health

Breaking News

पूविवि में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह आयोजित ,बने चरित्रवान तब होगा देश महानः स्वामी रामदेव 24UPNEWS.COM पर

‘जिसने रूलाये हैं मां को खून के आंसू, उनके हिस्से में जन्नत कहां से आयेगी" साहित्यकारों के बीच में मिलने वाली अनुभूति कहीं नहीं मिलतीः पीसी श्रीवास्तव

सीडीओ, एसडीएम व चेयरमैन ने किया डा. एचएन पाण्डेय के पुस्तकों का विमोचन
लखनऊ, इलाहाबाद, भदोही, जौनपुर सहित अन्य जनपदों के 9 कवि सम्मानित

    जौनपुर। साहित्यकारों के बीच में बैठने पर जो अनुभूति मिलती है, वह कहीं नहीं मिलती। साहित्यकार जितना समाज व प्रकृति से सम्पर्क बढ़ाते हैं, उनके मन की कुंठा उतनी ही दूर होती है। उक्त बातें होमियोपैथिक मेडिकल कालेज के अवकाशप्राप्त प्रवक्ता व वरिष्ठ चिकित्सक डा. हृदय नारायण पाण्डेय की स्वरचित ‘9 पुस्तकों’ के विमोचन अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र श्रीवास्तव ने बतौर मुख्य अतिथि कही। अम्बेडकर तिराहे के बगल स्थित एक मैरेज हाल में आयोजित समारोह की शुरूआत मां सरस्वती के प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से हुआ जिसके बाद डा. हरि प्रसाद त्रिपाठी ‘किसलय’ ने सरस्वती वंदना किया।
    मित्र प्रकाशन परिवार द्वारा आयोजित समारोह में निदेशक अजय पाण्डेय, तरून शुक्ल, कार्यक्रम संयोजक रामजी जायसवाल ने मुख्य अतिथि का माल्यार्पण कर स्वागत करते हुये स्मृति चिन्ह भेंट किया। इसी क्रम में विशिष्ट अतिथि नगर पालिकाध्यक्ष दिनेश टण्डन ने कहा कि किसी व्यक्ति का साहस ही उसको उसके मंजिल तक पहुंचाता है। विशिष्ट अतिथि उपजिलाधिकारी सदर ज्ञानेन्द्र सिंह ने कहा कि चिकित्सा के साथ साहित्य में इस तरह का मुकाम पाना वाकई टेढ़ी खीर है। इसके अलावा हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. विनोद कुमार, वरिष्ठ पत्रकार अनिल पाण्डेय, टीडीपीजी कालेज के एसोसिएट प्रोफेसर डा. विनोद सिंह, कवि हरि प्रसाद त्रिपाठी किसलय, चाणक्य महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डा. आशुतोष उपाध्याय, कर्मचारी नेता राकेश श्रीवास्तव, एसोसिएट प्रोफेसर डा. नरेन्द्र पाल सिंह ने अपना विचार व्यक्त करते हुये अपनी रचनाओं को सुनाया।
    इसके बाद कवि डा. प्रमोद वाचस्पति ‘सलिल जौनपुरी’ ने मंचासीन अतिथियों के नाम पर शेर सुनाया तो कवि आकिल जौनपुरी ने देशभक्ति की याद दिलायी जबकि भदोही के पारसनाथ मिश्र ने तो पूरे माहौल को फाल्गुनी बना दिया। इस दौरान भदोही के इंकलाबी शायर ‘कैशर जौनपुरी’ ने ‘उन्हें तो फिक्र है दौलत कहां से आयेगी, मैं सोचता हूं कि बरकत कहां से आयेगी, जिसने मां को रूलाये हैं खून के आंसू, फिर उसके हिस्से में जन्नत कहां से आयेगी’ सुनाकर भाव-विभोर कर दिया।
    इसी क्रम में डा. हृदय नारायण पाण्डेय ने साहित्य व शैक्षणिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर भदोही के शिवलोचन तिवारी, डा. पारसनाथ मिश्र, डा. विनोद सिंह, डा. लाल साहब सिंह, लखनऊ के चक्रपाणि पाण्डेय, डा. हरि प्रसाद त्रिपाठी, डा. आशुतोष उपाध्याय, डा. रामशिरोमणि होरिल, डा. लल्लन प्रसाद मिश्र को अंगवस्त्रम्, श्रीफल एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। साथ ही आयोजन समिति के अजय पाण्डेय, तरून शुक्ल व रामजी जायसवाल ने विशिष्ट अतिथिद्वय दिनेश टण्डन एवं ज्ञानेन्द्र सिंह को पुस्तकों के साथ स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता लखनऊ से आये वरिष्ठ साहित्यकार चक्रपाणि पाण्डेय ने किया जहां संचालन की जिम्मेदारी सुशील वर्मा एडवोकेट व तरून शुक्ला ने निभायी।
    इस अवसर पर अधिवक्ता नन्द लाल मौर्य, चिंतामणि तिवारी, मुक्तेश्वर यादव, आचार्य रविन्द्र द्विवेदी, रमेश मिश्र, कथाकार राधेश्याम तिवारी, प्रभारी जिला सूचना अधिकारी केके तिवारी, दीपक चिटकारिया, समाजसेवी दिनेश सिंह, शिक्षक प्रदीप सिंह, प्रशांत उपाध्याय, हैदराबाद के पत्रकार अजय शुक्ला, योग गुरू अचल हरिमूर्ति, बेहोश जौनपुरी, रालोद के डा. सत्येन्द्र सिंह, प्रभाकर तिवारी एडवोकेट, सदाशिव तिवारी, गोरखपुर के संजय दूबे, कर्मचारी नेता भवनाथ यादव, रामसूरत यादव सहित तमाम पत्रकार, अधिवक्ता, साहित्यकार, समाजसेवी आदि उपस्थित रहे। अन्त में कार्यक्रम संयोजक रामजी जायसवाल व मित्र प्रकाशन परिवार के निदेशक अजय पाण्डेय ने सभी आगंतुकों के प्रति आभार जताया।

