health

Breaking News

जौनपुर की इत्र,इमरती व् ईमानदारी की दी जाती है मिसाल-सीएम योगी 24UPNEWS.COM पर

चुनाव आयोग ने किया लोकसभा चुनाव की तारीख का ऐलान, सात चरणों मे होगा चुनाव और 23 मई को होगी मतगणना,सभी पार्टियों ने कसी कमर

नई दिल्ली-आज इलेक्शन कमीशन  ने लोकसभा और इसके साथ होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों का आज ऐलान किया जा रहा है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि लोकसभा चुनाव 7 चरणों में कराया जाएगा। लोकसभा चुनाव के लिए रविवार को तारीखों का ऐलान हो गया है। इस बार लोकसभा चुनाव 7 चरणों में होंगे। 11 अप्रैल, 18 अप्रैल, 23 अप्रैल, 29 अप्रैल, 6 मई, 12 मई और 19 मई को वोटिंग होगी। 23 मई को नतीजे आएंगे। तीन जून तक नई लोकसभा का गठन हो जाएगा। । अरोड़ा ने बताया कि इस बार लोकसभा चुनाव में कुल 90 करोड़ वोटर होंगे। इनमें 8.4 करोड़ नए मतदाता शामिल हैं। कुल वोटर में से 99.3 के पास वोटर आईडी है। 1.5 करोड़ वोटर 18-19 साल की उम्र के हैं। लोकसभा चुनाव के लिए आज से देशभर में आचार संहिता लागू हो गई है। चुनाव आयुक्त ने बताया, पिछली बार 9 लाख मतदान केंद्र थे, इस बार 10 लाख पोलिंग बूथ होंगे। लोकसभा चुनाव के लिए हेल्पलाइन नंबर-1950 होगा। सभी चुनाव अधिकारियों की गाड़ी में जीपीएस होगा। मोबाइल पर ऐप के जरिए भी आयोग को आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दी जा सकती है और 100 मिनट के भीतर हमारे अधिकारी को इस पर एक्शन लेना ही होगा। शिकायतकर्ता की निजता का ख्याल रखा जाएगा।

मनबढ़ों ने पल्स पोलियो अभियान में डाली खलल

जौनपुर। पल्स पोलियो कार्यक्रम को घण्टों बाधित किये कुछ मनबढ़ नवयुवक। जब पोलियो पिला रही महिला ने पुलिस को बुलाया तो वह भाग निकले। बता दें कि महराजगंज के अंगराह गांव के सरकारी मीडिल स्कूल में पल्स पोलियो कार्यक्रम रविवार को हुआ। केन्द्र पर तैनात रहकर सम्बन्धित लोगों द्वारा बच्चों को पोलियो की दवा पिलानी थी। सुबह महिला कर्मी अपने सहयोगियों के साथ दवा पिलाने उक्त स्थल पर पहुंची तो वहांॉ4-5 युवक व कई किशोर क्रिकेट खेल रहे थे। खेल के दौरान गेंद आने से भयभीत पोलियो कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने विरोध किया तो बनबढ़ लोग गाली-गलौज करते हुये जानमाल की धमकी देने लगे। मामला बढ़ता देख महिला कर्मी ने पुलिस को सूचना दिया जिस पर पुलिस के पहुंचने पर सब मनबढ़ लोग मौके से फरार हो गये। मनबढ़ों के आतंक व मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा पूछताद से पोलियो कार्यक्रम घण्टों बाधित रहा।

