health

Breaking News

पूविवि में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राष्ट्रीय युवा दिवस समारोह आयोजित ,बने चरित्रवान तब होगा देश महानः स्वामी रामदेव 24UPNEWS.COM पर

मान्यता प्राप्त/गैर मान्यता प्राप्त पत्रकार व इलेक्ट्रानिक मीडिया से जुडे पत्रकार अपने-अपने क्षेत्रीय संवादाताओं की डिटेल सुचना कार्यालय में २२ नवंबर तक करे प्रस्तुत

जौनपुर - जिले में 29 नवम्बर एवं 1 दिसम्बर 2017 को नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 सम्पन्न किया जाना है। उक्त नगर निकाय सामान्य निर्वाचन की कवरेज हेतु पत्रकारों को पास की सुविधा अनुमन्य की जायेगी। जिले के मान्यता प्राप्त/गैर मान्यता प्राप्त पत्रकार व इलेक्ट्रानिक मीडिया से जुडे पत्रकार अपने-अपने क्षेत्रीय संवादाताओं के लिए आवेदन पत्र के साथ नवीनतम एक फोटो जिला सूचना अधिकारी कार्यालय में 22 नवम्बर 2017 तक प्रत्येक दशा में जमा कर दे। जिससे पत्रकारों को समाचार कवरेज में किसी प्रकार की असुविधा न हो सके। आवेदन पत्र में इस बात का उल्लेख किया जाना आवश्यक होगा कि प्रार्थी न तो स्वयं न उनका कोई सगा-सम्बन्धी नगर निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 चुनाव लड़ रहा है। बिना आवेदन पत्र के कोई निकाय चुनाव का पास जारी कराया जाना सम्भव नही होगा। 

नैक मूल्यांकन आवश्यकता एवं उपयोगिता विषयक एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

जौनपुर. वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के आंतरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ द्वारा शनिवार को संकाय भवन के कांफ्रेंस हॉल में महाविद्यालयों में नैक मूल्यांकनआवश्यकता एवं उपयोगिता विषयक एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।कार्यशाला में अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने कहा कि महाविद्यालयों के लिए नैक मूल्यांकन जरुरी है । इससे सुधार की प्रेरणा मिलती है और हम अपनी कमियों को दूर करके नई ऊर्जा के साथ तैयारी करते हैं। महाविद्यालयों को इससे डरने की जरुरत नहीं है। उन्होंने कहा कि नैक मूल्यांकन से संस्थान की प्रतिष्ठा भी बढ़ती है और इसमें काम करने वालों का मनोबल बढ़ता है। 
इस अवसर पर मुख़्य अतिथि क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. के के तिवारी ने कहा कि नैक कराने के लिए महाविद्यालय के भौतिक संसाधनों की अपग्रेडिंग जरूरी है। उन्होंने कहा कि यह सतत प्रकिया है । इसी का आकलन नैक मूल्याकंन में होता है।  कहा कि महाविद्यालय शिक्षक शिक्षण के लिए परंपरागत ढंग से जगह आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करें। साथ ही रिसर्च को महत्व देने की भी जरूरत है।  उनका मानना है कि शिक्षक की क्लास का काम घर से ही शुरू हो जाता है वह प्लान करके चलता है कि क्लास में कैसे और किस डिवाइस से क्या पढ़ाना है। उन्होंने कहा कि शिक्षक की जवाबदेही समाज के प्रति है इसलिए उसे जागरुक रहने की जरूरत है।
स्वागत सयोंजक डॉ मानस पांडे ने कार्यशाला के विषय पर प्रकाश डाला.इस अगले सत्र में डॉ अविनाश पाथर्डीकर, डॉ राजेश शर्मा  ने नैक की तैयारी कैसे करें विषय पर अपनी बात रखी. महाविद्यालयों से आये शिक्षकों ने भी अपने विचार व्यक्त किये। 
नैक कराने वाले महाविद्यालयों के प्राचार्यों/ आई क्यू ए सी संयोजकों  को विश्वविद्यालय के कुलपति ने सम्मानित किया। जिसमें प्राचार्य डॉ विनोद सिंह, डॉ रमेश मणि त्रिपाठी, डॉ  विजय प्रताप तिवारी, डॉ अरुण कुमार, डॉ चंद्र वर्मा, डॉ भूपेंद्र श्रीवस्तव रहे. 
कार्यक्रम में अतिथियों का किया संचालन सह संयोजक डॉ राजेश शर्मा और धन्यवाद ज्ञापन डॉ धर्मेंद्र सिंह ने किया। इस अवसर पर 
डॉ अजय प्रताप सिंह, डॉ कौशलेन्द्र विक्रम मिश्र, डॉ  डी पी सिंह, डॉ वी डी शर्मा, डॉ अरुण कुमार, डॉ विवेक पांडेय, डॉ मनोज मिश्र, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ सुनील कुमार, डॉ राम आसरे शर्मा, डॉ नीलेश कुमार पांडेय, डॉ प्रवीण कुमार, डॉ राम जी पाठक समेत तमाम शिक्षक मौजूद रहे. 

