health

Breaking News

जौनपुर में भीड़ की तालिबानी सजा देखिये लाइव पिटाई का वीडियो 24UPNEWS.COM पर

रामपुर में ट्रक ड्राइबर की हत्या और लूट के विरोध में ग्रामीणो और परिजनो ने किया रोड जाम 24upnews.com

रामपुर में ट्रक ड्राइबर की हत्या और लूट के विरोध में ग्रामीणो और परिजनो ने किया रोड जाम

जौनपुर। जनपद के रामपुर थाना क्षेत्र के सिधवन गांव के पास आज रात  हुये  ट्रक ड्राईबर की हत्या और लूट के विरोध जता रहे ग्रामीणो ने लाईनबाजार थाना क्षेत्र के शिवापार गांव में शव को सड़क पर रखकर रोड को जाम कर दिया था । लगभग दो घंटे तक चले चक्का जाम को एसडीएम ने हत्यारो की जल्द गिरफ्तारी करने और उचित मुआवजा घर बनाने व खेती के जमींन मुहैया कराने का आश्वासन देकर जाम को समाप्त कराया।
खबरों के अनुसार बीती रात रामपुर थाना क्षेत्र के सिधवन गांव के पास अज्ञात बदमाशो ने लाईनबाजार थाना क्षेत्र शिवापार गांव निवासी आशीष कश्यप नामक ट्रक चालक की गोली मारकर हत्या कर दिया और खलासी रोहित को तमंचे की बट से प्रहार करके बुरी तरह से घायल हो गये। आज देर शाम उसका शव पोस्टमार्टम  के बाद परिजनो को सौपा गया। परिजन उसका पार्थिक शरीर लेकर गांव पहुंचे तो जनता आक्रोेशित होकर लाश को शिवापार गांव के पास रखकर चक्का जाम कर दिया। ग्रामीणो की मांग थी कि मृतक के परिवार वालो को दस लाख रूपये मुआवजा और घर बनाने और खेती करने के लिए जमीन दिया जाया। सूचना मिलते ही एसडीएम सदर मौके पर पहुंचकर ग्रामीणो की सारी मांगो को पूरी करने का आश्वासन देकर जाम को समाप्त कराया

जौनपुर के नये एसपी दिलीप श्रीवास्तव होंगे

जौनपुर - आज शाम उत्तर प्रदेश शासन द्वारा देर शाम चार आईपीएस और 6 पीपीएस आधिकारियों का तबादला किया है। इस ट्रांसफर में जौनपुर एसपी भारत सिंह यादव को हटाकर यहा की कमान दिलीप श्रीवास्तव को सौपी है। यहां के अपर पुलिस अधीक्षक पद पर अरूण कुमार श्रीवास्त को तैनात किया है।   