खुटहन पुलिस ने 10 हजार के ईनामी सहित 4 वांछितों को किया गिरफ्तार

जौनपुर। आरक्षी अधीक्षक आशीष तिवारी के निर्देशन में अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में खुटहन पुलिस ने धारा 382 व धारा 457/380 भादंवि के सफल अनावरण हेतु उपनिरीक्षक संतराम यादव व उपनिरीक्षक नकी हैदर ने छोटक उर्फ छोटू पुत्र कुन्नी कुरैशी सहित 4 को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी के दौरान उनके कब्जे से चोरी गये रूपयों में से कुल 5 हजार रूपया बरामद किया। पुलिस के अनुसार छोटक उर्फ छोटू धारा 3 (1) उत्तर प्रदेश गैंगेस्टर अधिनियम का वांछित अभियुक्त है जिसकी गिरफ्तारी हेतु आरक्षी अधीक्षक द्वारा उस पर 10 हजार रूपये का नकद पुरस्कार घोषित है। छोटक के साथ पकड़े गये लोगों में उमेश उर्फ करिया कश्यप पुत्र कन्हैया लाल निवासी बड़नपुर थाना खुटहन, रामफेर हरिजन पुत्र परसादी निवासी टिकरी खुर्द थाना खेतासराय व अरूण उर्फ बिहारी उपाध्याय पुत्र स्व. प्रज्ज्वलित उपाध्याय निवासी बड़नपुर थाना खुटहन है।

बाबा कीनाराम अघोर शोध सेवा संस्थान ने लगाया निःशुल्क चिकित्सा शिविर

जौनपुर। बाबा कीनाराम अघोर शोध सेवा संस्थान क्री कुण्ड वाराणसी की जनपद शाखा द्वारा रविवार को जूनियर हाईस्कूल जगदीशपुर में नेत्र शिविर का आयोजन हुआ। उक्त शिविर में 200 लोगों के आंखों की जांच हुई जिसमें से 40 लोगों को मोतियाबिन्द आपरेशन के लिये चिन्हित किया गया। शिविर में मरीजों को दवा देने के साथ ही निःशुल्क जांच करते हुये उचित परामर्श भी दिया गया। इस दौरान बताया गया कि चिंहित मरीजों का आपरेशन 11 व 12 मार्च को लीलावती अस्पताल में किया जायेगा। शिविर में रणजीत सिंह, दरोगा सिंह, शुभांश सोनकर, रमेश मिश्र, अवधेश तिवारी, राजेन्द्र मिश्र, शोले, रोहित, रोविन, कीर्तिका, मीनाक्षी, सौरभ, धुरन्धर सिंह, सिद्धार्थ, संजय सिंह, राकेश श्रीवास्तव, अरूण सिंह, अजय पाण्डेय सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

घूसखोर लेखपाल का वीडियो वॉयरल,मीडिया के हस्तक्षेप के बाद लेखपाल हुआ निलंबित कर जांच टीम गठित