D.M. ने किया जौनपुर सरकारी स्कूलों का किया रीयल्टी चेक ,शिक्षा की गुणवत्ता देख बिफरे , चार अध्यापकों का वेतन रोकने का दिया आदेश

जौनपुर - जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी डा. राजेन्द्र प्रसाद सिंह, सिरकोनी विकास खण्ड के अभिनव प्राथमिक विद्यालय गहोरा का आकस्मिक निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने बच्चों से शिक्षा की गुणवत्ता की जानकारी प्राप्त किया। विद्यालय में कुल 181 छात्र पंजीकृत है जिसमें 161 छात्र उपस्थित रहे। प्रधानाध्यापक निशा सिंह, सहायक अध्यापक मीरा यादव, कमला, विमला उपस्थित रहे। जिलाधिकारी ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार और करने के निर्देश दिये तथा अभिभावकों के साथ बैठककर बच्चों की शिक्षा के बारे में जानकारी देने का निर्देश दिया। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि बच्चों में वितरण करने के लिए जुते आ गये है अभी मोजे नही प्राप्त हुए है। बैग का वितरण किया गया है। जिलाधिकारी ने बच्चों के भोजन बनाने वाली रसोइयों से भी जानकारी प्राप्त किया। इस अवसर पर खण्ड शिक्षाधिकारी सिरकोनी राजेश उपस्थित रहे। 
इसके बाद जिलाधिकारी ने जूनियर हाईस्कुल पाली विकास खण्ड मड़ियाहॅू का आकस्मिक निरीक्षण किया। जिसमें 40 छात्र तीनों कक्षाओं में पंजीकृत थे जिसमें मौके पर 11 छात्र एक ही कक्ष में श्रीमती मीरा रजक द्वारा पढ़ाया जा रहा था। शिक्षा का स्तर अत्यन्त निकृष्ट श्रेणी का पाया गया। बच्चों को सामान्य ज्ञान तथा पुस्तक को पढ़ना भी नही आ रहा था। जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी प्रधानाध्यापक विजय शंकर, सहायक अध्यापक गिरजा शंकर पटेल, श्रीमती मीरा रजक, प्रदीप कुमार सिंह का अग्रिम आदेश तक वेतन रोकने का निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिया। अध्यापकों के मांग पर एक माह में शिक्षा गुणवत्ता में सुधार बच्चों में लाने पर बीएसए द्वारा पैनल बनाकर एक माह में जांच रिपोर्ट के आधार पर विधिक कार्यवाही की जायेगी। 

D.M. ने पीसीएफ धान क्रय केन्द्र का किया निरीक्षण

जौनपुर - जिलाधिकारी ने डिप्टी आरएमओ रविन्द्र कुमार श्रीवास्तव, एआर कोआपरेटिव गणेश गुप्ता के साथ पीसीएफ धान क्रय केन्द्र पाली साधन सहकारी समिति का निरीक्षण किया। चन्द्रप्रताप सिंह सचिव द्वारा 5.40 मीट्रिक टन धान लक्ष्य के सापेक्ष अबतक 104 कुन्तल धान खरीदने पर नाराजगी व्यक्त किया। सन्तलाल पटेल ददरा 32 कुन्तल, अमर बहादुर यादव जमुनी 28 कुन्तल, रामपति यादव 44 कन्तुल, ओमप्रकाश द्वारा 23 कुन्तल धान क्रय किया गया। केन्द्र पर नमी मापक यन्त्र एवं पानी पीने की व्यवस्था मानक के अनुसार नही थी। जिलाधिकारी ने चारो किसानों के 6-आर, मण्डी शुल्क की रसीद, क्रय की रसीद आदि का भी निरीक्षण किया। केन्द्र पर 15 सौ बोरे उपलब्ध पाये गये। आर.टी.जी.एस. द्वारा किसानों के खाते में धान क्रय का पैसा भेजा जा रहा है। सचिव द्वारा बताया गया कि 2 लाख रुपये ही प्राप्त हुए थे जो किसानों को भुगतान करने के कारण धन समाप्त है। जिससे धान क्रय करने में परेशानी हो रही है। पी.सी.एफ केन्द्रों पर 7500 रुपये नही उपलब्ध कराने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त किया तथा पीसीएफ के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने का निर्देश डिप्टी आरएमओ रविन्द्र कुमार श्रीवास्तव को दिया।  
  जिलाधिकारी ने खाद्य विभाग द्वारा संचालित धान क्रय केन्द्र मड़ियाहॅू का आकस्मिक निरीक्षण किया। मार्केटिंग इस्पेक्टर आलोक कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि श्याम पाल 10 कुन्तल, जोखन दुबे 22 कुन्तल, अच्छेलाल द्वारा 11 कुन्तल धान क्रय किया गया है। 11 लाख 5 सौ रुपये प्राप्त हुआ है। आरटीजीएस के माध्यम से किसानों के बैंक खाते में भेजा जा रहा है। वही पीसीएफ द्वारा धान क्रय केन्द्र के सचिव अशोक कुमार सिंह द्वारा अभी तक धान की खरीद न करने पर नाराजगी व्यक्त किया। जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी मड़ियाहॅू जगदंबा सिंह को तीन दिन के भीतर सभी क्रय केन्द्रों की निरीक्षण कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया। 

