health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

विहिप ने गो तस्करों के खिलाफ छेड़ी जंग

जौनपुर। विश्व हिन्दू परिषद ने गो तस्करों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है जिसके क्रम में सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के सन्दहा गांव के कार्यकर्ताओं ने उस समय एक कामयाबी हासिल किया जब पिकप पर गोवंशों को भरकर वध हेतु ले जा रहे लोग पकड़ लिये गये। विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री राकेश श्रीवास्तव के अनुसार सूचना के आधार पर कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे और वहीं से थाना पुलिस को सूचना दिया जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक तस्कर फरार हो गये थे। फिलहाल पुलिस ने 3 तस्करों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर मामले की छानबीन शुरू कर दिया है। वहीं दूसरी ओर विहिप सहित अन्य हिन्दूवादी संगठनों ने ऐसी घटना की निंदा करते हुये जिला व पुलिस प्रशासन से गो तस्करों के खिलाफ कार्यवाही तेज करने की मांग किया।

मैनपुरी के सांसद तेजप्रताप यादव ने बिहार चुनाव के मुद्दे पर पूरी तरह सपा के साथ दिखे

आजमगढ़। सपा सुप्रिमो मुलायम सिंह यादव के प्रपौत्र और राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव के दामाद व मैनपुरी के सांसद तेजप्रताप यादव ने बिहार चुनाव के मुद्दे पर पूरी तरह सपा के साथ दिखे और कहा कि बिहार चुनाव में सपा प्रभावी सीटे जीतेगी। चुनाव बाद सपा संसदीय बोर्ड की बैठक में हम तय करेंगे की सरकार बनाने में हमारी क्या भूमिका होगी।
आजमगढ़ जिले के कुंवर सिंह उद्यान में आयोजित पूर्व सांसद व सपा के संस्थापक सदस्य स्व0 इशदत्त यादव की पुण्यतिथि समारोह में मुख्य अथिति के रूप में पहुंचे मैनपूरी के सांसद तेजप्रताप यादव ने जहां नगर के हरबंशपुर तिराहे पर सुखदेव पहलवान की प्रतिमा का अनावरण किया वही प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं के 145 लाभार्थियों में चेक वितरित किया। इस दौरान उन्होंने प्रदेश सरकार के कार्यो की सराहना की और कहा कि नेती जी कहते है मैनपुरी हमारा घर है तो आजमगढ़ हमारे दिल की धड़कन। उन्होंने कहा कि वाराणसी से ज्यादा आजमगढ़ में विकास हुआ है। बिहार विधान सभा चुनाव के मुद्दे पर तेजप्रताप यादव ने कहा कि बिहार चुनाव में सपा प्रभावी सीटे जीतेगी। चुनाव बाद सपा संसदीय बोर्ड की बैठक में तय करेंगी की सरकार बनाने में हमारी क्या भूमिका होगी।