क्या देश की आवाम पीएम की अपील स्वीकारेगा-एक बड़ा सवाल

कपिल देव मौर्य
देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा मन की बात में एक बार पुनः सफाई का मुद्दे पर चर्चा करते इसे आगे बढ़ाने की अपील करके सफाई अभियान के कार्यक्रम पर एक बड़ा सवालिया निशान लगा दिया। प्रधानमंत्री के इस अपील का कितना असर देश के आम व खास लोगो पर पड़ेगा यह कहना तो कठिन होगा। लेकिन पहली बार प्रधानमं.त्री ने जब सफाई की बात किया था तो उस समय खुद भाजपा के लोग सफाई के मुद्दे पर गम्भीर नजर नही आयें, हां झाणू लेकर फोटो खिंचवाने तक सीमित दिखे थे और जिम्मेदार बिभाग के लोग एवं नौकरशाह भी सक्रियता नही दिखाया था।सफाई अभियान आन्दोलन का रूप नही ले सका परिणाम रहा कि गंदगी जस की तस रह गयी। पुनः प्रधानमंत्री जी ने इस मसले पर बहस छेड़ा है और इसे आम आदमी से जोड़ा है। तो क्या देश पूर्ण रूप से स्वच्छ एवं सुन्दर हो जायेगा एक बड़ा सवाल हैं।
      आम जनता ने जब यह प्रबृत्ति बना लिया कि घर बाहर और सार्वजनिक स्थलो पर गंदगी फैलाना ही है इस प्रबृत्ति ने सबको अपनी चपेट में ले लिया है। स्थिति यह है सार्वजनिक स्थलो सहित नदियां पहाड आदि सभी गंदगी की चपेट में है।़गंदगी की शिकायत तो सभी लोग करते है लेकिन उसे दूर करने के लिए कोई सहयोग नही करता है। आज भारत पहचान की पहचान एक ऐसे देश की बन गयी है जो किसी भी दशा मे गंदगी से निपटने के लिए तैयार नही है। हां यदि यह सोचा जाये कि केन्द्रीय सरकार अपने बलबूते पर इस देश को स्वच्छ बना देगी तो ऐसा होने वाला नही है यह एक ऐसा काम है जिसमें सभी लोगो को मिल कर योगदान करने के लिए आगे आना होगा तभी भारत एक स्वच्छ राष्ट्र बन सकेगा।
    गंदगी के कारण देश में तमाम तरह की बीमारियां सुरसा की तरह मुंह फैलाये आम आवाम को डस रही है। इसी गंदगी के चलते डेंगू-मलेरिया आदि मच्छर जनित बीमारी का प्रकोप पूरे देश को अपने चपेट मे ले रखा है। जिससे निजात पाने के लिए सरकारो को एड़ी से चोटी तक का जोर लगाना पड़ रहा है। स्वच्छता अभियान की सबसे लिराशा जनक स्थिति यह है कि जिम्मेदार संस्थायें अपनी जिम्मेदारी समझने से करीब करीब इनकार कर दिया है। राज्य की सरकारो पर भी सवाल उठता है कि उसने भी इन पर दबाव बनाने का सार्थक प्रयास क्यो नही किया है। जिम्मेदारो की गैरजिम्मेदारी के कारण स्वच्छता का अभियान सफलता से आज कोसो दूर है और देश की छबि पर बुरा असर दृष्टिगोचर है। 
    अब एक सवाल प्रधानमंत्री के प्रति भी उठ खड़ा होता है कि क्या वे भी मन की बात करके देश की स्वच्छता की जिम्मेदारी से खुद को मुक्त मान ले रहे है या फिर देश की आवाम सहित सभी जिम्मेदार संस्थाओ से मिल कर देश की छबि बढ़ाने के प्रति गम्भीर है। प्रधानमंत्री जी की अपील का असर जब उनकें दल के जन प्रतिनिधियों सहित पार्टी जनो पर नही नजर आता है। तो आम जनो पर क्या असर होगा सहज अनुमान लगाया जा सकता है। जो भी हो यदि यह अभियान सफल नही हुआ तो इाका बुरा असर देश को ही भुगतना पड़ेगा। 

बकरीद का पर्व चन्द्र दर्शन के अनुसार 25 को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए एक बैठक सम्पन्न

जौनपुर- जिलाधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला शान्ति समिति की इदुज्जुहा (बकरीद) का पर्व चन्द्र दर्शन के अनुसार 25 सितम्बर 2015 को त्योहार सकुशल सम्पन्न कराने के लिए एक बैठक सम्पन्न हुई जिसमें डा0 सकील अहमद, साजिद हमीद, अलीमंजर डेजी, कैलाश नाथ विश्वकर्मा, पूर्व विधायक हाजी अफजाल, शैल मौर्या, इन्दभान सिंह इन्दु, लालजी यादव, अरूण, मो0 शोयब, शंशाक सिंह रानू,   ने विद्युत, पेयजल, सफाई, सडक मरम्मत, नागरिक आपूर्ति, चिकित्सा तथा सुरक्षा व्यवस्था पर बहुमूल्य सुझाव दिये सभी सदस्यों ने गंगा जमुनी एकता को बनाये रखने का आश्वासन दिया। नगर पालिका अध्यक्ष दिनेश टण्डन ने गतवर्ष से बेहतर व्यवस्था इस वर्ष देने का आश्वासन दिया। पुलिस अधीक्षक भारत सिंह यादव ने समिति के सदस्यों से अनुरोध किया कि कही भी किसी प्रकार की सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस/जिला प्रशासन को उपलब्ध करायें ताकि तत्काल मौके पर कार्यवाही की जा सके। जिलाधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी ने समिति के सदस्यों द्वारा उठाये गये समस्यों को तत्काल निदान कराने का आश्वासन दिया। जिलाधिकारी ने अधिकारियों की अलग से बैठक किया जिसमें सभी उपजिलाधिकारियों/पुलिस क्षेत्राधिकारियों/ई0ओ0 नगर पालिका संजय शुक्ला, अधिशासी अभियन्ता विद्युत, आर0डब्लू पौल, ए0सी0 सोनौदिया को अपने विभाग से सम्बन्धित सभी समस्यों को निराकरण समय से करने का निर्देश दिया तथा त्योहार रजिस्टर के अनुसार पुलिस एवं प्रशासन की व्यवस्था तैनात करके हर हालत में सकुशल त्योहार सम्पन्न कराये। इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही/शिथिलता क्षम्य नही होगी। पुलिस कैमरे के साथ सभी संवेदनशील स्थानों पर तैनात रहेगी। पुलिस/मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित कर ले कि उनके क्षेत्र में सभी सुअरबाड़े बन्द करने की नोटिस तामील कर दी गयी है तथा यह भी सुनिश्चित कर लिया गया है कि किसी भी दशा में सड़को पर सूअर न आने पाये। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शारदा दिनेश चौधरी, मुख्य विकास अधिकारी पी0सी0 श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 दिनेश यादव, अपर पुलिस अधीक्षक, नगर रामजी सिंह यादव, उपजिलाधिकारी सदर आर0के0 पटेल, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर अभिषेक सिंह सहित अधिकारीगण एवं सम्मानित व्यक्त उपस्थित रहे।  