जिला मजिस्टेªट ने मतगणना स्थल एवं स्ट्रांग रुम का किया निरीक्षण

जौनपुर - जिलाधिकारी ने नगर निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 को सकुशल, शान्तिपूण, निष्पक्ष सम्पन्न कराने के लिए आज विवेकानन्द इण्टर कालेज मड़ियाहॅू मतगणना स्थल एवं स्ट्रांग रुम का निरीक्षण उपजिलाधिकारी जगदंबा सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी रामभवन यादव के साथ किया तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।   

कार्यशाला के दूसरे दिन ग्रुप डिस्कशन एवं साक्षात्कार के गुर सिखाए गए।

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट सेल द्वारा संगोष्ठी भवन में छात्रों में रोजगार दक्षता के विकास के लिए आयोजित कार्यशाला के दूसरे दिन ग्रुप डिस्कशन एवं साक्षात्कार के गुर सिखाए गए।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ राजाराम यादव ने कहा कि इस प्रशिक्षण में जो भी विद्यार्थी आए हैं वह प्रशिक्षकों द्वारा बताई गई बातों को अपनाएं और उसके अनुरुप अपने को तैयार करें।
केंद्रीय प्लेसमेंट सेल के अध्यक्ष प्रोफेसर रंजना प्रकाश ने कहा कि यह प्रशिक्षण विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास में सहायक होगा। आने वाले समय में विश्वविद्यालय के  विद्यार्थियों के लिए  इस तरह के और भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।विशिष्ठ अतिथि डॉ  के के तिवारी रहे।
कार्यशाला के दूसरे दिन विशेषज्ञ मोक्षदा सिंह, निवेदिता सिंह एवं मुख्य ट्रेनर अंकित सिंह ने विद्यार्थियों का ग्रुप बनाकर माक ग्रुप डिस्कशन एवं साक्षात्कार कराया और उन्होंने इसकी बारीकियों से अवगत कराया। साक्षात्कार एवं ग्रुप डिस्कशन का वास्तविक  माहौल तैयार करा कर  विद्यार्थियों को ट्रेनिंग दी गई। प्रशिक्षकों ने कहा कि हमें कंपनी की जरूरतों को ध्यान में रखकर आज अपने को तैयार करने की जरूरत है। इंजीनियरिंग संकाय की शिक्षिका वंदना सिंह ने भी प्रशिक्षण दिया।इस अवसर पर प्रोफेसर बीबी तिवारी, डॉ अविनाश पाथर्डीकर, डॉ रसिकेस, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ सुनील कुमार, श्याम त्रिपाठी समेत विभिन्न विभागों के विद्यार्थी मौजूद रहे।

डाक पहुंचा नहीं मगर स्पीड पोस्ट की टैªक वेबसाइट पर है लोड

जौनपुर। जनपद का डाक विभाग अपनी कारस्तानियों को लेकर आये दिन चर्चा में रहता है। कभी किसी का महत्वपूर्ण पत्र नहीं पहुंचता तो कभी किसी का काल लेटर। डाक विभाग में लापरवाह कर्मचारियों की भरमार है जो कुर्सी पर बैठकर अंगड़ाई लेते हैं लेकिन काम करना नहीं चाहते हैं। एक तो वैसे ही लोग डाक के जरिये कुछ भेजने मंे परहेज करते हैं। जब कभी सरकारी पत्र, कार्ड, काल लेटर आते हैं तो उन्हें डिलवरी ही नहीं की जाती है, बल्कि उसकी झूठी रिपोर्ट स्पीड पोस्ट की ट्रैक वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाती है। जब इसकी जानकारी प्राप्तकर्ता को यह मिलती है तो उसका माथा ही घूम जाता है। जी हां, कुछ ऐसा ही मामला है कचहरी पोस्ट ऑफिस में। यहां पर प्रार्थी वैभव जायसवाल निवासी नखास पहुंचकर बताया कि उसका पैन कार्ड 9 अक्टूबर को मुम्बई से जौनपुर के लिये स्पीड पोस्ट हुआ। 13 अक्टूबर को कचहरी ब्रांच पर घ्रिसीव भी हो गया। मजे की बात तो यह है कि उसी दिन डिलवरी भी कर दी गयी लेकिन अभी तक नहीं मिला। पीड़ित ने बताया कि पैन कार्ड के लिये उसका कई काम रूका हुआ है। इसके लिये वह पोस्ट ऑफिस का चक्कर लगा रहा है लेकिन पोस्टमैन से मिलने की बात कहकर पोस्ट आफिस में तैनात कर्मचारी अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। फिलहाल यह कोई नयी बात नहीं है, क्योंकि पोस्ट ऑफिस ऐसे ही कारनामों के लिये मशहूर है।