फायरिंग कर भाग रहे बदमाश को ग्रामीणो ने की दैहिक समीक्षा,आरोपी पुलिस के हवाले

जौनपुर।जनपद के खुटहन थाना क्षेत्र के बनुआडीह गांव के पास एक युवक पर फायरिंग करके भाग रहे चार बदमाशो को ग्रामीणो ने की दैहिक समीक्षा । घटना  में तीन बदमाश तो मौके से भाग निकले , लेकिन एक बदमाश को ग्रामीणो ने पकड़ लिया और सामूहिक रूप से दैहिक समीक्षा कर दिया।  ग्रामीणो ने उसकी जमकर धुनाई करके पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस उक्त बदमाश को हिरासत में लेकर कठोरता से पुछताछ कर रही है।  
सूत्रों के अनुसार खुटहन थाना क्षेत्र के ओईना गांव का निवासी नरेन्द्र यादव पुत्र सुक्खु अपने भाई सोनू को शाहगंज रेलवे स्टेशन पर छोड़ने के लिए बाईक से जा रहा था। रास्ते में बनुआडीह गांव के पोखरा के पास दो बाईक पर सवार चार बदमाश ओवर टेक करके नरेन्द्र को रोकने के बाद तमंचे के बल पर उसका अपहरण करके ले जाने लगे तो वह शोर मचाते हुए बदमाशो से भीड़ गया। एक बदमाश ने तमंचा निकालकर उस पर फायर करने जा रहा था कि नरेन्द्र उसकी कलाई पकड़ तमंचे का रूख दूसरी तरह मोड़ दिया। जिसके कारण गोली उसे नही लगी। इसी बीच शोरगुल और गोली की आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण बदमाशो को दौड़ा लिया। जिसमें तीन बदमाशो तो मोटर साईकिल से भाग निकले लेकिन अब्दुला नामक एक बदमाश को ग्रामीणो ने पकड़कर जमकर मारने पीटने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस उसे अपने हिरासत में लेकर पुछताछ कर रही है। 
दो दिन पूर्व बैल को खरीदने और बेचने को लेकर नरेन्द्र और अब्दुला के बीच विवाद हो गया था। इसी बात को लेकर आज अब्दुला अपने साथियों के साथ उसे मारना चाहता था।

सीट पर बैठने को लेकर ट्रेन में हुआ विवाद, जवानों ने रेलकर्मी को पीटा

लखनऊ - प्रदेश के चंदौली जनपद में  हावड़ा-देहरादून एक्सप्रेस ट्रेन में सीट पर बैठने को लेकर जवानों ने एक रेलकर्मी को बुरी तरह पीटकर घायल कर दिया। ट्रेन जब सैयदराजा स्टेशन पहुंची तो वहां मौजूद लोग रेलकर्मी को पिटते देख गुस्से से आगबबूला हो गए। उन्होंने ट्रेन पर पथराव करना शुरू कर दिया। पुलिस ने फिलहाल आरोपी जवानों को हिरासत में ले लिया है।
सूत्रों के अनुसार सैय्यदराजा स्टेशन पर तैनात रेलकर्मी अरमान हावड़ा-देहरादून एक्सप्रेस की S-1 बोगी में बैठकर ड्यूटी पर आ रहा था। इस दौरान ट्रेन में पहले से बैठे सेना के कुछ जवानों से अरमान की सीट को लेकर बहस हो गई। बात जब ज्यादा बढ़ गई तो जवानों ने उसे बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया। स्टेशन पहुंचते ही घायल अरमान ने अपने साथियों और स्थानीय पुलिस को घटना की जानकारी दी।
रेलकर्मी की पिटाई से आक्रोशित लोगों ने ट्रेन पर पथराव भी किया, जिससे एस-1 बोगी के कई खिड़कियों के शीशे टूट गए। पुलिस ने आरोपी सेना के जवानों को हिरासत में लेने के बाद ट्रेन को मुगलसराय के लिए रवाना कर दिया गया। मौके पर पहुंचे अलीनगर थाना प्रभारी विनोद यादव ने बताया कि आरोपी सेना के जवानों को अपने हिरासत में ले लिया गया है। उन्हें सैयदराजा कोतवाली लाया गया है। वहीं, गंभीर रूप से घायाल रेलकर्मी अरमान को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है।