जौनपुर-जिले के मड़ियाहूं तहसील में भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना किसान सम्मान निधि का धन किसानों को देने के लिए लेखपालों द्वारा धन उगाही करने का कारनामा नहीं रुक पा रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भी भ्रष्टाचार को रोकने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे हैं लेकिन उनके शासनकाल में उनके ही कर्मचारी योजनाओं का पलीता लगाने से बाज नहीं आ रहे हैं।मड़ियाहूं तहसील के गांवों में लेखपाल किसानों को 2000 दिलाने के नाम पर 100 रूपए से लेकर 200 रूपए तक किसानों से ले रहे है। कोई किसान अगर विरोध करता है तो अपनी मुंह बंद कर लेते हैं। लेकिन किसानों को खाते में 2000 रुपए नहीं आने की धमकीं भी दे देते। भोला भाला किसान 200 देकर अपना सम्मान निधि पाने के लिए चुप बैठता है।मड़ियाहूं तहसील के ठाठर गांव के लेखपाल के घुसखोरी का वायरल वीडियो सबूत के तौर पर अधिकारियों के लिए शायद काफी होगा। वीडियो वायरल होने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सका जो हास्यास्पद के सिवा कुछ नहीं है। लेखपाल भी अपनी फोन को बंद कर माद में जा छिपा है।प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के जरिये दो हजार रुपये की पहली किस्त किसानों के खाते में जा रहा है। किन्तु इस प्रकिया से गुजरने के लिये किसानों को हल्का लेखपालों के पास जाना पड़ रहा है और लेखपाल धड़ल्ले के साथ किसानों से पैसा वसूली करने से बाज नहीं आ रहे है। वीडियो वायरल होने के बाद भी तहसील प्रशासन मूकदर्शक बनी हुई हैं।बीते दिनों ग्राम सभा ठाठर की दलित बस्ती में वहाँ का हल्का लेखपाल मन्सूर बेग ने हर कास्तकार से किसान सम्मान निधि का धन खाते में डालने के लिये दो-दो सौ रुपये वसूली किया है।स्थानीय ग्रामीणों ने पैसा लेते हुये हल्का लेखपाल का वीडियो भी बनाया और वायरल कर दिया है। मड़ियाहूं तहसील में अगर लेखपालों की कारगुजारी की जांच की जाए तो कमोवेश हर क्षेत्रों में लेखपालों ने पैसा लेकर ही किसानों के खाते में सम्मान निधि का पैसा भेजा है। कुछ ऐसा ही मामला महमूदपुर बड़ेरी और अन्य गाँवों में पैसा मांगने की सीडी बनाकर तत्कालीन उपजिलाधिकारी मड़ियाहूं मोती लाल यादव को दिया गया था पर कोई कार्यवाही नही हुई। जबकि इस कार्य में सिर्फ पासबुक और आधार कार्ड की छायाप्रति उपलब्ध कराना था। कास्तकारी का रिकार्ड भूलेख खतौनी तो लेखपाल के पास ही रहता है। इतना ही नही शिकायत है कि कुछ गांवों में वर्तमान ग्रामप्रधान के प्रभाव में आकर लेखपाल उनके विरोधियों के खाते में धन नहीं भेजा है। जो आज भी तहसील का चक्कर लगा रहे हैं। ठाठर गांव की वायरल वीडियो में गांव की जड़ावती, धर्मा देवी राजेश ने भी स्वीकार किया है कि लेखपाल बिना 200 लिए सम्मान निधि का धन नहीं दिया है। इस संबंध में उपजिलाधिकारी मड़ियाहूं चन्द्रशेखर ने कहा कि अगर कोई तहरीर देता है तो लेखपाल के विरुद्ध कार्रवाई होगा। बता दें उसी गांव के ही राजू गौतम ने शुक्रवार को लेखपाल की घूसखोरी की तहरीर दिया है। ऐसा लगता है एसडीएम महोदय ने कूड़े के ढेर में फेंक दिया है और तहरीर का पुनः इंतजार कर रहे हैं। सरकार की महत्वाकांक्षी योजना को साकार रूप देने में जिस प्रकार मड़ियाहूं तहसील के लेखपाल बंटाधार कर रहे हैं सरकार को बदनाम करने की पूरी कोशिश है। भाजपा पार्टी के जिला सरकारी योजना प्रमुख जनपद जौनपुर के शमशेर सिंह ने कहा है कि यह भारत देश का किसानों के लिए सबसे बड़ी योजना है अगर इसमें लेखपाल भ्रष्टाचार करते हुए पाया जा रहा है तो मैं इसको निलंबित करवा कर ही दम लूंगा।

सरकार ने मांगी शिक्षक संघ की बात,सशर्त मानी सरकार ने शिक्षकों की शर्तें,मूल्यांकन कार्य बहिष्कार वापस-रमेश सिंह