जौनपुर में भूमि अधिग्रहण के विरोध में धरना प्रर्दशन कर रहे काग्रेसियों और पुलिस के बीच जमकर हुआ नोकझोक। इस दरम्यान पूरे कलेक्ट्रेट परिसर में अफरा तफरी का माहौल बना रहा।


भारतीय अर्थ व्यवस्था को खोखला कर रहे तस्कर,नेपाल के रास्ते लाया जा रहा नकली नोट,एक गिरफ्तार

आजमगढ़। देश की भारतीय अर्थ व्यवस्था को खोखला कर रहे तस्कर,नेपाल के रास्ते लाया जा रहा नकली नोट, पुलिस ने को एक गिरफ्तार इसी तरह से यह अर्थ व्यवस्था को चोट पहुंचा रहे है। इन जाली नोट के तस्कर अपना जाल पूरी तरह बिछा रहे और आम आदमी इससे ठगा जा रहा है। जाली नोट का हब बनते आजमगढ़ में फूलपुर कोतवाली की पुलिस ने 165000 नकली नोट के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है।
पाकिस्तान और आईएसआई के इशारे पर भारत की अर्थ व्यवस्था को चोट पहुंचाने के लिए जाली नोट के तस्कर अपना रैकेट बनाकर अपनी गतिविधियां संचालित कर रहे है। ऐसे ही एक गिरोह के सरगना को आजमगढ़ जिले के फूलपुर कोतवाली की पुलिस ने एक हजार के 165000 जाली नोटों के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपी शफीक अहमद गम्भीरपुर थाना क्षेत्र के कमरांव का का रहने वाला है और गम्भीरपुर थाने का हिस्ट्रशिटर भी है। अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण मोहम्मद इमरान ने बताया कि 1 लाख देने पर 16500 जाली नोट मिलते है और यह जाली नोट नेपाल के रास्ते भारत लाया जाता है और यह जाली नोट यह खुद लेकर नही आता है इसको दूसरे लोग लाकर देते है और यह पूरे पूर्वाचल में नोटों की सप्लाई करता है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि यह इन नोटों को लेकर तस्कर शफीक कानपुर जा रहा था और मुखबिर से सूचना मिलने के बाद इसे जाली नोटों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया।
इस जाली नोट के करोबारी को पूर्व में भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था और यह जेल में भी बंद था और जेल से छूटने के बाद यह फिर इस धंधे में लग गया।

देश में अगर कोई अशांति फैलाना चाहे है तो उसे गोली का जवाब गोली से दिया जायेगा- राजनाथ सिंह गृह मंत्री

दोहरी मार झेलने को जनता मजबूर,डीजल.पेट्रोल मूल्य वृद्धि के विरोध में सपाइयों ने फुका मोदी का पुतला

चंदौली -कल पेश हुए बजट के तुरंत बाद ही मोदी सरकार द्वारा शनिवार को पेश किये  जहां आम आदमी को निराशा हाथ लगी । वही शाम होते होते तेल कम्पनियो द्वारा मूल्य वृद्धि ने आम आदमी पर दोहरा मार किया है । एक साथ डीजल और पेट्रोल में तीन रूपये से अधिक की बढ़ोत्तरी से लोगो काफी आक्रोश है । जिले के मुगलसराय में सपा कायकर्ताओं ने प्रधानमंत्री  मोदी का पुतला लेकर जुलुस निकाला  और जमकर मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की साथ ही मोदी का पुतला भी फुका । सपाइयों का कहना है की डीजल और पेट्रोल के दामो में बढ़ोत्तरी से किसानो को सबसे अधिक मार पड़ेगी । चंदौली धान का कटोरा कहा जाता है और यहां का कृषि ही मुख्य पेशा है । इस मूल्य वृद्धि से जिले के किसानो के साथ ही आम जनमानस को भी काफी परेशानी का सामना करना पडेगा ।