पीयू में कांफ्रेसिंग मंगलवार को

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के संकायाभवन के सभागार में मंगलवार को इनोवोटिव प्रैक्टिस आॅफ चाणक्या एवं डिजिटल यूनिवर्सिटी पर वीडियो कान्फ्रेसिंग द्वारा प्रस्तुतिकरण होगा। चाणक्य परीक्षा के सम्बन्ध में एक अत्याधुनिक साफ्टवेयर है। वहीं विश्वविद्यालय प्रशासन के लिए ई-गर्वनेंस के संबंध में डिजिटल यूनिवर्सिटी साफ्टवेयर है। सभागार में वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए डा. अतुल वाडेगाउनकर वरिष्ठ महाप्रबंधक महाराष्ट्र नाॅलेज कार्पोरेशन पुणे डिजिटल यूनिवर्सिटी एवं श्रीमती नंदिता तकनीकी निदेशक एनआईसी बिहार चाणक्या पर अपनी बात रखेंगी। जनसम्पर्क समिति के सदस्य डा. दिग्विजय सिंह राठौर ने बताया कि  इस वीडियो कान्फ्रेसिंग में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पीयूष रंजन अग्रवाल समेत समस्त अधिकारी, शिक्षक कांफ्रेसिंग में भाग लेंगे। वीडियो कान्फ्रेसिंग के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गयी है।

गणपति बप्पा मोरय्या के मण्डप में हुआ भव्य जागरण का आयोजन

जौनपुर। श्री गणपति युवा संघ द्वारा केराकत तहसील के सामने स्थापित गणेश प्रतिमा के पण्डाल में भजन संध्या व झांकी जागरण का आयोजन हुआ जहां इलाहाबाद के नीतिन एण्ड ग्रुप के कलाकारों ने एक से बढ़कर एक झांकी प्रस्तुति करके लोगों को भाव-विभोर कर दिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अजय चौबे प्रदेश उप प्रमुख शिवसेना एवं विशिष्ट अतिथि सम्पादक रामजी जायसवाल थे जिन्होंने कलाकारों को चुनरी ओढ़ाकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। झांकी ग्रुप के संचालक नीतिन दीक्षित ने गणेश वंदना से कार्यक्रम शुरू किया जिसके बाद नीतिन नारायण ने हनुमान जी पर झांकी प्रस्तुत करके लोगों को खूब नचाया। नवोदित कलाकार मून सुरी ने ‘सत्यम् शिवम् सुन्दरम्’ की प्रस्तुति पर सभी को मंत्र-मुग्ध कर दिया जिसके बाद प्रिया ने ‘मानो तो मैं गंगा मां हूं, और ‘महिषासुर वध’ प्रस्तुत करके लोगों को भाव-विभोर कर दिया। इसी क्रम में पवन एण्ड साथी ने ‘होली खेले मशाने में’ की प्रस्तुति देकर लोगों को खूब हंसाया। कार्यक्रम का संचालन सुशील वर्मा एडवोकेट एवं आगंतुकों का स्वागत संस्थाध्यक्ष संतोष शर्मा ने किया। अन्त में समाजसेवी राजेश साहू ने समस्त आगंतुकों व सहयोगियों के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में संस्था के मनीष गिरि, आलोक कमलापुरी, जितेन्द्र कमलापुरी, शैलेश सेठ, अरूण कन्नौजिया, नितेश कसौधन, साकेत कमलापुरी, रणधीर यादव, रवि सोनकर, सुमित शर्मा, अविनाश गुप्ता, रंजीत गुप्ता, सौरभ कमलापुरी, शशि मिश्रा, रवि मिश्रा, अमितेष कमलापुरी, राजू गुप्ता, राहुल जायसवाल, राकेश पाण्डेय, गोलू जायसवाल, सोनू सेठ, विजय गलाई, अतुल कमलापुरी, मनीष मौर्या, गौरव जायसवाल, रतन जायसवाल, संतोष मोदनवाल, दीपक शर्मा, सौरभ जायसवाल, गणेश गुप्ता, सोनू शर्मा, दीपक पटवा, सतीश सेठ, चंदन सेठ, मुन्नू सेठ, नीतेश सोनकर, मनीष सोनकर के अलावा अन्य लोगों और गणमान्य नागरिकों का विशेष योगदान रहा।