लखनऊ। उ.प्र. माध्यमिक शिक्षक संघ के आह्वाहन पर 'मूल्यांकन बन्द" आन्दोलन दूसरे दिन भी सफलता पूर्वक चलता रहा। विभिन्न मूल्यांकन केन्द्रों पर शिक्षकों की उपस्थिति तो जोर-दार रही, लेकिन शिक्षक सिर्फ नारे-बाजी करते रहें और कापियों का मूल्यांकन करने से इंकार कर दिये। दोपहर बाद इस संघर्ष की जीत हो गयी और सरकार ने शिक्षक संघ की मांग को मान लिया।
प्रांतीय उपाध्यक्ष रमेश सिंह ने बताया कि संघ द्वारा जारी संघर्षों की जीत हुई।  उपमुख्यमंत्री से संघ की वार्ता हुई जिसमें यह निर्णय हुआ कि वित्तविहीन शिक्षकों की सेवानियमावली तैयार हो गयी है जिसे जल्द ही जारी किया जाएगा। साथ ही उपमुख्यमंत्री ने कहा है कि वित्तविहीन शिक्षकों को 15 हजार रुपये मानदेय मिलेगा, पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए उच्च स्तरीय समिति का गठन होगा। साथ ही चिकित्सा सेवा के लिए भी सरकार ने आश्वासन दिया। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया है कि तदर्थ शिक्षकों के विनयमितीकरण बिना बाधा के किया जाएगा, मूल्यांकन पारिश्रमिक से वृद्धि की जाएगी, कोई भी तदर्थ शिक्षक किसी भी दशा में हटाया नहीं जाएगा। ऐसे में शिक्षक संघ मूल्यांकन बहिष्कार वापस लेता है।
इस मौके पर प्रांतीय मंत्री डा. राकेश सिंह, जिलाध्यक्ष सरोज सिंह, जिलामंत्री तेरस यादव, पूर्व मण्डलीय मंत्री डा. प्रमोद श्रीवास्तव, दिनेश चक्रवर्ती, धनन्जय सिंह, विनय कुमार सिंह, हितेन्द्र श्रीवास्तव, अतुल सिंह मुन्ना, अरविन्द सिंह सिरसी, विजय बहादुर यादव, बिन्द्रा प्रसाद यादव, सत्य प्रकाश मिश्रा, जय प्रकाश सिंह, नारा गुरु , अशोक कुमार, दिलीप सिंह, सुनील कुमार सिंह, हसन सईद, पूर्व अध्यक्ष नरसिंह बहादुर सिंह, अजय प्रकाश सिंह, समर बहादुर सिंह, पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह, प्रमोद सिंह, दयाशंकर यादव आदि सैकड़ों शिक्षकों ने मूल्यांकन बंद कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

एसपी ने 11 थाना प्रभारियों को किया इधर से उधर,अजीत को सिंगरामऊ शशिचन्द्र को सरपतहां तो श्रीप्रकाश को सिटी कोतवाली की सौपी गयी कमान

जौनपुर- आज शाम होते होते एसपी ने तीसरी लिस्ट जारी की जिसमे 11 थाना प्रभारियों को किया गया इधर से उधर किया गया जानिए कौन कहाँ से कहाँ को गया-
उ0नि0अजित कुमार सिंह प्रभारी स्वाट प्रभारी थानाध्यक्ष सिंगरामऊ,
शशिचन्द्र चौधरी प्रभारी साइबर सेल थानाध्यक्ष सरपतहां,
संजीव कुमार सिंह प्र0चौकी शिकारपुर से थानाध्यक्ष सिकरारा,
बालेन्द्र यादव मीडिया सेल आए थानाध्यक्ष मीरगंज,
दुर्गेश्वर मिश्रा प्र0नि0 सिंगरामऊ प्र0नि0खुटहन,
त्रिवेणी लाल सेन पुलिस लाइंस प्र0नि0महराजगंज,
विनय प्रकाश सिंह प्र0नि0 कोतवाली से प्र0नि0 जलालपुर,
भैया शिव प्रसाद सिंह प्र0नि0 खुटहन से प्र0नि0सुरेरी,
विजय कुमार चौरसिया पुलिस लाइंस से प्र0नि0 गौरबादशाहपुर,
श्री प्रकाश गुप्ता पुलिस लाइंस से प्र0नि0 सिटी कोतवाली,
सन्तोष पाठक प्रभारी चौकी पराऊगंज थाना जलालपुर से थानाध्यक्ष सुजानगंज,