पत्रकारों ने आज पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और गृहमंत्री राजनाथ सिंह के कार्यक्रम का किया बहिष्कार

जौनपुर। जिले के इलेक्ट्रानिक और प्रिंट मीडिया से जुड़े पत्रकारों ने आज पूर्व रास्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और गृहमंत्री राजनाथ सिंह के कार्यक्रम का बहिस्कार कर दिया। यह कार्यक्रम टी.डी कालेज में आयोजित था। मामला था कि पत्रकारों को कालेज व्यवस्थापक द्वारा इस कार्यक्रम के लिए आमंत्रण नही भेजा गया था।
बहिसकार की सूचना मिलने पर टी.डी कालेज के प्रबंधतंत्र व जिला प्रषासन सकते में आ गया। इस बात की जानकारी मिलते ही जौनपुर पत्रकार संघ ने अध्यक्ष ओम प्रकाष सिंह कार्यक्रम के बहिसकार करने वाले पत्रकारों के बीच पहुंचे। उन्होने वही से इस प्रकरण व पत्रकारो की नाराजगी के बारें में टी.डी कालेज के प्रबंधक अषोक सिंह को जानकारी दी। इस पर प्रबंधक अषोक सिंह व पूर्व गृह राज्यमंत्री महारास्ट्र कृपाषंकर सिंह भी तत्काल पत्रकारों के बीच पहुंचे। वहां जाकर टी.डी कालेज के प्रबंधक अशोक  सिंह ने सभी पत्रकारों से क्षमा मांगी व इस बात की भविस्य में पुनरावृत्ति न होने की बात कही। तब जाकर पत्रकारों ने उक्त कार्यक्रम का कवरेज किया।  
पत्रकारों ने इस प्रकरण को अत्यन्त खेदजनक बताते हुए कहा कि इतने बड़े कालेज में व्यवस्था नाम की चीज नहीं है जिसके चलते पत्रकारों को अपमान झेलना पड़ा। भविष्य  में कालेज के किसी भी मीडिया कवरेज पर विचार किया जाएगा। इस मौके पर राजकुमार सिंह, राजेश  श्रीवास्तव, शम्भू सिंह, जय आनन्द संजय अस्थाना हसनैन कमर, अजीत सिंह, मांे. अब्बास, सुधाकर षुक्ला, मो.जावेद, दीपक मिश्रा, विष्व प्रकाश  श्रीवास्तव, राजन मिश्रा,सागर कष्यप, कुवंर दीपक सिंह, इशरत के साथ काफी संख्या में पत्रकार मौजूद थे।

भारत को एक जन्म में नहीं समझा जा सकता , भारत को समझने के लिए भारत के आकाश के तले कई जिंदगिया बितानी होगी - राजनाथ सिंह गृह मंत्री

देश में अगर कोई अशांति फैलाना चाहे  है तो उसे  गोली का जवाब गोली से दिया जायेगा

जौनपुर में आज देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह और पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल तिलक धारी सिंह महाविद्यालय के स्थापना शताब्दी समारोह में शिरकत करने आये थे कार्यक्रम में श्री सिंह ने कहा की भारत को एक जन्म में नहीं समझा जा सकता , भारत को समझने के लिए भारत के आकाश के तले कई जिंदगिया बितानी होगी और उन्होंने कहा की दुनिया का ज्ञान अगर कही से निकला है तो वह गंगा किनारे यानि भारत यानि वाराणसी  और जौनपुर से निकला  है , गुणवक्तायुक्त शिक्षा लेने के साथ साथ देश के विकास के लिए इमानदारी से काम करे। इस मौके पर पत्रकारो से बातचीत के दौरान गृहमंत्री राजनाथ ने कहा कि हमारी सरकार भारत को गरीबी मुक्त ज्ञान से युक्त एक महान भारत बनाने के लिए काम कर रही है उन्होने पड़ोसी देशो को अपने सीमा में रहने का हिदायत देने हुए कहा कि हम लोग अहिन्सा के पुजारी है अगर मेरे देश में काई अशांति फैलाना चाहता है उसके गोली का जवाब गोली से ही दिया जायेगा। उन्होने यूपी की कानून व्यवस्था पर कोई टिप्पणी तो नही किया बल्कि देश अंातरिक सुरक्षा को मजबूत करनेे पर बल दिया है। आम बजट को उन्होने हर वर्ग का बजट बताया।