मूतियों के विसर्जन के बारे में आवश्यक दिशा निर्देश

जौनपुर- प्रभारी जिलाधिकारी पी0सी0 श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय पर विश्वकर्मा मूर्ति पूजा विसर्जन, सेना भर्ती की तैयारी एवं कानून व्यवस्था के सम्बन्ध में एक बैठक सम्पन्न हुई जिसमें नगर सहित सभी तहसीलों में मूतियों के विसर्जन के बारे में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। इसके साथ ही सभी उपजिलाधिकारी/पुलिस क्षेत्राधिकारी सेना भर्ती के लिए चन्दौली जाने के लिए सभी तहसील बस पड़ावों से परिवहन विभाग द्वारा लगायी गयी बसों के संचालन पर बराबर नजर रखेगे। उन्होंने बताया कि जनपद चन्दौली में सेना भर्ती की प्रक्रिया चल रही है जिसमें जौनपुर से संबंधित अभ्यर्थियों के भर्ती की प्रक्रिया दिनांक 20 सितम्बर 2015 प्रस्तावित है। जौनपुर से अभ्यर्थियों के चन्दौली हेड क्वाटर सकलडीहा से आवाजापुर भर्ती स्थल तक आवागमन के लिए दिनांक 19 सितम्बर 2015 को प्रातः 8 बजे से जेसीज चौराहे के पास से 15 बसे, सिपाह से 10 बसे, तहसील मछलीशहर बस पड़ाव से 5 बसे, तहसील बदलापुर बस पड़ाव से 5 बसे, तहसील शाहगंज बस पड़ाव से 5 बसे, तहसील केराकत बस पड़ाव से 5 बसे तथा तहसील मड़ियाहूं बस पड़ाव से 5 बसे चन्दौली सेना भर्ती के लिए प्रस्थान करेगी। बैठक में अपर जिलाधिकारी रजनीश चन्द्र, अपर पुलिस अधीक्षक देहात रामस्वरूप, प्रभारी नगर मजिस्टेªट आर0के0 पटेल, पुलिस क्षेत्राधिकारी सदर राजकुमार पाडेण्य, कोतवाल सत्येन्द्र नाथ तिवारी आदि उपस्थित रहें। जिलाधिकारी के निर्देश पर सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी प्रवर्तन लक्ष्मण प्रसाद एवं सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी प्रशासन सूरज राम पाल ने समय से निर्धारित स्थलों पर बसे उपलब्ध रही।

सुलह न करने पर पुलिस ने युवक को पीट पीटकर किया लहूलुहान, एसपी ने किया तीन सिपाही को सस्पेड

जौनपुर। जनपद के सुजानगंज थाना क्षेत्र के पोखरा गांव  में जमीनी विवाद में सुलह ने करने एक युवक को किया लहूलुहान,तीन पुलिस कर्मियों को एसपी भारत सिंह यादव ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। 
खबरों के अनुसार आज सुजानगंज थाना क्षेत्र के पोखरा गांव में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षो में मारपीट हो गयी थी। एक पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने रमेश मिश्रा पुत्र प्रभाकर मिश्रा उम्र 30 वर्ष को पुलिस ने थाने पर बुलाकर जमकर मारापीटा उसके बाद उसका 151 के तहत चालान कर एसडीएम बदलापुर के पास भेज दिया था। जब पुलिस रमेश को लेकर बदलापुर तहसील पहुंचा तो उसकी हालत और विगड़ गया। उसकी हालत देखकर वकीलो ने उसे बदलापुर सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र ले गये जहां पर उसकी हालत को नाजुक देखते हुए जौनपुर रेफर कर दिया गया था। एसपी भारत सिंह यादव ने इस मामले को गम्भीरत से लेते हुए 
हे0 का0 वासुदेव यादव, रविभान तिवारी, चन्द्र प्रताप सिंह को राजकीय कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही, उदाशिनता, अकर्मणता एवं अनुशासनहीनता करने के आरोप में निलम्बित किया गया।

विवेकानन्द केंद्रीय पुस्तकालय में तीन दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया गया।

