फरह के एसओ संतोष कुमार की गोली लगने से मौत

एसपी सिटी समेत एक दर्जन पुलिसकर्मी घायल।
कथित सत्याग्रहियों से जवाहर बाग़ खाली कराने गयी थी पुलिस। 
मथुरा। अदालत के आदेश पर कथित सत्याग्रहियों से जवाहर बाग़ खाली कराने गयी पुलिस टीम पर आन्दोलन कारियों द्वारा चलाई गयी गोली से एसपी सिटी समेत एक दर्जन पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। 
खबर है कि पुलिस और सत्याग्रहियों के बीच फायरिंग के दौरान स्थिति काफी विस्फोटक हो गयी थी और समाचार लिखे जाने तक दोनों तरफ से गोरिल्ला युद्ध जारी है। 
बताते चलें कि पिछले तीन वर्षों से जवाहर बाग़ में कथित सत्याग्रही रह रहे थे ,जहां अदालत के आदेश पर एसपी सिटी के नेतृत्व में जब पुलिस टीम पहुंची तो बौखलाए सत्याग्रहियों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया जवाब में आत्मरक्षार्थ पुलिसकर्मियों को भी गोली चलानी पड़ी। 
अब सवाल उठता है कि इन तथा कथित सत्याग्रहियों के पास असलहे और गोला बारूद कहाँ से आ गये ,इसके पीछे किन लोगों का हाथ है ,यह भी जांच का विषय है। 
आज जवाहर बाग़ में कथित यूनियन अध्यक्ष रामवृक्ष के गुर्गों ने गोलियां चलाकर विस्फोटक स्थिति उत्पन्न कर दिया। 
जिसमे फरह के एसओ संतोष कुमार की गोली लगने से मौत हो गयी।

सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत

मथुरा। जनपद के कोसीकला थाना क्षेत्र में टेम्पो और ट्रैक्टर ट्राली में हुई टक्कर से जहां तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी 13 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। सूचना पाकर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में कर मेडिकल परिक्षण हेतु भेजकर मामले की जांच में जुट गयी है।