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के विवेकानन्द केंद्रीय पुस्तकालय में तीन दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी का उद्घाटन गुरूवार को किया गया। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व पुस्तकालयाध्यक्ष डा. जेएल उपाध्याय, बीएचयू वाराणसी के पुस्तकालयाध्यक्ष डा. अजय कुमार श्रीवास्तव एवं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पीयूष रंजन अग्रवाल ने दीप प्रज्जवलित कर पुस्तक मेले का उद्घाटन किया।
मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व पुस्तकालयाध्यक्ष डा. जेएल उपाध्याय ने कहा कि सर्वेक्षण बता रहे है कि देश के लाइब्रेरियों में पढ़ने को भीड़ कम हो रही है। ऐसे में वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय का यह प्रयास बहुत प्रशंसनीय है कि इस लाइब्रेरी में हर लक्ष्य वर्ग के लिए पुस्तकें मौजूद है। पुस्तक मेले में विद्यार्थियों की भारी शिरकत से उत्साहित उन्होंने कहा कि आप शिक्षित होकर इस विश्वविद्यालय से जाए और देशसेवा करें। अपने पाठ्यक्रम के अलावा भी पुस्तकें पढ़ने की आदत विकसित करें। यह व्यक्तित्व विकास के लिए बहुत आवश्यक है। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि पुस्तकें जीवन जीने की सीख देती है। इसलिए पुस्तकों को अपना मित्र बनाइए।
विशिष्ट अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए बीएचयू वाराणसी के पुस्तकालयाध्यक्ष डा. अजय कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि पुस्तकों में विचारों की ऊंचाई, सागर की गंभीरता एवं सरस्वती का वेग होता है। हमारी पुस्तकें मां सरस्वती की लगायी हुई रंगोली है जो कि बोलती है। बगैर पुस्तकों के विद्या एवं ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती। उन्होंने उपस्थित शिक्षकों एवं विद्यार्थियों से कहा कि विद्या अध्ययन के लिए पुस्तकालयों में अवश्य जाए। आज भी लाइब्रेरी में हमारे अतीत को दर्शाती, ज्ञान विज्ञान से लबरेज ऐसे प्राचीन ग्रंथ है जो कि स्वर्ण अक्षरों में लिखे गये है एवं सुरक्षित है। इस देश की यह अनमोल धरोहर है। 
अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पीयूष रंजन अग्रवाल ने कहा कि इस पुस्तक मेले का आयोजन विश्वविद्यालय के विद्यार्थी, शिक्षक, शोधार्थी एवं समाज के लिए किया जा रहा है। हमारी कोशिश है कि विश्वविद्यालय के अन्तर्गत समाहित समस्त महाविद्यालयों के विद्यार्थी एवं शिक्षक अपने ज्ञान को अपडेट करने के लिए इस अवसर पर लाभ उठायें। उन्होंने कहा कि बेहतर शिक्षा देने एवं ग्रहण करने के लिए पुस्तकालयों में अच्छी पुस्तकों का होना बहुत जरूरी है। इस वर्ष विश्वविद्यालय ने बुकबैंक के माध्यम से उच्च कोटि की पुस्तकों को अपने विद्यार्थियों को मुहैया कराया है। विश्वविद्यालय में नवप्रवेशित शोध छात्रों के लिए छह महीने का कोर्सवर्क प्रारम्भ हो रहा है। ऐसे में हमारे पुस्तकालय का समृद्ध होना बहुत आवश्यक है। पाठ्यक्रम की पुस्तकों के साथ-साथ ही महापुरूषों के जीवन को रेखांकित करने वाली पुस्तकों को भी पुस्तकालय में सम्मिलित किया जाएगा। 
कार्यक्रम के पूर्व विश्वविद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया। कुलपति प्रो. पीयूष रंजन अग्रवाल ने मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। स्वागत मानद पुस्तकालयाध्यक्ष डा. मानस पाण्डेय, संचालन डा. एचसी पुरोहित एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रो. डीडी दूबे ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव डा. बीके पाण्डेय, प्रो. बीबी तिवारी, उपकुलसचिव संजय कुमार, डा. एके श्रीवास्तव, डा. विजय प्रताप तिवारी, डा. अजय प्रताप सिंह, डा. अजय द्विवेदी, डा. अविनाश पाथर्डीकर, डा. प्रदीप कुमार, डा. रजनीश भाष्कर, डा. बीडी शर्मा, डा. रामनारायण, डा. मनोज मिश्र, डा. दिग्विजय सिंह राठौर, डा. अवध बिहारी सिंह, डा. रविप्रकाश, डा. आलोक सिंह, डा. कार्तिकेय शुक्ला, डा. एसपी तिवारी, डा. सुधीर उपाध्याय, डा. शैलेश प्रजापति, डा. केएस तोमर, डा. विद्युत मल्ल, अवधेश कुमार, श्याम त्रिपाठी, राजेश जैन एवं कपिल त्यागी सहित विश्वविद्यालय के विद्यार्थी मौजूद रहे।